Homeहरियाणाकरनालकरनाल मंडी के 8 कर्मचारियों पर की गई सख्त कार्रवाई- जिला उपायुक्त

करनाल मंडी के 8 कर्मचारियों पर की गई सख्त कार्रवाई- जिला उपायुक्त

इशिका ठाकुर,करनाल:

करनाल मंडियों में बड़े पैमाने पर धान खरीद घोटाले और गेटपास में गड़बड़ियों का भंडाफोड़ हुआ है। जिले की जुंडला व असंध की मंडियों में धान घोटाले में कार्रवाई के बाद प्रदेश सरकार की ओर से करनाल मंडी के आठ कर्मचारियों पर सख्त कार्रवाई की गई है।

मामले में संलिप्तता पर करनाल मंडी के सुपरवाइजर अश्विनी मेहरा, दीपक त्यागी, जयप्रकाश सहित करनाल से चार आक्शन रिकार्डर सुरेश, प्रदीप श्योराण, प्रदीप मलिक, सोमबीर सहित सचिव-कम-ईओ सुंदर सिंह को निलंबित कर दिया गया है। अब असंध मंडी में भी घोटाले पर जल्द कार्रवाई के आसार हैं। धान उठान के दौरान स्कूटर व कारों के नंबर वाले वाहनों तक के गेट पास काटने में भी बड़ी अनियमितता उजागर हुई थी।

मंडियों का रिकार्ड खंगालने का आदेश: उपायुक्त अनीश यादव

प्रशासन अब राइस मिलर्स और आढ़तियों को शिंकजे में लेने की तैयारी में है। एक माह पहले जुंडला मार्केट मंडी सचिव पवन चोपड़ा और खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के दो कर्मचारियों को निलंबित किया गया था। सरकार किसी भी सूरत में भ्रष्टाचार बर्दाश्त करने के मूड में नहीं है। यही कारण है कि कृषि मंत्री जेपी दलाल के आदेश के बाद जिला उपायुक्त अनीश यादव ने मार्केट मंडी बोर्ड को मंडियों का रिकार्ड खंगालने के आदेश दिए। करनाल मंडी में गड़बड़ियों में मिलीभगत के आरोपित स्टाफ की रिपोर्ट मुख्यालय भेजी गई। पवन चोपड़ा के निलंबन के बाद इंद्री के मंडी सचिव सुंदर सिंह को करनाल का चार्ज दिया गया था।

धान घोटाले में आरोपित मार्केटिंग मंडी बोर्ड सचिव पवन चोपड़ा की गिरफ्तारी के बाद जांच की कड़ियां जोड़ते हुए पुलिस ने खाद्य एवं आपूर्ति विभाग से निलंबित इंस्पेक्टर संदीप व सब-इंस्पेक्टर गौरव पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। जुंडला मंडी में घोटाले के दौरान दोनों पर मिलीभगत का आरोप था। विभाग ने उन्हें तुरंत प्रभाव से पद से हटाते हुए मुख्यालय बुला लिया था। जल्द असंध अनाज मंडी में गड़बड़ियों की कार्रवाई में कर्मचारियों पर गाज गिर सकती है।

उपायुक्त अनीश यादव ने स्पष्ट किया कि किसी भी मंडी में कोताही मिलने पर संबंधित कर्मचारी को बख्शा नहीं जाएगा। धान खरीद व उठान में गड़बड़ी के खेल में कुछ आढ़तियों की मिलीभगत से इंकार नहीं किया जा सकता है। इस संबंध में मंडी विपणन बोर्ड के क्षेत्रीय प्रशासक डा. सुशील कुमार को धान खरीद और उठान संबंधित रिकार्ड जांचने के निर्देश दिए गए थे। उपायुक्त के निर्देश पर जुडला, असंध व करनाल मंडी के बाद घरौंडा की मंडी रडार पर हैं। यहां फसल का गेटपास जारी करने में गड़बड़ियां उजागर हुई हैं। मार्केटिंग बोर्ड जांच अधिकारी मानव मालिक ने टीम के साथ घरौंडा मंडी में जांच की है। विभागीय जांच के दायरे में आढ़त की फर्में के रिकार्ड में अनियमितताएं हैं। यहां छुट्टी वाले दिन भी काफी गेट पास काटे गए हैं। मंडी के कई आढ़तियों के रिकार्ड में भारी गड़बड़ी पाई गई। मामले की अभी और भी कई परते खुलनी नहीं बाकी है।

ये भी पढ़ें : एमबीबीएस छात्रों का धरना प्रदर्शन, जिला सचिवालय परिसर में की नारेबाजी

ये भी पढ़ें : गौड़ कॉलेज में ‘विश्व मधुमेह दिवस’ पर लगा स्वास्थ्य जांच शिविर

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular