Homeराज्यपंजाबपंजाब सरकार सोहियां बीड़ को सर्वश्रेष्ठ 'इको-टूरिज्म' केंद्र के रूप में विकसित...

पंजाब सरकार सोहियां बीड़ को सर्वश्रेष्ठ ‘इको-टूरिज्म’ केंद्र के रूप में विकसित करेगी: अमन

आज समाज डिजिटल, संगरूर:
पंजाब के सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री श्री अमन अरोड़ा ने कहा है कि पंजाब सरकार सोहियां बीड़ को ईको-टूरिज्म सेंटर के रूप में विकसित करेगी। श्री अरोड़ा ने यह बयान आज मुख्य वाइल्ड लाइफ वार्डन पंजाब श्री प्रवीण कुमार, मुख्य वनपाल वाइल्ड लाइफ श्रीमती गीतांजलि, वाइल्ड लाइफ संस्थान देहरादून के विशेषज्ञ डाॅ. हबीब बिलाल और डॉ. सम्राट और वन मंडल अधिकारी श्रीमती मोनिका देवी यादव के साथ बीङ़ में विस्तृत बैठक करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए दिया। उन्होंने कहा कि यह बीड़ 700 एकड़ से अधिक क्षेत्र में फैली हुई है जो कि छतबीङ़ से भी अधिक ऐरीया है।

प्रजाति को बचाने का पूरा प्रयास

उन्होंने कहा कि प्राकृतिक सौन्दर्य से भरपूर इस उपेक्षित बीड़ को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लोगों के आकर्षण का केंद्र बनाने के लिए वह जल्द ही पंजाब के मुख्यमंत्री श्री भगवंत मान से इस मामले पर चर्चा करेंगे और फिर मुख्यमंत्री केंद्र सरकार के साथ संपर्क करेंगे और इस बीड़ में सुधार के लिए मंजूरी लेंगे। कैबिनेट मंत्री श्री अमन अरोड़ा ने कहा कि आज हुई बैठक में पंजाब के राज्य पशु ‘काला हिरण’ की लुप्त हो रही प्रजाति को बचाने के प्रयास के रूप में सोहियां बीड़ में काला हिरण लाने पर भी चर्चा की गई है ताकि लोग काले हिरण को देखने के लिए बीड़ में आ सकें। उन्होंने कहा कि वाइल्ड लाइफ और वन विशेषज्ञों की राय के अनुसार इस बीड़ में ऐसे पेड़ भी लगाए जाएंगे जो जीव जंतुओं के लिए आवास बनेंगे और इस जगह की सुंदरता में और इजाफा करेंगे।

वन विभाग के अधिकारियों के साथ मीटिंग

कैबिनेट मंत्री ने बताया कि करीब ढाई महीने पहले उन्होंने पंजाब के वन एवं वन्य जीव संरक्षण मंत्री श्री लाल चंद कटारुचक के साथ इस बीड़ का दौरा किया था और तब से लगातार वन्य जीव एवं वन विभाग के अधिकारियों के साथ मीटिंग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सोहियां बीड़ को ईको-टूरिज्म के रूप में विकसित करने की प्रारंभिक योजना तैयार कर ली गई है और जल्द ही सुधार की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

इस मौके पर ये सभी मौजूद

इस मौके पर अवतार ईलवाल, गुरिंदर वालिया खेड़ी, मणि सराउ, जगतार सोहियां, गुरतेज सोहियां और मुकेश जुनेजा भी मौजूद थे।

ये भी पढ़ें : 26 से हैं नवरात्र, इन बातों का रखें ध्यान

ये भी पढ़ें : नहीं रहे शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती

ये भी पढ़ें : साफ होकर खेतों को सींचेगा गांव का गंदा पानी

ये भी पढ़ें : महाराजा अग्रसेन विकास ट्रस्ट द्वारा भव्य अग्रसेन जयंती बनाने पर बैठक

 Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular