गगन बावा, गुरदासपुर:
Kayakalp scheme  : कायाकल्प योजना के तहत सिविल अस्पताल गुरदासपुर, सीएचसी नौशहरा मज्झा सिंह और गुन्नोपुर को पहला पुरस्कार मिला है। इस संबंध में जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डॉ. हरभजन राम ने बताया कि श्री अमृतसर में आयोजित समागम के दौरान डिप्टी सीएम ओपी सोनी ने अस्पताल के स्टाफ को सम्मानित किया। इस मौके पर डॉ रोमी महाजन डिप्टी मेडिकल कमिश्नर और एसएमओ डॉक्टर चेतना शर्मा मौजूद थे। सिविल सर्जन ने कहा कि यह पुरस्कार पाने के लिए सेहत विभाग की पूरी टीम ने एकजुट होकर काम किया और कायाकल्प प्रोग्राम के तहत अस्पतालों में हर तरह की सफाई में बहुमूल्य योगदान डाला। उन्होंने बताया
कि अस्पताल में अंदरूनी और बाहरी साफ सफाई जैसे वार्डो की सफाई और कांप्लेक्स आदि की सफाई शामिल है।
यह है कायाकल्प योजना :

सिविल अस्पतालों में सफाई व्यवस्था (Kayakalp scheme) 

केंद्र व पंजाब सरकार द्वारा सिविल अस्पतालों में सफाई व्यवस्था व रोगियों के रख-रखाव को सही करने के लिए कायाकल्प अभियान की शुरुआत चार साल पहले की गई थी। योजना का मुख्य उद्देश्य अस्पतालों में साफ सफाई और इन्फेक्शन पर कंट्रोल को बढ़ावा देना है। इसके अलावा अस्पताल में आने वाले मरीजों को आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध करवाना है। अस्पताल के स्टाफ में साफ-सफाई और सैनिटेशन को बढ़ावा देना है। इसके तहत अस्पतालों में सफाई सही रखना, रोगियों के रख-रखाव व उनके साथ अच्छा व्यवहार के अलावा स्टाफ को सारा काम प्रैक्टीकली आता है या नहीं शामिल है।

कम्यूनिटी हैल्थ सेंटर और प्राइमरी हैल्थ सेंटर(Kayakalp scheme) 

इस अभियान के तहत साल में अस्पतालों की तीन बार चेकिंग की जाती है और तीनों के अंक मिलाकर किसी एक अस्पताल को पहला स्थान दिया जाता है। योजना के तहत पूरे प्रदेश में से सबसे बढ़िया दो जिला अस्पतालों का चुनाव किया जाता है। इसके अलावा दो सबसे बढ़िया कम्यूनिटी हैल्थ सेंटर और एक प्राइमरी हैल्थ सेंटर को चुना जाता है। योजना के तहत अस्पताल को नंबर देते समय सुविधाओं साफ सफाई, वेस्ट मैनेजमेंट, इन्फेक्शन कंट्रोल, स्टाफ के व्यवहार आदि को ध्यान में रखा जाता है।