Homeहरियाणाकरनालदागी सदस्यों के साथ क्या झिंडा गुरुद्वारों की सेवा करेंगे : दादूवाल

दागी सदस्यों के साथ क्या झिंडा गुरुद्वारों की सेवा करेंगे : दादूवाल

प्रवीण वालिया, करनाल:

  • कहा: सरकार तय करेगी हरियाणा में गुरुद्वारों की सेवा कौन करेगा
  • झिंडा संगत को भ्रमित करना बंद करें ,
  • सभी का आशीर्वाद और सहयोग लेकर गुरुद्वारों की सेवा करेंगे

हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान जत्थेदार बलजीत सिंह दादूवाल ने कहा है कि जगदीश झिंडा क्या दागी सदस्यों के साथ मिल कर हरियाणा के गुरुद्वारों का प्रबंध संभालेंगे। उनके साथ जो हैं उनमें से एक को चरित्र संबंधी आरोप में सदस्यता से अपात्र करार दिया जा चुका हैं। दूसरे पर नशा तस्करी के आरोप लग रहे है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने हरियाणा सरकार को अधिकृत किया है । सरकार जिसे चाहेगी उसे गुरुद्वारों की सेवा का काम सौंपेंगी। सरकार का ग्रह मंत्रालय और कानून मंत्रालय काम कर रहा है। 2014 में भी सरकार ने गुरद्वारा प्रबंधक कमेटी के सदस्य मनौनीत किए थे। उसके बाद हरियाणा सरकार ने सदस्य बाद में मनौनीत किए।

हरियाणा की सिख संगत को सुनहरा अवसर

करनाल से एक सदस्य को तीन सदस्यीय कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर अपात्र घोषित किया था। वह करनाल के डेरा कारसेवा में पत्रकारों से बात कर रहे थे। इस अवसर पर डेरा कारसेवा के बाबा सुक्खा सिंह की सरपरस्ती में सरताज सिंह सिंघड़ा, बलजिंदर कौर खालसा, गुर प्रसाद सिंह फरीदाबाद, मलकीत सिंह, सर्वजीत सिंह, प्रीतपाल सिंह आहलूवालिया, स्वर्ण सिंह रतिया, सर्वीत सिंह सचिव, इ्रदपाल सिंह, अमरजीत सिंह चीमा, जसबीर सिंह बराड़ आदि उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि लंबे अरसे बाद सुप्रीम कोर्ट ने हरियाणा की सिख संगत को सुनहरा अवसर दिया है। इस अवसर को लड़ाई झगड़े की बजाए मिल जुल कर गुरुद्वारों की सेवा करना चाहिए।

देश विदेश से और सिख संगत के विद्वानों को शामिल करना चाहिए

उन्होंनें कहा कि वह हरियाणा की गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी को कार्यभार सौंपने के लिए शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान और अकाली दल केे जत्थेदार साहिबान को अपना आशीर्वाद देना चाहते हैं। उन्होंने बताया कि हरियाणा की कमेटी में शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के साथ दिल्ली गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रतिनिधि को शामिल करना चाहिए। उन्होंने बताया कि इसमें देश विदेश से और सिख संगत के विद्वानों को भी सलाहकार के रूप में शामिल करना चाहिए। अभी सरकार या तो पुरानी कमेटी को चार्ज देती हैं या फिर मौजूदा कमेटी को काम सौंपती है। उसके बाद चालीस वार्डांं का गठन और मतदाता सूची के साथ चुनाव कराने के लिए चुनाव आयोग और कमेटी का गठन होगा। जो कमेटी भी चुन कर आएगी। वही आगे काम करेगी।

उन्होंने मुख्समंत्री से कमेटी का गठन जल्द करने की मांग की। उसके बाद सरकार चुनाव के लिए तैयार पूरी कर हरियाणा को चुनी हुई कमेटी बनाकर दे। उन्होंने कहा कि संगत को भ्रम में नहीं डालना चाहिए। उन्हें न तो प्रधान का मौह है ना ही पद का वह तो पंथ की सेवा कर रहे हैं और करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि नाडा साहिब में पाठ का आयोजन नौ को किया जा रहा है। मुख्यमंत्री की तरफ से भी मुख्य रूप से अरदास की जाएगी। वह सभी को न्यौता देने के लिए आए हैं।

ये भी पढ़ें : अमरेंन्द्र सिंह अरोड़ा होंगे हरियाणा गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular