Homeहरियाणाकरनालमानसून के दौरान भारी वर्षा से शहर में जल भराव को रोकने...

मानसून के दौरान भारी वर्षा से शहर में जल भराव को रोकने के लिए नगर निगम उपायों पर दे रहा जोर

इशिका ठाकुर, Karnal News : मानसून के दौरान भारी वर्षा से शहर में जल भराव को रोकने के लिए नगर निगम की ओर से कई तरह के उपायों पर जोर दिया जा रहा है। इसी सिलसिले में मंगलवार को अतिरिक्त आयुक्त गौरव कुमार ने सफाई दरौगा, सुपरवाईजर और सफाई कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों के साथ एक मीटिंग कर उनके योगदान को सराहते हुए, जिम्मेदारी दी कि शहर में जल भराव की समस्या से बचने के लिए वे महत्वपूर्ण योगदान दे सकते हैं।

ये भी पढ़ें : महिला सशक्तिकरण, नई शिक्षा नीति नामक शीर्षक पर क्लास रूम एक्टिविटी आयोजित

सफाई कर्मचारी के पास शहर के हर गली-मोहल्ले व नाले-नालियों की जानकारी

उन्होंने कहा कि सफाई दरौगा हो या सुपरवाईजर या सफाई कर्मचारी, उनके पास शहर के हर गली-मोहल्ले व नाले-नालियों की जानकारी है। यह भी मालूम है कि कौन सी नाली चौक होती है और किस मौहल्ले में जल भराव होता है। ऐसे स्थानों की सूची बनाकर निगम को दे दें, ताकि समय रहते उनकी साफ-सफाई का कार्य अमल में लाया जा सके। उन्होंने सभी नालियों की नियमित सफाई करने पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि बारिश के पानी को रिचार्ज करने के लिए रेन वाटर हार्वेस्टर की भूमिका रहती है, लेकिन इनकी समय पर साफ-सफाई नहीं हो पाती, अब समय है कि इनकी भी सुध ली जाए, ताकि ज्यादा से ज्यादा वर्षा जल को भूमिगत रिचार्ज किया जा सके।

सफाई दरौगा व सुपरवाईजरों के साथ अतिरिक्त आयुक्त गौरव कुमार ने की बैठक

 Municipal Corporation
Municipal Corporation

अतिरिक्त आयुक्त ने सफाई कर्मचारियों की समस्याएं सुनकर उनका दिल जीता और सफाई निरीक्षकों को निर्देश दिए कि सफाई के कार्य में जो भी आवश्यक औजार चाहिएं, इन्हे दे दें। सफाई कर्मचारियों को बरसाती व गम बूट भी मिलें, उसकी भी तैयार करें। मीटिंग में डेयरियों से सीवर लाईने चौक का उठा मुद्ïदा- अतिरिक्त आयुक्त की सफाई दरौगाओं के साथ मीटिंग में शहर में मौजूद पशु डेयरियां और उनसे उत्सर्जित गोबर से सीवर लाईने चौक होने का मुद्दा मीटिंग में उठा। उप निगम आयुक्त अरूण कुमार ने सफाई दरौगा और सुपरवाईजरों की ड्यूटी लगाई कि वे शहर में अनाधिकृत रूप से मौजूद डेयरियों की सूची, जिसमें उनका नाम, पशु और वार्ड इत्यादि का हवाला हो, निगम को दें, इससे डेयरियों को लेकर नवीनतम डाटा मिल सकेगा। सफाई दरौगा और सुपरवाईजर ऐसी डेयरियों को चिन्हित करें, जिनके गौबर से नालियां जाम होती हैं।

डेयरियों को सील करने की कार्रवाई

 Municipal Corporation
Municipal Corporation

उन्हें समझाएं और चेतावनी दें, न मानने पर नगर निगम नोटिस जारी करेगा और फिर ऐसी डेयरियों को सील करने की कार्रवाई की जाएगी। कार्यकारी अधिकारी देवेन्द्र नरवाल ने भी सफाई कर्मचारियों के योगदान की सराहना करते कहा कि वे एक स्वच्छता प्रहरी के रूप में कार्य करते हैं, जो खुद गंदगी में रहकर नागरिकों को स्वच्छता का माहौल प्रदान करते हैं। स्वच्छ सर्वेक्षण में शहर को अच्छी रैंकिंग दिलाने में उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता।

मीटिंग में सभी रहे मौजूद

मीटिंग में अनुभाग अधिकारी सत प्रकाश गांधी, स्वच्छता अधिकारी महावीर सोढी, मुख्य सफाई निरीक्षक राजेश कुमार, सफाई निरीक्षक मनदीप कुमार, संदीप कुमार व ऊषा रानी, सहायक सफाई निरीक्षक प्रवेश कुमार व गुलाब सिंह के अतिरिक्त सफाई कर्मचारी यूनियन के जिला प्रधान वीरभान बिड़लान तथा प्रदेश सचिव शारदा रानी मौजूद रही।

ये भी पढ़ें : अतिरिक्त आयुक्त ने इंजीनियरों के साथ डिस्पोजल स्थलों का किया निरीक्षण

ये भी पढ़ें : यमुनानगर में बदमाशों ने व्यापारी से लूटा नोटों से भरा बैग, लूट कर मारी गोली, मौत

ये भी पढ़ें :  एमबीबीएस 2020 की छात्रा जिया रक्षित ने एएफएमसी पुणे में आयोजित मेडिकल कांफ्रेंस में 60 से     70 किलोग्राम मे महिला पावरलिफटिंग वर्ग श्रेणी में गोल्ड मेडल जीता

Connect With Us : Twitter Facebook

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular