Homeहरियाणाकरनालसाफ होकर खेतों को सींचेगा गांव का गंदा पानी

साफ होकर खेतों को सींचेगा गांव का गंदा पानी

आज समाज डिजिटल, करनाल:
राहड़ा गांव के तालाबों का गंदा पानी अब गलियों या सड़कों में लोगों की आवाजाही में बाधक नहीं बनेगा। मुख्य तालाब की सफ़ाई-खुदाई की परियोजना पर इन दिनों जारी कार्य पूरा होने के बाद यह पानी साफ़ करके सिंचाई योग्य बनाया जाएगा और इच्छुक किसानों को नि:शुल्क उनके खेतों की सिंचाई के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।

एकजुट होकर करें समस्याओं पर काम

हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष डॉ. वीरेंद्र सिंह चौहान ने राहड़ा गाँव के महाराणा प्रताप भवन में कहा कि गांव की समस्याओं का समाधान सुनिश्चित करवाने के लिए युवा शक्ति को एकजुट होकर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि सरकार पूरी संवेदनशीलता के साथ ग्रामीण अंचल के विकास की योजना बना रही है और उन्हें तेज गति से अमल में लाया जा रहा है। इसके बावजूद बहुत सारे ऐसे विषय होते हैं जिन्हें अगर गाँव के जागरूक और सचेत नौजवान एकजुट होकर सरकार के समक्ष रखते हैं तो उनका समाधान सुगम हो जाता है।

बस चाहिए युवाओं का साथ

डॉ. चौहान ने कहा कि गाँव की समस्याओं को लेकर वे निरंतर नौजवानों के साथ मिलकर काम करते रहे हैं।
गाँव के पानी की निकासी की समस्या हो या गाँव में नए पेयजल के नलकूप की स्थापना के काम को तीव्र गति से आगे बढ़ाना, उन्होंने हर संभव मोर्चे पर गाँव की आवश्यकताओं के अनुसार हस्तक्षेप करते हुए समाधान के रास्ते को प्रशस्त करने का प्रयास किया है। इस अवसर पर डॉ.चौहान ने कहा कि तालाब की सफ़ाई से निकलने वाली मिट्टी गाँव के टूटे हुए रिंग डैम पर डालने के निर्देश ठेकेदार को दिए गए हैं। गाँव में आने वाली परिवहन निगम की बस सेवा को बंद करने का कोई प्रस्ताव नहीं है।

ये भी पढ़ें : 26 से हैं नवरात्र, इन बातों का रखें ध्यान

ये भी पढ़ें : नहीं रहे शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती

ये भी पढ़ें : अल्पसंख्यक समुदाय के छात्रों को प्रदान की जाती है छात्रवृति : उपायुक्त

ये भी पढ़ें : महाराजा अग्रसेन विकास ट्रस्ट द्वारा भव्य अग्रसेन जयंती बनाने पर बैठक

 Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular