HomeपंजाबUncategorizedग्रामीण अर्थव्यवस्था को समृद्ध करने के लिए फार्म-सेक्टर पर फोकस करें :...

ग्रामीण अर्थव्यवस्था को समृद्ध करने के लिए फार्म-सेक्टर पर फोकस करें : दुष्यंत चौटाला

  • हरियाणा एग्री-बिजनेस एंड फूड प्रोसेसिंग पोलिसी की समीक्षा की

आज समाज डिजिटल, चंडीगढ़ (Haryana Agri-Business and Food Processing Policy): हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जब तक गांव के लोगों को आधुनिक कृषि एवं कृषि-आधारित उद्योगों के प्रति जागरूक नहीं किया जाएगा तब तक देश एवं प्रदेश का विकास तेज गति से नहीं हो सकता, इसलिए अधिकारी ग्रामीण अर्थव्यवस्था को समृद्ध करने के लिए फार्म-सेक्टर पर फोकस करें।

Deputy CM, जिनके पास उद्योग एवं वाणिज्य विभाग का प्रभार भी है, आज एमएसएमई निदेशालय के तहत बनाई गई ‘हरियाणा एग्री-बिजनेस एंड फूड प्रोसेसिंग पोलिसी’ की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री आनंद मोहन शरण के अलावा विभाग के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

Deputy CM Dushyant Chautalaने अधिकारियों को मजबूत ‘वैल्यू चेन लिंकेज’ बनाने के निर्देश देते हुए कहा कि रिसर्च पर बल दिया जाना चाहिए ताकि ‘हरियाणा एग्री-बिजनेस एंड फूड प्रोसेसिंग पोलिसी’ के तहत अपनी यूनिट लगाने वालों को अधिक लाभ हो और आस-पास के ग्रामीणों को अधिक से अधिक रोजगार मिल सके। (Deputy CM News)

फूड प्रोसेसिंग सेक्टर में हरियाणा प्रदेश निवेशकों की पहली पसंद बने

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का प्रयास है कि फूड प्रोसेसिंग सेक्टर में हरियाणा प्रदेश निवेशकों की पहली पसंद बने ताकि प्रदेश के युवाओं के लिए रोजगार के अवसर बढ़ सकें। उन्होंने राज्य में कृषि एवं इसके सहायक-क्षेत्र डेयरी, बागवानी, पशुधन, मत्स्य, पोल्ट्री आदि के प्रोडक्टस में वैल्यू-एडिशन को प्रोत्साहित करने के निर्देश देते हुए कहा कि अभी उक्त क्षेत्रों में काफी संभावनाएं हैं, ऐसे में ग्रामीण-अर्थव्यवस्था को मजबूती देने में अहम साबित होंगे।

उपमुख्यमंत्री ने ‘हरियाणा एग्री-बिजनेस एंड फूड प्रोसेसिंग पोलिसी’ के तहत स्थापित यूनिटों की समीक्षा करते हुए कहा कि जिन इंटरप्रेन्योर ने बेहतरीन व अनुकरणीय काम किया है उनकी ‘सक्सेस-स्टोरी’ को प्रदेश के अन्य ग्रामीणों के समक्ष लाएं और प्रचारित करें ताकि अन्य लोग भी प्रेरित हो सकें। उन्होंने अधिकारियों को ग्रामीण क्षेत्र में कृषि पर आधारित यूनिट्स को प्राथमिकता के आधार पर लेने के निर्देश दिए ताकि ग्रामीण अर्थव्यवस्था और अधिक समृद्ध हो सके।

ये भी पढ़ें : केन्द्र के सहयोग से प्रदेश के सभी खंडो में खोले जाएगे 238 पीएमश्री स्कूल : शिक्षा मंत्री कवरपाल

ये भी पढ़ें : जंगम जोगी परंपरा को जिंदा रख रहे युवा कलाकार

ये भी पढ़ें : आरपीएस स्कूल में प्रतियोगिताओं के विजेता विद्यार्थियों को किया सम्मानित

ये भी पढ़ें :  जयंती महोत्सव पर श्री राम मंदिर के स्टाल पर लगी है भारी भीड़

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular