Homeहरियाणाकैथलजन शिक्षा अधिकार मंच का धरना आज हुआ 70वें दिन में प्रवेश

जन शिक्षा अधिकार मंच का धरना आज हुआ 70वें दिन में प्रवेश

मनोज वर्मा,कैथल:
जन शिक्षा अधिकार मंच का पड़ाव कार्यक्रम जिला सचिवालय परिसर में 70 वें दिन में प्रवेश कर गया । आज के पड़ाव की अध्यक्षता मास्टर रिसाल सिंह व पूर्व कर्मचारी नेता जगरूप सहारण ने की। उन्होंने कहा कि राज्य में केंद्र सरकार राष्ट्रवादी और देशभक्त होने की आए दिन दुहाई दे रही है। जो सत्तासीन सरकार देश के सार्वजनिक दायरे को कौडिय़ों के भाव पूंजीपतियों व कारपोरेटों के हवाले कर रही है व बेच रही है, वह कैसे देश भगत व राष्ट्रवादी हो सकती है। उन्होंने यह भी कहा कि आजादी के आंदोलन के चलते आत्मनिर्भर भारत व समृद्ध भारत के लिए लाखों लोगों ने कुर्बानी दी, काले पानी की सजा तथा कॉल कोठियों में तिल तिल कर के मरे।

बेरोजगारी की ओर जा रहा है धकेला

आज उनके सपनों को चकनाचूर किया जा रहा है व सब कुछ धन्ना सेठों के हवाले किया जा रहा है। आम जनता के लिए जो शिक्षा संस्थान अस्पताल राज्य व राष्ट्रीय हाईवे रेल बिजली संस्थान व सरकारी कंपनियां व संस्थान खड़े किए गए थे उन सब को बर्बाद किया जा रहा है व सुविधाओं से वंचित कर बेरोजगारी की ओर धकेला जा रहा है। इस अवसर पर किसान नेता अजमेर सिंह धनोरी व सतपाल दिललोवाली ने भी बातचीत रखी व कहा कि वह 10 दिसंबर को जन शिक्षा अधिकार मंच के कैथल में होने वाले प्रदर्शन में बड़ी संख्या में शामिल होंगे। साथ ही उन्होंने जिला प्रशासन व सरकार से यूरिया खाद की आपूर्ति करने धनोरी व बरटा गांव की पानी व प्राकृतिक प्रकोप से बर्बाद हुई फसलों की स्वीकृत मुआवजा राशि जारी करने, बिजली विधेयक को वापस लेने तथा किसानों को कर्जा मुक्त करने की मांग भी की। मास्टर राम शरण राविश व किसान नेता लाल सिंह खेड़ी सिंबल ने भी सभा को संबोधित किया व कहा कि सरकारें जनसेवा की योजनाएं बनाएं व लागू करें। कागजी योजनाओं से जनता की तकलीफें दूर नहीं होती। ठोस योजनाएं लागू हो व बेरोजगारी के लिए रोजगार की स्थाई व्यवस्था बने। आज हरियाणा में 1 लाख बयासी हजार खाली पद अलग-अलग विभागों में रिक्त पड़े हैं उन पर भर्ती की योजना बने। हरियाणा कौशल रोजगार निगम बंद किया जाए। यह सारी उम्र कच्ची भर्ती का निगम है व शोषणकारी है।

आज के कार्यक्रम में ये सभी शामिल

आज के कार्यक्रम में कलीराम, सुखपाल,बलवंत धनोरी, शमशेर तितरम, रणधीर ढूंढवा, रघुबीर, रामपाल, रोहताश, महेंद्र धनोरी, बलजीत नैन, रामपाल रती, वीरभान, बहादुर सिंह, राम दिया सरपंच, हवा सिंह, अशोक शर्मा, महेंद्र सिंह किसान सभा, चंद्रभान, भीरा, धीरा आदि भी शरीक हुए।

ये भी पढ़ें : जिला मुख्यालय पर आयोजित गीता महोत्सव प्रोग्राम में सूरज स्कूल बलाना की पिहू ने मचाया धमाल

ये भी पढ़ें : हकेवि में विज्ञान और अनुसंधान के परिप्रेक्ष्य में नैतिकता पर विशेषज्ञ व्याख्यान आयोजित

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular