Homeराज्यपंजाबAdolescent Education Program: किशोरावस्था एक बहुत ही नाजुक दौर : राजेश्वर सलारीया

Adolescent Education Program: किशोरावस्था एक बहुत ही नाजुक दौर : राजेश्वर सलारीया

किशोरावस्था शिक्षा कार्यक्रम की जिला स्तरीय प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित Adolescent Education Program

आज समाज डिजिटल, पठानकोट:
Adolescent Education Program: एवलाॅन सीनियर सेकेंडरी स्कूल पठानकोट में किशोरावस्था शिक्षा कार्यक्रम की जिला स्तरीय प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन उप जिला शिक्षा अफसर सेकेंडरी राजेश्वर सलारीया की अध्यक्षता में किया गया।(Adolescent Education Program) इस कार्यशाला में सेवानिवृत्त जिला शिक्षा अधिकारी रविन्द्र शर्मा  मुख्यातिथि के तौर पर  जबकि डॉ. बिंदु गुप्ता, डॉ. ओ.पी विग, डॉ. रूपिंदर कौर, डॉ. अर्पणा गोयल व शिवानी पठानीया ने विशेष अतिथि के रूप में शिरकत की। इस मौके पर जिले के 154 स्कूलों के प्रिंसिपलों, हैडमास्टरों और अध्यापकगणों को किशोरावस्था से संबंधित शरीरक एवम मानसिक बदलाव, नशीले पदार्थों के सेवन के दुष्प्रभावों, एड्स और सेहत शिक्षा के बारे में प्रक्षिशित किया गया।

किशोरावस्था में बच्चे को अधिक मार्गदर्शन की आवश्यकता : राजेश्वर Adolescent Education Program

Adolescent Education Program

उप जिला शिक्षा अफसर सेकेंडरी राजेश्वर सलारीया ने बताया कि यह कार्यशाला एससीईआरटी पंजाब के दिशा-निर्देशों के अंतर्गत माध्यमिक, उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों के विद्यार्थियों के लिए है और विद्यार्थियों को जीवन कौशल प्राप्त करने में सहायता प्रदान करने में प्रयास है, ताकि वे जीवन में उचित निर्णय ले सकें।(Adolescent Education Program)उन्होंने कहा कि किशोरावस्था एक बहुत ही नाजुक दौर होता है जिसमें बच्चे को अधिक मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है तथा अध्यापक की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होती है। उन्होंने अध्यापकों से आह्वान किया कि वे अपने स्कूलों में पढ़ रहे छात्रों से उनकी समस्याओं के बारे में मित्रता पूर्ण व्यवहार कर जानकारी प्राप्त कर उनका निवारण करें। इस अवसर पर बलबीर सिंह, हरिंदर सैनी, मनीशा, रमेश शर्मा आदि उपस्थित थे।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular