HomeहरियाणाकरनालMunicipal Corporation Took Action On 6 Establishments नगर निगम ने 6 प्रतिष्ठानों...

Municipal Corporation Took Action On 6 Establishments नगर निगम ने 6 प्रतिष्ठानों पर की कार्रवाई, 3 प्रतिष्ठानों को किया सील

Municipal Corporation Took Action On 6 Establishments नगर निगम ने 6 प्रतिष्ठानों पर की कार्रवाई, 3 प्रतिष्ठानों को किया सील

प्रवीण वालिया, करनाल :

Municipal Corporation Took Action On 6 Establishments : सम्पत्ति कर बकायादारों से निपटने के लिए नगर निगम ने सोमवार को सीलिंग की एक बड़ी कार्रवाई की। इस दौरान 3 प्रतिष्ठानों को मौके पर ही सील किया गया और 3 द्वारा लिखित में दिया गया कि वे जल्द ही नगर निगम के खजाने में बकाया टैक्स जमा करवा देंगे। खास बात यह भी है कि सील किए गए 3 प्रतिष्ठानों में से द रॉयल पैराडाईस ने सांय 5 बजे 7 लाख 21 हजार 768 रूपये नगर निगम के खजाने में जमा करवा दिए।

सीलिंग के लिए नगर निगम ने उठाया कदम-

नगर निगम आयुक्त नरेश नरवाल ने बताया कि बकायादारों की तरफ करोड़ों रूपये का सम्पत्ति कर जमा नहीं करवाया गया है। इसे रिकवर करने के लिए निगम द्वारा कई बार नोटिस दिए गए, लेकिन बकायादारों द्वारा इस विषय पर कोई रूचि न दिखाने के लिए अंतत: निगम द्वारा सीलिंग करने का एक प्लान बनाया गया, जिसमें 1 लाख से 10 लाख रूपये तथा 10 लाख से ऊपर की प्रॉपर्टी को सील करने का निर्णय लिया गया और यह कार्रवाई सोमवार से प्रारम्भ कर दी गई है, (Municipal Corporation Took Action On 6 Establishments) जिसमें 10 लाख रूपये से ऊपर के डिफाल्टरों को पहले लिया गया है, सीलिंग की कार्रवाई आगामी 31 मार्च तक जारी रहेगी।

यह रही सीलिंग की कार्रवाई-

निगमायुक्त के निर्देश पर ई.ओ. देवेन्द्र नरवाल, कर अधीक्षक गगनदीप सिंह, सहायक दिनेश गोयल और सम्पत्ति कर व भवन निर्माण शाखा के कर्मचारियों की टीम ने सीलिंग की कार्रवाई प्रारम्भ की। सबसे पहले नेशनल हाईवे स्थित द रॉयल पैराडाईस नाम के रेस्तरां को सील किया गया। इनकी तरफ 9 लाख 15 हजार 159 रूपये बकाया थे। सरकार द्वारा एकमुश्त बकाया जमा करवाने पर समस्त ब्याज माफी की बात करें, तो इनकी बकाया राशि 7 लाख 21 हजार 768 रूपये बनती थी। यहां यह भी बताना उचित रहेगा कि निगम की सख्ताई से रॉयल पैराडाईस की ओर से ब्याज माफी का लाभ उठाते हुए सांय 5 बजे निगम कार्यालय में 7 लाख 21 हजार 768 रूपये की राशि जमा करवा दी, अब निगम सील खोलने की कार्रवाई करेगा।

उचाना में ऑसम टाईल्स नाम से एक फैक्ट्री को किया सील

इसी प्रकार उचाना में ऑसम टाईल्स नाम से एक फैक्ट्री को भी नगर निगम की टीम ने सील कर दिया। इनकी तरफ 11 लाख 61 हजार रूपये का टैक्स बकाया था। (Municipal Corporation Took Action On 6 Establishments)  तीसरी सीलिंग सेक्टर-6 मार्किट स्थित एस.सी.ओ. 94 पर की गई, इस बिल्डिंग में एक्सिस बैंक की शाखा है। इनकी तरफ 14 लाख 40 हजार 504 रूपये बकाया थे, नगर निगम की टीम ने इसे भी सील कर दिया। निगमायुक्त ने बताया कि सेक्टर-6 मार्किट में ही एस.सी.ओ. 89-90 की तरफ 28 लाख 61 हजार 58 रूपये बकाया प्रॉपर्टी टैक्स था, जैसे ही सील करने की कार्रवाई प्रारम्भ हुई, प्रॉपर्टी मालिक ने मौके पर अढाई लाख रूपये की पेमेंट का चैक देकर, बकाया टैक्स को एक सप्ताह में अदा करने की लिखित में मोहल्लत मांगी। निगम की टीम ने इसे स्वीकार करते हुए चेतावनी दी कि एक सप्ताह में बकाया राशि को जमा नहीं करवाया गया तो एस.सी.ओ. को सील कर दिया जाएगा। इसी प्रकार सेक्टर-5 में एन.एच. स्थित शनि देव मंदिर के पास एक फैक्ट्री को भी सील किए जाने के दौरान फैक्ट्री मालिक ने लिखित में एक दिन की मोहल्लत पर समूचा टैक्स ब्याज माफी के बाद जमा करवाने का अनुरोध किया, इसे भी टीम ने स्वीकार कर लिया।

अब तक 9 करोड़ रूपये ही प्रॉपर्टी टैक्स के रूप में जमा हुए

दूसरी ओर सेक्टर-5 में ही एक अन्य डिफाल्टर की प्रॉपर्टी को सील किया जाना था। इसकी तरफ 11 लाख 50 हजार 725 रूपये बकाया थे।(Municipal Corporation Took Action On 6 Establishments) रिबेट के बाद यह रकम 5 लाख 77 हजार 132 रूपये बनती थी। इस पर सीलिंग की कार्रवाई से बचने के लिए प्रॉपर्टी मालिक ने मौके पर ही 5 लाख 77 हजार 132 रूपये का चैक दे दिया। निगमायुक्त ने बताया कि पुरानी सब्जी मण्ड़ी स्थल पर करियाणा की दुकान भी सीलिंग के प्लान में थी, इससे बचने के लिए दुकान मालिक ने सोमवार प्रात: निगम कार्यालय में आकर 56 हजार रूपये का डी.डी. जमा करवा दिया।

निगमायुक्त ने बताया कि निगम के खजाने में अब तक 9 करोड़ रूपये ही प्रॉपर्टी टैक्स के रूप में जमा हुए हैं, जबकि लक्ष्य 20 करोड़ रूपये का है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि वित्तीय वर्ष के चालू मास के अंत तक सीलिंग की कार्रवाई करके भिन्न-भिन्न वार्डों में सम्पत्ति कर व विकास शुल्क रिकवर करने के कैम्प लगाए जाएंगे। उन्होंने बकायादारों से अपील कर कहा है कि सरकार की ओर से समस्त बकाया को एकमुश्त जमा करवाने से टोटल ब्याज माफ करने का ऐलान किया गया है। यही नहीं चालू बिल पर भी 25 प्रतिशत की रिबेट दी गई है, बकायादारों को इसका फायदा उठाना चाहिए।

Also Read : हरियाणा रोडवेज के सेवानिवृत्तकर्मियों की मुफ्त बस यात्रा पर ब्रेक, विरोध   

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
Mohit Sainihttps://indianews.in/author/mohit-saini/
Humanity Is the Best Religion In The Word
RELATED ARTICLES

Most Popular