Haryana Roadways Workers Union : अनिल कुंडू बने पानीपत डिपो के प्रधान व सुलतान मलिक बने सचिव 

0
138
Aaj Samaj (आज समाज),Haryana Roadways Workers Union,पानीपत : हरियाणा रोडवेज वर्कर्स यूनियन सम्बन्धित सर्व कर्मचारी संघ डिपो पानीपत मे 4 मई को यूनियन का 17वां त्रिवार्षिक चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न हुआ था। नवनिर्वाचित यूनियन पदाधिकारियों का शपथ समारोह का आयोजन 23 मई को रोडवेज कर्मशाला पानीपत में किया गया। आयोजन की अध्यक्षता पूर्व डिपो प्रधान सुलतान मलिक व संचालन पूर्व सचिव सुभाष योगी ने किया। प्रदेश कोषाध्यक्ष ने 15 सदस्यीय कार्यकारिणी को शपथ दिलाई। इस मौके पर सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के जिला कोषाध्यक्ष कश्मीरी सिंह महासचिव शिव कुमार विषेश रूप से उपस्थित रहे।

नये चुने गए यूनियन पदाधिकारियों व सदस्यों के नाम 

प्रधान – अनिल कुंडू
वरिष्ठ उपप्रधान – सुभाष योगी
उप प्रधान – संदीप रुहल, संदीप मलिक, सोमबीर दहिया
सचिव – सुलतान मलिक
सह सचिव – सुखबीर देशवाल
कोषाध्यक्ष – संदीप
ऑडिटर – जसबीर गुज्जर
चेयरमैन – बीरभान सिंह
मुख्य सलाहकार – राजबीर मास्टर
संगठन सचिव – मुलतान सिंह
प्रेस सचिव – अनूप मलिक
कार्यालय सचिव – तेजवीर दहिया
तथा सतीस भठ्ठी, धर्मबीर लठवाल, राकेश जागलान, नरेन्द्र, संदीप जौंधन को कार्यकारिणी सदस्य बनाया गया।
  • पानीपत डिपो के कर्मचारी भारी संख्या में 28 मई को जींद रैली में पहुंचेंगे

रोडवेज कर्मचारियों में भारी रोष 

इस मौके पर संघ नेता डा. सुरेन्द्र मलिक, कश्मीरी सिंह, शिव कुमार ने 28 मई को सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा की जींद में होने वाली रैली में भाग लेने का आह्वान किया और सरकार की जनविरोधी नीतियों की जमकर आलोचना की। यूनियन के प्रदेश कोषाध्यक्ष राजपाल ने कहा 10 मार्च को सरकार के साथ हुई बातचीत में परिवहन मंत्री ने अनेक मांगों को मानने पर सहमति जताई थी, परन्तु केवल ओवर टाइम लागू करने के अलावा किसी भी मांग पर सरकार ने कार्रवाई को आगे नहीं बढ़ाने से रोडवेज कर्मचारियों में भारी रोष है।

28 मई को जींद रैली में बढ़ -चढ़ कर भाग लेंगे

उन्होंने कहा बातचीत में सहमति अनुसार कर्मचारियों के अर्जित अवकाश में कटौती नहीं करने, परिचालकों व लिपिकों का वेतनमान 35400 लागू करने, कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, विभाग में कौशल रोजगार निगम की बजाए एचएसएससी से पक्की भर्ती करने, 5000 रूपए जोखिम भत्ता देने, चालक, स्टोर कीपर व कैशियर आदि पदों की वेतन विसंगति दूर करने,1992 से 2003 के मध्य भर्ती कर्मचारियों को नियुक्ति तिथि से पक्का करने, पुरानी पेंशन बहाल करने, निजीकरण पर पूर्ण रोक लगाने व बढ़ती आबादी अनुसार विभाग में 10 हजार सरकारी बसें शामिल करने, साबुन, रात्रि भत्ता, वर्दी व जूतों का भत्ता बढ़ाने, ग्रुप डी कर्मचारियों को कोमन कैडर से बहार करने, कर्मशाला कर्मचारियों को पहले की तरह राजपत्रित अवकाशों का भूगतान करने आदि अनेक मांगों को लेकर प्रदेश के हजारों रोडवेज कर्मचारी सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के आह्वान पर 28 मई को जींद रैली में बढ़ -चढ़ कर भाग लेंगे।
SHARE