Homeहरियाणापानीपतअपनी मांगों को लेकर ग्रामीण सफाई कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

अपनी मांगों को लेकर ग्रामीण सफाई कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

नीरज कौशिक, महेंद्रगढ़:

ग्रामीण सफाई कर्मचारी यूनियन हरियाणा की बैठक 21 सितंबर बुधवार को प्रधान जुगेश कुमार की अध्यक्षता में खंड कार्यालय महेंद्रगढ़ में हुई। बैठक में मुख्य वक्ता कामरेड सुभाष चंद्र एडवोकेट महासचिव ग्रामीण सफाई कर्मचारी यूनियन हरियाणा ने कहा कि आज सफाई कर्मचारी गंदगी को साफ करते-करते खुद बीमार हो गए हैं, लेकिन हरियाणा सरकार उनकी मांगों के ऊपर कोई विचार नहीं कर रही है। कर्मचारियों को सफाई के उपकरण भी उपलब्ध नहीं करवाए गए हैं। जिस वजह से आए दिन सफाई कर्मचारी मौत के मुंह में जा रहे हैं।

सरकारी उपकरण कर्मचारियों को उपलब्ध करवाया

जीवन रक्षक उपकरण भी सरकार उपलब्ध नहीं करवा रही है। समय पर वेतन व ईएसआई जो वेतन में 2 साल से लगातार कट रहा है उसका कार्ड भी उपलब्ध नहीं करवा रही है। पीएफ भी मानदेय से कट रहा है लेकिन समय पर पीएफ का कार्ड उपलब्ध नहीं करवा रही है। इसके चलते ग्रामीण सफाई कर्मचारियों में भारी रोष है। उसी रोष के चलते अपनी मांगों को लेकर खंड विकास पंचायत अधिकारी निशा तवर को मांग पत्र प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम सौंपा। मुख्य मांग सफाई कर्मचारियों को न्यूनतम वेतन ₹28000 लागू किया जाए व सरकारी कर्मचारी घोषित किया जाए। सरकारी उपकरण सभी कर्मचारियों को उपलब्ध करवाया जाए।

सफाई कर्मचारियों की मांगों

वेतन हर मास की निश्चित तारीख को दिया जाए। 250 की आबादी पर एक सफाई कर्मचारी नियुक्त किया जाए। महिला कर्मचारियों को मातृत्व लाभ व पुरुष कर्मचारियों को चाइल्ड केयर लीव लागू की जाए। ड्रेस का साल का बजट ₹8000 दिया जाए। सेनेटाइज, साबुन तेल व जोखिम भता उपलब्ध करवाया जाए। श्रम कानूनों में संशोधन वापस लिया जाए। मृतक कर्मचारी की जगह उसके आश्रित को नौकरी लगाया जाए। साल की गजेटेड छुट्टियों के अलावा 45 की दिन की छुट्टियां अलग से लागू की जाए। मनमाने तरीके से सफाई कर्मचारी को हटाने पर रोक लगाई जाए। ईएसआई व पीएफ का पैसा मानदेय से कटता है उसका कार्ड सफाई कर्मचारी को उपलब्ध करवाए जाए। इस बैठक में प्रधान जुगेश कुमार ने कहा कि अगर उनकी मांगे नहीं मानी गई तो प्रत्येक ब्लॉक में धरना प्रदर्शन करते हुए जिला स्तर पर करते हुए चंडीगढ़ विधानसभा पर अपनी मांगों के समर्थन में एक बहुत बड़ा प्रदर्शन ग्रामीण सफाई कर्मचारी यूनियन हरियाणा करेगी।

आंदोलन से ही हक और अधिकार मिलता है

जुगेश कुमार ने कहा हमारे सफाई कर्मचारी नारकीय जीवन जीने पर मजबूर हैं। क्योंकि महंगाई के जमाने में वेतन बहुत कम मिलता है जो मिलता है वह भी बहुत कम मिलता है। जिससे घर का आवश्यक सामान भी खरीद नहीं पाते हैं। बैठक में ग्रामीण सफाई कर्मचारी यूनियन के कोषाध्यक्ष महेंद्र सिंह ने कहा कि जरूरत है आंदोलन की, आंदोलन के बिना सरकार मानने वाली नहीं है जो कुछ अधिकार आज मिले हैं वह सिर्फ आंदोलन के बल पर मिलें हैं, आंदोलन से ही अपने हक और अधिकार ले सकते हैं इसलिए संगठन को मजबूत बनाने का आव्हान किया। बैठक में कृष्ण सचिव, प्रेस सचिव नाजूराम, पवन कुमार नांगल सिरोही, नूरी आदि ने ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा कि आज सफाई कर्मचारी अपने पैसे से सफाई के उपकरण खरीदने पर मजबूर है।

गंदगी का कार्य करते-करते बीमार होने पर ईएसआई कार्ड भी चालू नहीं है जिससे हमारे कर्मचारी रोग से ग्रसित हैं तथा वे अपना ईलाज भी नहीं करवा सकते। अगर समय रहते उनकी नहीं सुनी गई तो वे आंदोलन तेज करेंगे। इस बैठक में सुमन, कृष्णा, स्नेह लता, नूरी देवी, लाली देवी, नीलम, लालचंद, कृष्ण कुमार, हरिराम, पवन कुमार, प्रवीण कुमार, महेश कुमार, समाजिक कार्यकर्ता प्रकाश डालनवास आदि ने अपने विचार रखे और बाद में प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री के नाम एक मांग पत्र बीडीपीओ महेंद्रगढ़ निशा तंवर को सौंपा।

ये भी पढ़ें : ऐसा कार्य करें जिससे लोग हमें 100 वर्षों तक याद रखें: यशपाल शर्मा

ये भी पढ़ें : कॉलेज कांड के बहाने कानसेन बनने का सबक सिखा गए यशपाल शर्मा

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular