Homeराज्यचण्डीगढ़20 में से केवल 7 प्रदेशाध्यक्षों का कार्यकाल पूरा, अब उदयभानु से...

20 में से केवल 7 प्रदेशाध्यक्षों का कार्यकाल पूरा, अब उदयभानु से उम्मीद

आज समाज डिजिटल, अंबाला:
हरियाणा में कांग्रेस (आई) के केवल 7 प्रदेशाध्यक्ष ही अपना कार्यकाल पूरा कर पाए। जबकि 13 लोगों को बीच में ही पद छोड़ना पड़ा। हालात बेशक कुछ भी रहे हों। अब कांग्रेसजनों के साथ-साथ आम आदमी को भी उदयभानु से उम्मीद है। यदि बात करें लंबे कार्यकाल की तो ये रिकॉर्ड फूलचंद मुलाना को जाता है। वह साढ़े छह साल अध्यक्ष रहे। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष का सबसे छोटा कार्यकाल पंडित भगवत दयाल शर्मा का था। वह केवल तीन महीने इस पद पर रहे।

सैलजा थीं पहली महिला प्रदेशाध्यक्ष

shelja1
shelja1

कांग्रेस पार्टी के 56 वर्ष में उदयभान 21वें प्रदेशाध्यक्ष बने हैं। इन 21 अध्यक्ष में केवल एक बार महिला को प्रदेशाध्यक्ष बनने का मौका मिला। 20वीं अध्यक्ष कुमारी सैलजा अपना तीन साल का कार्यकाल पूरा नहीं कर सकीं। चौधरी बीरेंद्र सिंह, सरदार हरपाल सिंह, चौधरी सुलतान सिंह दो-दो बार प्रदेशाध्यक्ष रहे। धर्मपाल मलिक, राव निहाल सिंह करीब पांच साल, चौधरी भजनलाल करीब चार साल अध्यक्ष के पद पर काबिज रहे। कुमारी सैलजा के पिता भी कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष के पद पर अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सके थे।

तीन प्रदेशाध्यक्षों को मिला सीएम बनने का सौभाग्य

कांग्रेस के अब तक के 21 प्रदेशाध्यक्षों में से तीन प्रदेश के मुख्यमंत्री भी बने, जिनमें सबसे पहले पंडित भगवत दयाल शर्मा सीएम बने। उसके बाद चौधरी भजनलाल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। अब सबसे अंतिम सीएम के रूप में चौधरी भूपेंद्र सिंह हुड्डा को ये रुतबा हासिल हुआ।

तीन साल में बदले पांच प्रदेशाध्यक्ष

वर्ष 1977 से 1980 के तीन साल के कार्यकाल में पांच बार कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष बदले। सबसे लंबे समय तक लगातार प्रदेशाध्यक्ष बने रहने वाले व्यक्ति फूलचंद मुलाना हैं। वह लगातार साढ़े छह साल तक प्रदेश अध्यक्ष बने रहे। डॉ. अशोक तंवर पांच साल सात महीने प्रदेशाध्यक्ष रहे। भूपेंद्र सिंह हुड्डा पांच साल पांच महीने अध्यक्ष बने। बता दें कांग्रेस के संविधान के अनुसार प्रदेशाध्यक्ष पद का कार्यकाल तीन साल का है।

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष का कार्यकाल
  • पंडित भगवत दयाल शर्मा 4-8-1966 से 16-11–1966
  • रामकिशन गुप्ता 19-11-1966 से 9-11–1969
  • रामचंद्र मित्तल 2-1-1970 से 10-12–1972
  • राव निहाल सिंह 11-12-1972 से 04-07–1977
  • चौधरी रणबीर सिंह 05-07-1977 से 01-01–1978
  • चौधरी सुलतान सिंह 8-11-1978 से 02-11–1979
  • चौधरी दलबीर सिंह 3-11-1979  से 10–06-1980
  • सरदार हरपाल सिंह 17-09-1980 से 10-06–1982
  • चौधरी सुलतान सिंह 11-06-1982 से 08–10-1985
  • चौधरी बीरेंद्र सिंह 9-10-1985 से 19-04–1986
  • सरदार हरपाल सिंह 14-05-1986 से 07-09–1987
  • बलबीर पाल शाह 08-09-1987 से 06-02–1989
  • शमशेर सिह सुरजेवाला 07-02-1989 से 30-09–1990
  • चौधरी बीरेंद्र सिंह 01-10-1990 से 10-04–1992
  • चौधरी धर्मपाल मलिक 11-04-1992 से 27-02–1997
  • चौधरी भूपेंद्र सिंह हु्ड्डा 29-02-1997 से 31-07–2002
  • चौधरी भजनलाल 01-08-2002 से 02-07–2006
  • चौधरी फूलचंद मुलाना 27-08-2007 से 10-02–2014
  • डॉ. अशोक तंवर 14-02–2014 से 04-09–2019
  • कुमारी सैलजा 04–09-2019 से 27-04–2022
  • उदयभान 27-04-2022 से
एक परिवार से दो बार बने अध्यक्ष

यदि बात करें एक परिवार में से दो सदस्यों के प्रदेशाध्यक्ष बनने की तो ये श्रेय जाता है वर्ष 1977 में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष का पद चौधरी रणबीर सिंह को। 20 साल बाद उनके बेटे भूपेंद्र सिंह हुड्डा प्रदेशाध्यक्ष बने। वर्ष 1979 में चौधरी दलबीर सिंह कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष बने उसके 20 साल बाद उनकी बेटी कुमारी सैलजा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष पद पर काबिज हुई।

ये भी पढ़ें: न्यू बोर्न केयर यूनिट में आग, सातों नवजात सुरक्षित

ये भी पढ़ें: नाबालिका से दुष्कर्म करने का आरोपी गिरफ्तार

ये भी पढ़ें: पर्यावरण को स्वच्छ और सुरक्षित रखना हम सबकी जिम्मेदारी – मदन चौहान

ये भी पढ़ें:  नशा तस्कर ने पुलिस पार्टी पर की फायरिंग, पुलिस मुलाजिमों को गाड़ी से टक्कर मार कर फरार

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular