Homeराज्यपंजाबशरायण एकेडमी बंगा ने मनाई जलियाबाला बाग के साके की 103 वीं...

शरायण एकेडमी बंगा ने मनाई जलियाबाला बाग के साके की 103 वीं वर्षगांठ Anniversary of Jallianwala Bagh

जगदीश,नवांशहर:
Anniversary of Jallianwala Bagh: रोटरी क्लब बंगा आस्था के सहयोग से श्ररायण  एकेडमी बंगा में  जंगे आज़ादी की लड़ाई में अमृतसर के क्रांतिवीरों द्वारा दिए गए सहयोग तथा जलियांवाला बाग के साके की घटना  को नई पीढ़ी तक पहुंचाने के लिए एक दिवसीय वर्कशाप का आयोजन किया गया । जंगे आज़ादी सम्बन्धी  वर्कशाप  कार्यक्रम की अध्यक्षता रोटरी क्लब बंगा आस्था के प्रधान दलजीत सैनी ने की ।जबकि इस कार्यक्रम के मुख्य वक्ता प्रो जगदीश आचार्य रहे । समागम में गेस्ट ऑफ ऑनर रहे कलवंत राज बब्बर तथा डॉ अवनीत बब्बर रहे।

हजारों में महिला बच्चे बुजुर्ग तथा नौजवान जनरल डायर की निरंकुशता का शिकार बने

क्लब के प्रधान दलजीत सैनी ने कहा कि 103 वर्ष पहले 13 अप्रैल 1919 को जलियांवाला बाग में  चल रही सियासी गुफ्तगू कर रहे जंगे आजादी के दीवानों पर जनरल डायर ने अंधाधुंध गोलियां चलाकर निहत्थे भारतीयों की निरंकुश हत्या की । हजारों में महिला बच्चे बुजुर्ग तथा नौजवान जनरल डायर की निरंकुशता का शिकार बने । 1947 में भारत को आजाद होने के बाद भारत की सरकार ने जंगे आज़ादी में बलिदान होने वाले नायकों की स्मृतियों में विभिन्न विभिन्न स्थानों पर स्मारक बनवाए उन स्मारकों में जलियांवाला बाग के शाक्य का स्मारक भी । आज भी जब लोग इस मार्ग को देखते हैं तो उनकी रूह कांप उठती है ।

अमृतसर को जानो पहेली माध्यम से प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम करवाया Anniversary of Jallianwala Bagh

उधर इस कार्यक्रम के मुख्य वक्ता प्रो जगदीश आचार्य ने जलियावाला बाग की घटना तथा बाल उधमसिंह के संकल्प के अलावा अलावा सैफुद्दीन किचलू ,सतपाल , मदन लाल ढींगरा लाला लाजपत राय,के अलावा सैंकड़े अमृतसर निवासी बलिदानी सपूतों के बलिदान प्रेरणा तथा जलने वाले बाग की घटना से उनका सम्बन्ध को एक सूत्र में पिरोकर नई पीढ़ी को  भारत के गौरव बलिदानी इतिहास के साथ जोड़ा । इस मौके पर बच्चों को अमृतसर को जानो पहेली माध्यम से प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम करवाया गया ।जिसमें बच्चों से अमृतसर के इतिहास जलियांवाला बाग की घटना श्री हरमंदिर साहब से जुड़े सवालों का मुक़ाबला करवाया गया । मुझे तो बच्चों को पुरस्कृत किया गया ।इस मौके पर बलविंदर कौर मनदीप कौर राजविन्द्र कौर हरजिंदर सिंह मौजूद रहे ।
Connect With Us : Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular