Homeहरियाणायमुनानगरगरीब बच्चों का दाखिला घर के नजदीक के स्कूल में होगा :...

गरीब बच्चों का दाखिला घर के नजदीक के स्कूल में होगा : चौधरी कंवरपाल गुर्जर

प्रभजीत सिंह लक्की, यमुनानगर :
शिक्षा मंत्री कंवपाल गुर्जर ने कहा कि हरियाणा में मॉडल संस्कृति स्कूलो में हिंदी और इंग्लिश दोनों माध्यम से बच्चों के एडमिशन व दोनों के माध्यम से पढ़ाई कराई जाएगी।

Read Also : औद्योगिक साझेदारी से हकेवि विद्यार्थियों का होगा कौशल विकास

एक माह के भीतर मिलेंगे बच्चों को एक लाख टेबलेट : शिक्षा मंत्री

विधार्थी किसी भी माध्यम से पढ़ना चाहे उस माध्यम से उस में एडमिशन करवाए जाएंगे। शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए बताया कि 5 मई को रोहतक में विशाल कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। जिसमें हरियाणा में स्कूली विद्यार्थियों को निशुल्क टेबलेट बांटने की शुरुआत की जाएगी सर्वप्रथम 205000 बच्चों को टेबलेट निशुल्क वितरित किए जाएंगे। जिसमें से एक 105000 टेबलेट शिक्षा विभाग के पास आ गई है और जो एक लाख बकाया टेबलेट है। वह आगामी 1 माह के भीतर आ जाएंगे।

मान्यता प्राप्त स्कूलों से इस विषय में बातचीत की जाएगी

शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने जानकारी देते हुए बताया कि आरटीई के माध्यम से कक्षा एक से गरीब व जरूरतमंद बच्चों को उनके नजदीक के स्कूलों में एडमिशन कराया जाएगा। कक्षा एक से कक्षा 12 तक मान्यता प्राप्त मान्यता प्राप्त स्कूलों से इस विषय में बातचीत की जाएगी और उन स्कूलों में जिन अभिभावकों की आय परिवार पहचान पत्र में ₹180000 से कम है उनके बच्चों को उन स्कूलों में एडमिशन कराने के प्रयास किए जाएंगे। इसके लिए शिक्षा विभाग ने कक्षा पांचवी तक की फीस ₹700, कक्षा 6 से 8 तक की फीस ₹900 व कक्षा 9 से 12 तक की 1100 रुपए फीस निर्धारित की है। शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने कहा कि हरियाणा में 1200 के लगभग अस्थाई मान्यता प्राप्त स्कूल है।

स्कूलों में हिंदी और इंग्लिश दोनों माध्यम से बच्चों के एडमिशन

जिन्हें अभी मान्यता नहीं मिली है तो शिक्षा विभाग ने उन्हें एक मौका और देने का फैसला किया है कि वह अपनी मान्यता के लिए दोबारा से आवेदन कर सकते हैं। शिक्षा मंत्री कंवपाल गुर्जर ने कहा कि मॉडल संस्कृति स्कूलों में हिंदी और इंग्लिश दोनों माध्यम से बच्चों के एडमिशन करवाए जाएंगे। शिक्षा मंत्री ने कहा कि बच्चों के रेशनेलाइजेशन के लिए पहले पावर चंडीगढ़ विभाग के पास होती थी लेकिन अब उसके अधिकार जिला स्तर पर शिक्षा विभाग के अधिकारियों को दे दिए गए हैं कि वह स्थिति के अनुसार निर्णय लेकर रेशनलाइजेशन कर सकते हैं। शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने कहा कि हरियाणा में ट्रांसफर ड्राइव पर निर्णय हमने सुरक्षित रखा है।

भाजपा सरकार गरीब बच्चों की शिक्षा को लेकर कर रही है प्रयास

शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने कहा कि हरियाणा की भाजपा सरकार गरीब व जरूरतमंद बच्चों की शिक्षा को लेकर पूरी तरह से प्रयास कर रही है कि उनको उनके नजदीक के स्कूलों में ही एडमिशन कराए जाएं और उसके लिए शिक्षा विभाग पूरे प्रयास कर रहा है। शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने जानकारी देते हुए बताया कि उनसे अभी हाल ही में प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन प्रतिनिधीमंडल मिला थी तो उन्होंने कहा है कि अगर प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन का कोई पैसा शिक्षा विभाग पर बकाया है तो उन्हें बताएं, अभी तक उन्हें जो जानकारी मिली है उसके अनुसार प्राइवेट स्कूल वालों का कोई भी बकाया शिक्षा विभाग के पास नहीं है।

Read Also : डोर टू डोर कचरा उठान के लिए 26.95 करोड़ सिंगल की बजाय लगाए जाएंगे 2.50 करोड़ से कम के छोटे टेंडर

Read Also : विश्व होम्योपैथी दिवस के उपलक्ष्य में निशुल्क होम्योपैथिक चिकित्सा शिविर का आयोजन

Connect With Us : Twitter Facebook

 

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular