Homeराज्यपंजाबपंजाब में गणपति उत्सव को लेकर श्रद्धालुओं में भारी उत्साह

पंजाब में गणपति उत्सव को लेकर श्रद्धालुओं में भारी उत्साह

दिनेश मौदगिल, लुधियाना 
  • विभिन्न पंडालों में लग रही हैं श्रद्धालु की खूब रौनकें

पंजाब भर में गणपति महोत्सव बड़ी धूमधाम से शुरू हो चुका है और 31 अगस्त से 9 सितंबर तक पंजाब के विभिन्न शहरों में श्रद्धालु इसे बड़ी श्रद्धापूर्वक मना रहे हैं। पंजाब भर में सैकड़ों की संख्या में इस महोत्सव के लिए पंडाल लगाए गए हैं । इसके अलावा विभिन्न मंदिरों और घरों में भी श्रद्धालु इस उत्सव को श्रद्धापूर्वक मना रहे हैं। रात को विभिन्न भजन मंडलियों द्वारा विभिन्न पंडालों में भगवान श्री गणपति जी का गुणगान किया जाता है। 31 अगस्त की रात्रि विभिन्न पंडालों में विभिन्न  भजन गायकों ने गणपति जी का गुणगान किया और श्रद्धालु भजनों पर झूमते नजर आए। इसी तरह से महानगर लुधियाना में भी गणपति उत्सव के लिए कई बड़े पंडाल लगाए गए हैं और यह पंडाल गणपति जी के जयकारों की गूंज रहे हैं। लुधियाना शहर में जनकपुरी, हैबोवाल, दरेसी, जमालपुर आदि क्षेत्रों में गणपति उत्सव के लिए लगाए हुए पंडालों में श्रद्धालुओं की खूब रौनकें देखने को मिल रही हैं।


इन पंडालों में भगवान श्री गणपति जी की विभिन्न आकर्षक मूर्तियां स्थापित की गई है और एक से बढ़कर एक आकर्षक सजावट इन पंडालों की की गई है। पंजाब में 1992 में गणपति उत्सव की शुरुआत हुई और पूर्व विधायक स्वर्गीय हरीश बेदी ने पहली बार जनकपुरी में गणपति उत्सव मनाना शुरू किया था। इसके बाद धीरे-धीरे यह उत्सव  पंजाब के विभिन्न शहरों में बड़ी धूमधाम से मनाया जाने लगा और आज लुधियाना में ही कई दर्जन पंडाल इस उत्सव के लिए विभिन्न संस्थाओं द्वारा लगाए जाते हैं। श्रद्धालु कई किलो के हिसाब से भगवान गणपति जी को लड्डू, छप्पन भोग और अन्य तरह के प्रसाद अर्पित करते हैं। इसी तरह  श्रद्धालु अपने घरों में गणपति जी का पूजन, गुणगान बड़ी आस्था के साथ करते हैं। उत्सव के अंतिम दिन मूर्ति जल विसर्जन  किया जाता है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular