HomeहरियाणारोहतकWomen Achievers Award 2022: महिलाएं सशक्त ही नहीं बल्कि मजबूत स्थिति में...

Women Achievers Award 2022: महिलाएं सशक्त ही नहीं बल्कि मजबूत स्थिति में : प्रो. नजमा अख्तर

देश की 200 प्रतिष्ठित महिलाओं को वैश्विक बौद्धिक फोरम ने ‘वूमन अचीवर्स अवार्ड-2022’ से किया सम्मानित Women Achievers Award 2022

आज समाज डिजिटल, रोहतक:
Women Achievers Award 2022: आज की महिलाएं सशक्त ही नहीं बल्कि मजबूत स्थिति में है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा महिलाओं को फौज में भर्ती करने के आदेश से वे और अधिक मजबूत हुई हैं। उन्होंने कहा कि इसका श्रेय उन महिलाओं को जाता है जिन्होंने अपने कार्यों द्वारा समाज में ऊंचा नाम किया है। यह बात विश्व महिला दिवस पर वैश्विक बौद्धिक फोरम द्वारा स्थानीय शीला सिनेमा के सामने आयोजित ‘वूमैन अचीवर्स अवार्ड-2022’ का उद्घाटन करते हुए मुख्य अतिथि जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय की कुलपति पद्मश्री प्रो. नजमा अख्तर ने कही। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के तौर पर इनकम टैक्स कमिश्नर आभा सिंह, सोनीपत की सिविल जज डॉ. रेखा सालूके, पूर्व नौकरशाह आर. आशाथम्पी, राष्ट्रपति अवार्डी डॉ. मुक्ता, युवा राजनीतिज्ञ नौक्षम चौधरी रही। कार्यक्रम में खास तौर से 12 देशों सहित पूरे देश की महिलाएं ऑनलाईन माध्यम से भी जुड़ी।

आज महिलाओं को समान मौके मिल रहे Women Achievers Award 2022

विशिष्ट अतिथि आभा सिंह व आर. आशाथम्पी ने कहा कि आज महिलाओं को समान मौके मिल रहे हैं। जिसकी बदौलत आज की नारी पढ़ी-लिखी तथा आत्मनिर्भरता की ओर लगातार आगे बढ़ रही है। कुछ मामलों को अपवाद छोड़ दें तो समाज में महिलाओं के अधिकारों के बारे में चेतना जागृत हुई है। आज विश्व के हर क्षेत्र में महिलायें अपना योगदान दे रही हैं तथा विश्व पटल पर उनके अधिकारों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। इस अवसर पर ग्लोबल इंटेक्चुअल फोरम के महासचिव व कार्यक्रम आयोजक प्रो. भूप सिंह गौड़ ने कहा कि मातृ शक्ति आज किसी भी क्षेत्र में कमजोर नहीं है। हर क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी लगातार बढ़ रही है। सभी महिलाओं को उचित प्रतिनिधित्व व सम्मान मिले इसके लिए उनका फोरम कई कल्याणकारी कार्य कर रहा है। इसी कड़ी में इस बार अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर पूरे देश-विदेश से विभिन्न क्षेत्रों उत्कृष्ट कार्य करने वाली 200 महिलाओं को सम्मानित किया गया। नौक्षम चौधरी व डॉ. मुक्ता ने कहा कि महिला दिवस मनाने का उद्देश्य तभी सार्थक होगा जब लिंग भेद समाप्त करने की शुरूआत हम अपने परिवार से करेंगे। महिलाओं में असीमित क्षमताएं और शक्ति है। उन्हें विश्व स्तर पर हर क्षेत्र में पहचान बनाकर इसे साबित भी किया है। मुम्बई से मॉडल, एंकर व मिस इंडिया ट्रेनर सुप्रीत बेदी ने इस सभा का ऑनलाइन सफल संचालन किया।

डॉ. वीबा ने महिलाओं को सशक्त व मजबूत बताया Women Achievers Award 2022

कोलकाला से डॉ. वीबा ने महिलाओं को सशक्त व मजबूत बताया। वूमेन अचीवर्स अवार्ड-2022 से सम्मानित होने वाली महिलाओं में कोलकाता से डॉ. वीबा, समादार, कर्नाटक से डॉ. भागर्वी, बिहार से डॉ. रंजना सिन्हा, दिल्ली से डॉ. भारती, डॉ. अंशु, प्रो. अन्नू मेहरा, डॉ. गोमती, प्रो. अरविंद अंसारी, पंजाब से डॉ. नम्रता, डॉ. सुनीता कौशल, डॉ. रमनजीत, डॉ. अतिन्द्र, डॉ. गुरमीत, रमनदीप, डॉ. किरण, चंडीगढ़ से डॉ. अनुपम, डॉ. नमीता, डॉ. बिंदु डोगरा, राजस्थान से ईशा चौधरी, सीमा चौधरी, डॉ. अनामिका, हिना खान, डॉ. अंजू, मिनाक्षी मीणा, बिमला देवी, मध्य प्रदेश से ममता भवे, डॉ. सीता कांग, वंदना, हिमाचल प्रदेश से डॉ. रूचि, श्रीमति सूतो देवी, कृष्णा महाजन, जम्मू-कश्मीर से विश्व रक्षा, गुजरात से एडवोकेट दीपिका, डॉ. कामिनी, डॉ. शीतल, महाराष्ट्र से सुप्रीत बेदी, रीटा गुगवानी, ज्योति नवाडे, डॉ. पल्लवी सक्सेना, मैडम बेदी, हरियाणा से डॉ. प्रियंका, डॉ. सोनिया, डॉ. स्मृति, डॉ. प्रियंका कौशिक, डॉ. विजेता, पंकज यादव, डॉ. सुमेधा, डॉ. अल्का शर्मा, डॉ. पुष्पा आंतिल, श्रीमति खुशी मलिक, बिमला देवी, डॉ. सुनीता, डॉ. प्रतिभा, डॉ. अंजू पंवार, डॉ. सोनू, डॉ. बिमला, डॉ. निशा, डॉ. ऊषा, डॉ. रेणू, डॉ. भावना, मनीषा, डॉ. सुरूचि, सुप्रीम कोर्ट एडवोकेट सीमा सिंधु, एडवोकेट सोनिया तंवर, डॉ. प्रियंका, डॉ. श्रुति, डॉ. मोनिका सहरावत, सोनिका, उर्मिला, अलका मलिक, डॉ. साधना, रश्मि, पूनम, सुनीता दुग्गल, सुनीता गौड़, सुनैना ढांडा, रमन दुआ आदि प्रमुख रूप से शामिल रही।
जबकि विदेशों से इंडोनेशिया से डॉ. अन्ना, ईरान से डॉ. मदंना के मोहम्मदी, आस्ट्रेलिया से डॉ. लूनिट रसल, मैक्सिको से डॉ. मरियाना ग्रेशिया, सिंगापुर से डॉ. चयनिका सक्सेना, अफ्रीका से डॉ. मलिंगा नायडू, न्यूजीलैंड से डॉ. जेड सोफिया, कनाडा से डॉ. मनप्रीत गिल, रशिया से प्रो. नतालिया वैलिके, मॉरिशस से नूराना स्मोटली व सकीना खान, इटली से संजना तिवारी, यूके से रविजोत जया, सैलेना, नीदरलैंड से हरप्रीत, चरण को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की कोर्डिनेटर डॉ. भावना रही। कार्यक्रम के आयोजन में समिति सदस्यों में प्रो. प्रमोद मेहरा, प्रो. वीरेन्द्र आंतिल, डॉ. सुभाष, डॉ. जगसीर, डॉ. मुकेश, सचिन आदि का विशेष सहयोग रहा।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular