HomeहरियाणाकैथलEye Donation After Death: मरकर भी दुनिया देखेंगी स्वर्गीय कौशल्या देवी की...

Eye Donation After Death: मरकर भी दुनिया देखेंगी स्वर्गीय कौशल्या देवी की आंखें

स्वर्गीय कौशल्या देवी ने नेत्रदान कर अंधेरे से उजाले की ओर चलने की दी प्रेरणा

मनोज वर्मा, कैथल:

Eye Donation After Death:  श्री नर नारायण सेवा समिति कैथल के सहयोग से कौशल्या देवी के परिवारजनों ने उनकी मृत्यु उपरांत उनके दोनों नेत्र जरूरतमंदों को सौंप दिए व अंधकारमय जीवन को नई दिशा दिखाइ। उन्होंने समिति के माध्यम से अपने दोनो नेत्रों को जरूरतमंद तक पहुंचाने के लिए स्वीकृति दी हुई थी। आज उनके परिवार ने मृत्यु उपरांत सकारात्मक सोच के साथ नेत्रों को आई बैंक के हवाले कर दिया।

माताजी की दोनों आंखों को दो चुटकी मिट्टी नहीं बनाना है

स्वर्गीय माता जी के सुपुत्र प्रदीप कुमार, अनिल कुमार, संजीव कुमार, अग्रवाल वैश्य समाज जिलाध्यक्ष सुशील बिन्दलिश का यह मानना है कि, माताजी की दोनों आंखों को दो चुटकी मिट्टी नहीं बनाना है, बल्कि दो परिवारों के अंधकारमय जीवन को रोशन करना है। अत: अब उनकी आंखें दो परिवारों को रोशन करने में मददगार रहेंगी। जैसा कि हम सभी जानते हैं, इस संसार में बहुत से लोग नेत्रहीन हैं और उनके जीवन में रोशनी लाने का प्रयास नेत्रदान महादान से ही संभव है।

समिति ने माता जी के निधन पर गहरी संवेदनाएं व्यक्त की

आंखें इस सुंदर दुनिया को न ही सिर्फ देखने बल्कि उस खूबसूरती को अपने अंदर उतारने में भी काम आती हैं।  समिति ने माता जी के निधन पर गहरी संवेदनाएं व्यक्त की और यह कामना की कि, इस पुण्य आत्मा का फला फूला परिवार उनके नाम की खुशबू इसी प्रकार समाज में बिखेरता रहे। आज के इस मानवीय कार्य में सेवा संघ कैथल व डॉ दीपक गर्ग का सहयोग सराहनीय रहा। समिति की तरफ से राजेश गोयल, राजेश गर्ग ने इस महा सेवा को करवाने के साथ साथ परिवारजनों को गहरी संवेदनाएं व्यक्त की व उनका नेक कार्य के लिए हृदय से आभार व्यक्त किया।

Read Also: Deputy CM Statement: उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने खोली प्रदेश के युवाओं के लिए रोजगार की नई राहें : शुभम गुप्ता

Also Read : ये है IPL 2022 में पंजाब किंग्स शेड्यूल का पूरा शेड्यूल

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular