Homeहरियाणामहेंद्रगढ़उद्देश्यों को प्राप्त करने में अहम नाट्य कला, अनिल कौशिक: Maharishi Dayanand...

उद्देश्यों को प्राप्त करने में अहम नाट्य कला, अनिल कौशिक: Maharishi Dayanand University

नीरज कौशिक, महेंद्रगढ़:

Maharishi Dayanand University: नाटय कला किसी भी व्यक्ति में रचनात्मकता व सृजनात्मकता का विकास करने का शक्तिशाली माध्यम है। जीवन की संकल्पना में समाहित तमाम उद्देश्यों को प्राप्त करने में ही नाट्य कला अहम भूमिका रखती है।

Read Also: मंदिर से दानपात्र चोरी का आरोपित गिरफ्तार: Accused Arrested

युवा उत्सव का विधिवत शुभारंभ (Maharishi Dayanand University)

Maharishi Dayanand University
Maharishi Dayanand University

महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में आयोजित विश्वविद्यालय युवा उत्सव में थियेटर विधा के शुभारंभ पर बतौर विशिष्ट अतिथि प्रसिद्ध रंगकर्मी व वाईएचए भारत सरकार के निर्देशक महेंद्रगढ़ निवासी अनिल कौशिक ने आरके सदन रोहतक में कलाकरों को संबोधित करते हुए कही। इस अवसर पर उन्हें विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से सम्मानित भी किया गया। स्मरण रहे कि एमडीयू रोहतक में इंटर जोनल युवा उत्सव का आयोजन 25 से 28 मार्च तक किया गया।

राष्ट्रीय स्तर पर मिलती है पहचान (Maharishi Dayanand University)

विश्वविद्यालय के आरके सदन में आयोजित नाट्य उत्सव का शुभारंभ अनिल कौशिक ने माँ सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया। हरियाणा कलां परिषद् के निर्देशक व राज्य सांस्कृतिक गतिविधियों के निर्देशक रहते कौशिक द्वारा नाट्य कलां को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिए ही उन्हें एआईयू के प्रवीन वशिष्ट ने सम्मानित किया। विश्वविद्यालय के छात्र कल्याण निर्देशक जगबीर राठी ने श्री कौशिक के राज्य में संस्क्तति को बढ़ाव देने के प्रयास की सराहना भी की।

Read Also: डिप्टी सीएम के दौरे की तैयारियां को दिया अंतिम रूप, युवाओं को सौंपी जिम्मेवारी:Jannayak Janata Party

Read Also: हकेवि में सतत विकास जल और बिजली संरक्षण पर वेबिनार आयोजित,पानी की बूंद-बूंद का महत्त्व समझना होगा – रमेश गोयल: Central University HKV

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular