Homeहरियाणापानीपतसावन कृपाल रूहानी मिशन के 26वें विश्व आध्यात्मिक सम्मेलन का शुभारंभ 

सावन कृपाल रूहानी मिशन के 26वें विश्व आध्यात्मिक सम्मेलन का शुभारंभ 

अनुरेखा लांबरा पानीपत :
सावन कृपाल रूहानी मिशन (कृपाल आश्रम पानीपत) के मीडिया प्रभारी चमन गुलाटी ने जानकारी देते हुए बताया कि 26वें विश्व आध्यात्मिक सम्मेलन की शुरूआत 13 सितंबर से सावन कृपाल रूहानी मिशन और वर्ल्ड काउंसिल ऑफ रिलिजन्स के अध्यक्ष संत राजिन्दर सिंह जी महाराज के पावन सान्निध्य में 26वें विश्व आध्यात्मिक सम्मेलन का आयोजन 13 से 18 सितंबर, 2022 को कृपाल बाग़, संत कृपाल सिंह मार्ग, दिल्ली-9 और 19 से 20 सितंबर, 2022 को संत दर्शन सिंह जी धाम बुराड़ी, दिल्ली में किया जा रहा है। 8 दिन तक चलने वाले इस सम्मेलन में ध्यान-अभ्यास के अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त आध्यात्मिक गुरु परम पूजनीय संत राजिन्दर सिंह जी महाराज के दिव्य प्रवचन सुनने का भी सुअवसर प्राप्त होगा।

58वें रक्तदान शिविर का आयोजन

सावन कृपाल रूहानी मिशन (कृपाल आश्रम पानीपत) के मीडिया प्रभारी चमन गुलाटी ने बताया कि सम्मेलन के उद्घाटन अवसर पर मानवता के कल्याण के लिए 13 सितंबर, 2022 को 58वें रक्तदान शिविर का आयोजन भी कृपाल बाग में ही किया जाएगा। सम्मेलन के प्रातःकालीन सत्र में प्रतिदिन ध्यान-अभ्यास की कार्यशालाएं लगाई जाएंगी, जिसमें ध्यान-अभ्यास की विधि के अलावा उससे संबंधित सभी पहलुओं के बारे में विस्तारपूर्वक समझाया जाएगा। 13 सितंबर को सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में रूहानी मुशायरा और 14 सितंबर को ‘दर्शन- दिव्य प्रेम और करुणा के मसीहा’ विषय पर सेमिनार व आध्यात्मिक प्रवचनां का आयोजन भी कृपाल बाग़ में ही किया जाएगा।

अंतर्राष्ट्रीय ध्यान-अभ्यास दिवस

26वें विश्व आध्यात्मिक सम्मेलन का समापन सत्र 20 सितंबर, 2022 को संत दर्शन सिंह जी धाम, बुराड़ी में आयोजित किया जाएगा। यहाँ ध्यान देने योग्य बात यह है कि 20 सितंबर जोकि संत राजिन्दर सिंह जी महाराज के जन्मोत्सव का दिन है, पूरे विश्वभर में अंतर्राष्ट्रीय ध्यान-अभ्यास दिवस के रूप में मनाया जाता है। विश्व आध्यात्मिक सम्मेलनों का आयोजन समस्त मानवजाति में अध्यात्म के माध्यम से प्रेम, शांति और मानव एकता का प्रचार-प्रसार करने के लिए किया जाता है। सावन कृपाल रूहानी मिशन (कृपाल आश्रम पानीपत) के मीडिया प्रभारी चमन गुलाटी ने बताया किइस सम्मेलन में भारत के प्रमुख धर्माचार्य के साथ-साथ अनेक धार्मिक नेता सम्मेलन को संबोधित करेंगे। इसके अलावा विश्व के अनेक देशों जिनमें अमेरिका, कनाडा, जर्मनी व इंग्लैंड के विभिन्न प्रतिनिधि विश्व-शांति, भाईचारे व आंतरिक शांति पर अपने विचार प्रकट करेंगे। सम्मेलन में भारत के हजारों लोगों के अलावा विश्व के विभिन्न देशों के लगभग 800 प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं।

ये भी पढ़ें :  अवैध हथियार व जिंदा कारतूस सहित 2 आरोपी गिरफ्तार

ये भी पढ़ें : जहां नारी का सम्मान होता है, वहां ईश्वर का होता है वास : सुनील बिंदल

ये भी पढ़ें : डेंगू से रहे सावधान, हर सप्ताह मनाएं ड्राई डे : डॉ. अशोक कुमार

ये भी पढ़ें : किसी अनजान व्यक्ति से खाने की चीजें ना लें : बाल संरक्षण अधिकारी

ये भी पढ़ें : अमृत योजना के तहत हो रहा विकास ही विकास: पार्षद विजय जैन

 Connect With Us: Twitter Facebook

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular