Homeहरियाणाकरनालपंचायती राज विभाग करनाल के जेई को विजिलेंस टीम ने रिश्वत के...

पंचायती राज विभाग करनाल के जेई को विजिलेंस टीम ने रिश्वत के आरोप में किया गिरफ्तार

इशिका ठाकुर,करनाल:

करनाल स्टेट विजिलेंस की टीम ने रिश्वत के आरोप में पंचायती विभाग करनाल के जेई को किया गिरफ्तार,
विजिलेंस टीम ने जेई को रिश्वत के 15 हजार रुपये के साथ रंगे हाथों किया गिरफ्तार।

करनाल की स्टेट विजिलेंस टीम ने रिश्वतखोर अधिकारियों पर लगातार शिकंजा कसा हुआ है। जहां पिछले दिनों रिश्वत के आरोप में घरौंडा के तहसीलदार और उसके रीडर को विजिलेंस की टीम ने गिरफ्तार किया था तो आज वही करनाल स्टेट विजिलेंस टीम के हत्थे पंचायती राज विभाग का एक जेई चढ़ गया है। जेई को करनाल विजिलेंस टीम के इंस्पेक्टर प्रवीण कुमार ने आरोपी के खिलाफ रणनीति बनाकर जेई आनंद प्रकाश जिसकी उम्र लगभग 53 वर्ष है। आरोपी को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

15 हजार रुपये की रिश्वत मांगी

मामले की जानकारी देते हुए करनाल स्टेटस विजिलेंस टीम के इंस्पेक्टर सचिन कुमार ने बताया कि आरोपी जेई ने शिकायतकर्ता नरेश कुमार जो कि पंचायती राज विभाग करनाल में कांट्रेक्टर का कार्य करता है। शिकायतकर्ता से आरोपी ने उसके द्वारा विभाग में किए गए निर्माण कार्य का बिल पास करवाने और बनवाने के लिए 15 हजार रुपए की रिश्वत की मांग की थी। जिसकी शिकायत शिकायतकर्ता ने विजिलेंस की टीम को दी।

विजिलेंस की टीम ने आरोपी जेई को काबू में लिया

विजिलेंस की टीम ने अपने हिसाब से नोट तैयार किए और उन सभी नोटों के नंबर नोट किए। जिसके बाद उन्होंने नरेश कुमार को नोटों का पैकेट दिया ताकि जब जेई को यह पैकेट मिले तो विजिलेंस की टीम उसे रंगे हाथो पकड़ सके। इसके बाद नरेश कुमार आरोपी जेई की बताई हुई जगह पर पहुंचा, जहां पर उसने जेई को 15 हजार की नकदी थी और तुरंत ही विजिलेंस की टीम ने आरोपी जेई को काबू कर लिया।

विजिलेंस की टीम ने आरोपी जेई के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। अब आरोपी को मंगलवार को माननीय कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा, ताकि खुलासा हो सके कि भ्रष्टाचार के इस मामले में सिर्फ जेई ही शामिल है या फिर कोई बड़ा अधिकारी भी लिप्त है।

सचिन कुमार ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि यदि कोई भी सरकारी अधिकारी रिश्वत की मांग करता है तो उसकी सूचना तुरंत विजिलेंस टीम करनाल को दें जिस पर निश्चित तौर पर कार्रवाई की जाएगी।

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular