HomeहरियाणारोहतकNationwide Strike मांगों के लिए 23-24 फरवरी को राष्टव्यापी हड़ताल

Nationwide Strike मांगों के लिए 23-24 फरवरी को राष्टव्यापी हड़ताल

संजीव कौशिक, रोहतक:

Nationwide Strike केंद्र और राज्य सरकार की कर्मचारी और मजदूर विरोधी नीतियों और पुरानी पेंशन व छंटनी ग्रस्त कर्मचारियों की बहाली, कच्चे कर्मियों को पक्का करने,रिक्त पड़े लाखों पदों को पक्की भर्ती से भरने मांगों को लेकर कर्मचारी 23-24 फरवरी को राष्ट्रव्यापी हड़ताल करेंगे।

सभी विभागों के कर्मचारी होंगे शामिल Nationwide Strike

इस राष्ट्रव्यापी हड़ताल में राज्य के सभी विभागों, बोर्डों, निगमों, विश्वविद्यालयों, नगर निगमों, परिषदों व पालिकाओं के लाखों कर्मचारी शामिल होंगे। यह निर्णय रविवार को सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा की अध्यक्षता में सुखपुरा चौक स्थित प्रादेशिक कार्यलय कर्मचारी भवन में आयोजित राज्य कार्यकारिणी की बैठक में लिया गया। बैठक संचालन महासचिव सतीश सेठी ने किया। बैठक में हड़ताल की तैयारियों को लेकर सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा व विभागीय संगठनों के वरिष्ठ नेताओं के नेतृत्व में सैकड़ों टीमों का गठन किया गया।

16 जनवरी को रोहतक में होगी बैठक Nationwide Strike

प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा व महासचिव सतीश सेठी ने बताया कि राज्य कार्यकारिणी की बैठक में 16 जनवरी को नांदल भवन, रोहतक में राज्यस्तरीय कर्मचारी सम्मेलन आयोजित करने का फैसला लिया गया। उन्होंने बताया कि सम्मेलन में संयुक्त किसान मोर्चा व ट्रेड यूनियन के नेताओं को भी आंमत्रित किया जाएगा। सम्मेलन में केन्द्र एवं राज्य सरकार की कर्मचारी,मजदूर विरोधी नीतियों व नेशनल मुद्रीकरण पाइपलाइन योजना के तहत सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों एवं जन सेवाओं के निजीकरण करने तथा कर्मचारियों की नीतिगत मांगों के प्रति सरकार के रवैए से कार्यकतार्ओं को अवगत कराया जाएगा। जन संपर्क अभियान चलाने की अंतिम योजना बनाई जाएगी।

इन लोगों ने किया मांगों का समर्थन

बैठक में सर्व सम्मति से प्रदेश में चल रही आंगनबाड़ी कर्मियों की हड़ताल का पुरजोर समर्थन किया गया और सरकार को चेतावनी दी गई कि अगर मांगों का समाधान कर हड़ताल समाप्त करवाने की बजाय दमनात्मक कार्रवाई की गई तो राज्य कर्मचारी इसका डटकर विरोध करेंगे।

हड़ताल की मांगें निम्न हैं

राष्ट्रव्यापी हड़ताल की प्रमुख मांगों में एनपीएस रद्द कर पुरानी पेंशन बहाल करने, भ्रष्टाचार एवं शोषण पर आधारित ठेका प्रथा समाप्त करने, अनुबंध टीचर सहित सभी प्रकार के कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, पक्का होने तक समान काम समान वेतन व सेवा सुरक्षा प्रदान करने, सभी प्रकार के छंटनी ग्रस्त और बर्खास्त कर्मचारियों की बहाली व एडजस्टमेंट करने, नेशनल मुद्रीकरण पाइपलाइन योजना के तहत सार्वजनिक परिसंपत्तियों की बिक्री पर रोक लगाने, खाली पड़े लाखों पदों को पक्की भर्ती से भर बेरोजगारों को रोजगार व जनता को बेहतर जन सुविधाएं प्रदान करने, पूंजीपतियों के हकों में श्रम कानूनों को समाप्त कर बनाए गए मजदूर विरोधी लेबर कोड्स, बिजली संशोधन बिल 2021 व नेशनल एजुकेशन पालिसी को रद्द करने, ट्रेड यूनियन, जनवादी एवं मौलिक अधिकारों पर किए जा रहे हमलों पर रोक लगाने, महंगाई पर रोक लगाने, आयकर छूट की सीमा बढ़ाकर दस लाख करना शामिल है।

निम्न पदाधिकारी मीटिंग में मौजूद थे

राज्य कार्यकारिणी की बैठक को सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा व विभागीय संगठनों के सुरेश राठी, नरेश कुमार, जरनैल सिंह, कृष्ण शर्मा, सरबत पूनिया, जयबीर चहल, संदीप सांगवान, बिजेंद्र बेनीवाल,शिव चरण, बिजेंद्र चहल, विजय मलिक,नायब सिंह, महेंद्र सिंह, सुरेन्द्र सिंह, राम गोपाल, अनीता, कृष्ण कुमार, सुमित ऋषि, सुमित्रा,रवि चौहान, जयकुमार दहिया ने संबोधित किया। सभी वक्ताओं ने 23-24 फरवरी की राष्ट्रव्यापी हड़ताल को सफल बनाने के लिए संकल्प लिया और संघनता के साथ जन संपर्क अभियान चलाने का आह्वान किया।

Also Read: करनाल में शादी के पांच दिन बाद दुल्हन ने लगाया फंदा 

SHARE
Mohit Sainihttps://indianews.in/author/mohit-saini/
Humanity Is the Best Religion In The Word
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments