Homeहरियाणासिरसाशिक्षा में निपुणता की विभिन्न तकनीकों से करवाया अवगत

शिक्षा में निपुणता की विभिन्न तकनीकों से करवाया अवगत

 सतीश बंसल, सिरसा: 

  • स्कूल संगठन सहोदया से संबद्ध 25 स्कूलों के शिक्षाविद हुए लाभान्वित

सीबीएसई से संबद्ध सिरसा जिले के स्कूलों के संगठन सहोदया स्कूल्स कांप्लेक्स समिति समिति के 25 स्कूलों के 119 शिक्षकों ने गांधी व शास्त्री जयंती पर दी सिरसा स्कूल में एक दिवसीय वर्कशॉप में भाग लिया जिसमें इंटरनेशनल एजूकेटर ट्रेनिंग एवं रिसर्च फाउंडेशन के संस्थापक पवन गुप्ता ने सभी का मार्गदर्शन किया। कार्यक्रम का आगाज सहोदया संगठन के उपप्रधान अनुराग खुराना, मास्टर ट्रेनर पवन गुप्ता, दी सिरसा स्कूल की प्रिंसिपल डॉ. राकेश सचदेवा, विवेकानंद बाल मंदिर स्कूल की प्रिंसिपल अनिता यादव, सतलुज स्कूल डबवाली के सोहित शर्मा, सावन पब्लिक स्कूल के प्रिंसिपल सुल्तान महमूद, विवेकानंद स्कूल गोरीवाला की प्रिंसिपल समेष्टा सुथार, राजेंद्रा पब्लिक स्कूल की प्राचार्या पूजा अनेजा, बी.आर ग्लोबल स्कूल के चेयरमैन व सहोदया के प्रेस सचिव भीष्म मेहता ने मां शारदा के समक्ष दीप प्रज्जवलन कर किया।

अध्यापक सुखदेव ने गांधीजी के प्रिय भजनों की प्रस्तुति दी

तदोपरांत गांधीजी व शास्त्री जी के चित्रों पर माल्र्यापण कर देश के प्रति उनकी सेवाओं को याद किया गया। दी सिरसा स्कूल की संगीत अध्यापिका साक्षी व संगीत अध्यापक सुखदेव ने गांधीजी के प्रिय भजनों की प्रस्तुति दी। डॉ. राकेश सचदेवा ने इन सर्विस वर्कशॉप के महत्व व सहोदया के क्रिया कलापों की जानकारी दी। आवश्यक गतिविधियों पर आधारित इस वर्कशॉप में पवन गुप्ता ने कक्षा प्रबंधन, नेतृत्व, एनएलपी, सकारात्मकता, स्वयं प्रेरित तकनीक के संदर्भ में शिक्षाविदों को अवगत करवाकर उन्हें प्रशिक्षित किया। उन्होंने कहा कि अध्यापकों को बेस्ट शिक्षा पॉलिसी के अंतर्गत अतिरिक्त स्किल की जरूरत है जिससे हम बच्चों को कुछ अलग दे सकें।

बच्चों को मोबाइल छोडऩे को कहेंगे तो यह संभव नहीं

इसलिए ऐसी वर्कशॉप भविष्य में भी आयोजित की जाती रहेगी ताकि शिक्षक समाज समय-समय पर शिक्षण की नई तकनीक विकसित कर सके। उन्होंने कहा कि मोबाइल हाथ में पकडक़र यदि अभिभावक अपने बच्चों को मोबाइल छोडऩे को कहेंगे तो यह कतई संभव नहीं होगा। इसके लिए भी आज अभिभावक अपने बच्चों के शिक्षकों पर ही निर्भर हैं। कार्यशाला के दौरान मंच संचालन दी सिरसा स्कूल की हिंदी शिक्षिका अंजु गुप्ता ने किया। कला शिक्षक अनमोल ने रंगोली बनाकर अपनी कला प्रदर्शित की। वर्कशॉप के अंत में सहोदया के प्रेस सचिव भीष्म मेहता ने विभिन्न स्कूलों के संचालकों, शिक्षकों व प्रिंसिपल डॉ. राकेश सचदेवा का आभार व्यक्त किया। अंत में संगठन की ओर से सभी प्रतिभागियों को प्रमाण-पत्र वितरित किए गए।

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular