Homeहरियाणामहेंद्रगढ़औद्योगिक साझेदारी से हकेवि विद्यार्थियों का होगा कौशल विकास

औद्योगिक साझेदारी से हकेवि विद्यार्थियों का होगा कौशल विकास

नीरज कौशिक, महेंद्रगढ़ :

हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेवि), महेंद्रगढ़ और पेनम लेबोरेट्री लिमिटेड, धारुहेडा अब विद्यार्थियों के समग्र विकास हेतु मिलकर काम करेंगे।

Read Also : यातायात नियमो की पालना करके ही सड़क दुर्घटनाओं से बचा जा सकता है: डॉ अंशु सिंगला : Following Traffic Rules

हकेवि के विद्यार्थियों कोअलग पहचान रखने वाली पेनम लेबोरेट्री का सहयोग

इस संबंध में दोनों ही संस्थानों में समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर कर आपसी साझेदारी स्थापित की है। इस साझेदारी के अंतर्गत विद्यार्थियों के समक्ष बायोमेडिकल साइंसेज से संबंधित औद्योगिक आवश्यकताओं के अनुरूप प्रशिक्षण की चुनौती का समाधान सुनिश्चित किया जाएगा। इस समझौता ज्ञापन के अंतर्गत हकेवि के विद्यार्थियों को कौशल विकास, रोजगार से पूर्व आवश्यक औद्योगिक प्रशिक्षण हेतु फार्मास्युटिकल इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान रखने वाली पेनम लेबोरेट्री का सहयोग मिलेगा।

विश्वविद्यालय ने पेनम लेबोरेट्री के साथ समझौता ज्ञापन पर किए हस्ताक्षर

हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय की ओर से कुलसचिव प्रो. सारिका शर्मा और पेनम लेबोरेट्री की ओर से डायरेक्टर ऑपरेशन्स श्री विकास पाण्डेय ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार ने कहा कि इस साझेदारी का उद्देश्य विद्यार्थियों को संबंधित क्षेत्र की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए उद्योग जगत के लिए तैयार करना है।

पढ़ाई के बाद इंडस्ट्री में उज्ज्वल भविष्य के निर्माण का मार्ग होगा प्रशस्त

उन्होंने कहा कि इस साझेदारी के माध्यम से विद्यार्थियों को अपनी क्षमताओं के विकास में सहयोग मिलेगा और उनके लिए पढ़ाई के बाद इंडस्ट्री में उज्ज्वल भविष्य के निर्माण का मार्ग प्रशस्त होगा। इस अवसर पर अवसर पर विश्वविद्यालय के शैक्षणिक अधिष्ठाता प्रो. दिनेश कुमार, कौशल एवं व्यावसासिक अध्ययन विभाग के संयोजक प्रो. पवन मौर्य, बी.वॉक. बायोमेडिकल साइंसेज के संयोजक डॉ. विकास सैनी भी उपस्थित रहे।

Read Also : पेट में बढ़ रही है जलन और गर्मी, तो डाइट में शामिल कर लें ये 6 चीजें, तुरंत मिलेगी राहत

Read Also : डोर टू डोर कचरा उठान के लिए 26.95 करोड़ सिंगल की बजाय लगाए जाएंगे 2.50 करोड़ से कम के छोटे टेंडर

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular