Homeहरियाणाकरनालकरनाल में नगर पालिका कर्मचारी संघ की और से की गई दो...

करनाल में नगर पालिका कर्मचारी संघ की और से की गई दो दिन की हड़ताल

इशिका ठाकुर, Karnal News: करनाल में नगर पालिका कर्मचारी संघ की और से दो दिन की हड़ताल की गई। इसमें 11 नगर निगमों, 21 परिषदों व 58 नगरपालिकाओं के हजारों कर्मचारी शामिल होने पहुंचे हैं। कर्मचारियों ने 19 मांगों को लेकर हड़ताल की हुई है। उन्हाेंने सरकार व विभाग पर वायदा खिलाफी और लंबित मांगें पूरा नहीं करने का आरोप लगाया। इसी कारण 23 मई से 2 दिवसीय टूल डाऊन, पेन डाऊन हड़ताल पर चले गए। इसमें अग्निशमन के कर्मचारी भी शामिल हैं। इस हड़ताल का आह्वान सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा से संबंधित नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा ने किया है।
ये भी पढ़ें : करनाल पकड़े गए आतंकी की गर्लफ्रेंड का पुलिस ने किया खाता सीज, संदिग्ध आतंकी परमिंदर को भी लिया प्रोडक्शन वारंट पर

कर्मचारियों ने 19 मांगों को लेकर की हड़ताल

Two-Day Strike From Municipal Employees Union In Karnal
Two-Day Strike From Municipal Employees Union In Karnal

नगरपालिका प्रदेश सचिव शारदा ने कहा कि दो साल से मांग कर रहे है। इसको लेकर दो साल से सड़क पर हैं। 10 तारीख को बातचीत के लिए बुलाया था। इस दौरान निकाय मंत्री बैठक में बहाना-बाजी लगाकर बीच में चले गए। या तो सरकार को मीटिंग करनी नहीं चाहिए थी। जब कर ली तो उसमें समस्याओं पर चर्चा के बाद समाधान देना चाहिए था। लेकिन मीटिंग से उठकर साफ कर दिया कि नगर पालिका सफाई कर्मचारी संघ अपनी हड़ताल के लिए तैयार रहें। हम भी इससे पीछे नहीं हटेंगे। हमारी मांगों में हमारा कर्मचारी फ्रंट लाइन का कर्मचारी है 50 लाख का बीमा दिया जाए। एक्सग्रेसिया को बहाल किया जाए। पुरानी पेंशन स्कीम का बहाल किया जाए। मेन कच्चे कर्मचारियाें को पक्का करे। साथ ही कौशल राेजगार निगम विभाग का बंद किया जाए। कर्मचारियों की हड़ताल से सफाई व्यवस्था पर पूरा असर पड़ेगा। इस अंदाजा एक मकान से भी लगा सकते हैं। सरकार से अपील है कि वो हमारी राज्य कमेटी को बुलाकर हमारी समस्याओं का समाधान करे।

कच्चे कर्मचारियों को पक्का किये जाने की मांग

Two-Day Strike From Municipal Employees Union In Karnal
Two-Day Strike From Municipal Employees Union In Karnal

नगरपालिका संघ के पूर्व प्रधान सुभाष ने बताया कि फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों की कई मांगे हैं। जो अभी तक सिरे नहीं चढ़ी है। अब दो दिन की हड़ताल पर हैं। कच्चे कर्मचारियों को पक्का किया जाए। जोखिम भत्ता काे दिए जाने की मांग है। कोशल निगम का विरोध करते हैं। करनाल ईकाई में 1200 कर्मचारी हैं। वो शतप्रतिशत हड़ताल पर हैं। प्रदेश के 40 हजार कर्मचारी हड़ताल पर हैं। इस हड़ताल से कामकाज पर पूरा असर पड़ेगा। सरकार से अपील है कि जनता के हित में इस काम को जल्दी से जल्दी निपटाया जाए।

जब तक सरकार कोई फैसला नहीं लेंगी हड़ताल को आगे बढ़ाएंगे

जिला प्रधान फायर ब्रिगेड विजय शर्मा ने बताया कि हम हड़ताल कर रहे हैं। हमारी मांगे बराबर की हैं। अपने-अपने मुद्दों पर हड़ताल किए हैं। ये मुद्दे वर्षों से बने हुए हैं। दो बार मंत्री के साथ सहमति बनी, लेकिन पत्र जारी नहीं किए गए। हम बार-बार मांग को मनवा चुके हैं। सरकार ने सभी मांगों को खत्म करके कौशल मुद्दा बना दिया। हम आंदोलन करके पे-रोल पर आए थे। अब कौशल में बदलकर पूरी उम्मीदें खत्म कर दी। इस दौरान जनहानि की कोई सूचना मिलती है तो हम हड़ताल पर रहते हुए उस काम को करेंगे। उप्रधान फायर ब्रिगेड करनाल कपिल आर्य ने बताया कि सरकार हमें सैक्शन पदों पर बदले। कई-कई सालों से इन पदों पर काम कर रहे हैं। सरकार पर दबाव डालेंगे। जब तक सरकार हमारे हक में कोई फैसला नहीं लेंगी तो इस हड़ताल को आगे बढ़ाएंगे। अनिश्चित कालीन धरना भी शुरू कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें : मानवता जन शक्ति फाउंडेशन ने लगाया निशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular