Homeहरियाणायमुनानगरजानू हत्याकांड के मुख्य आरोपी नहीं पकड़े गए तो दलित समाज सड़कों...

जानू हत्याकांड के मुख्य आरोपी नहीं पकड़े गए तो दलित समाज सड़कों पर होगा : राजेंद्र वाल्मीकि Murder Of Janu

प्रभजीत सिंह लक्की, यमुनानगर :

Murder Of Janu: चुना भट्टी निवासी जानू वाल्मीकि हत्याकांड में उसके परिजनों ने पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए । आरोप है कि जानू की हत्या पुलिस की नाकामी की वजह से हुई । मंगलवार को जानू के पिता राजेंद्र वाल्मीकि ने पत्रकारवार्ता कर कहा कि अगर जल्द ही मुख्य आरोपी सचिन पंडित, सुमित राणा और सैंटी जाट नहीं पकड़े गए तो पूरे देश का दलित समाज सड़क पर होगा । बाजार बंद कराए जाएंगे और आंदोलन होगा ।

Read Also: राजा वडिंग पहुंचे लुधियाना , की पूर्व विधायकों से मुलाकात पार्टी को फिर से किया जाएगा मजबूत: भारत भूषण आशु Raja Vading Reaches Ludhiana

पुलिस लापरवाही से गई मेरे दोनों बेटे की जान : राजेंद्र वाल्मीकि (Murder Of Janu)

इसका फैसला जल्द होगा । इस पर देश भर के दलित नेताओं से बात चल रही है । राजेंद्र ने कहा कि वारदात को पांच दिन हो गए हैं, लेकिन भी तक मुख्य आरोपियों को पुलिस नहीं पकड़ पाई । पुलिस उसे कह रही है कि वे घर के अंदर ही रहे । लेकिन बदमाशों को कब तक पकड़ा जाएगा यह नहीं बताया जा रहा । राजेंद्र ने बताया कि जब उसके बेटे जानू पर 30 दिसंबर को हमला हुआ तो पुलिस ने उनके घर पर पुलिस की गार्द लगाई थी । लेकिन कुछ दिनों के बाद उसे बिना कारण बताए हटा दिया । इतना ही नहीं उन्हें सिर्फ एक गनमैन दिया । इसके साथ ही उन्होंने असले के लिए अप्लाई किया हुआ था, उन्हें असला तक नहीं दिया गया । इस तरह से पुलिस ने लापरवाही की । राजेंद्र ने बताया कि मुख्य आरोपी कई दिन से उसके बेटे और उसकी रैकी कर रहे थे । पुलिस ने भी कहा कि वारदात रैकी कर की गई । उनका कहना है कि उसके छोटे बेटे रमन की जेल में मौत हुई थी । उस मामले को लेकर वे सीएम को एक बार मिले थे । तब आश्वासन मिला था कि इस मामले में एसआईटी बनाई जाएगी । लेकिन एसआईटी आज तक नहीं बनी । सीएम को इसके बाद भी मिलने के लिए संपर्क किया, लेकिन उन्हें समय नहीं दिया गया । उनका कहना है कि रमन की मौत भी एक साजिश थी ।

15 से 20 युवकों ने किया हमला (Murder Of Janu)

यह है पूरा मामलाः विश्वकर्मा मोहल्ला में किराए पर रहने वाले पंजाब निवासी मोहित शर्मा की शिकायत पर भाटिया नगर निवासी मनोज उर्फ शैंटी, सुढैल निवासी सचिन पंडित, गांव उन्हेड़ी निवासी सुमित को नामजद करते हुए 15-20 अन्य पर केस दर्ज किया था । मोहित ने पुलिस को शिकायत दी थी कि 15 अप्रैल की रात को वह अपने दोस्त जानू, बॉबी, आकाश उर्फ शानू और रजत के साथ दोस्त रौनक कालड़ा की शादी में विंटेज ग्रिल पैलेस जगाधरी में गया था । रात पौने एक बजे पैलेस से बाहर निकल कर अपनी कार में बैठने लगे तो 15 से 20 युवक हथियार लेकर वहां पर आ गए और हमला कर दिया । हमला करने में भाटिया नगर निवासी मनोज उर्फ शैंटी, सुढैल निवासी सचिन पंडित, गांव उन्हेड़ी निवासी सुमित समेत अन्य थे ।

जानू के पेट और अन्य जगह पर मारी गोलियां (Murder Of Janu)

हमलावरों में से एक युवक ने उसकी दोनों टांग पर गोलियां मारी । इसके बाद हमलावरों ने जानू को जाति सूचक शब्द कहते हुए कहा कि पिछली बार बच गया था । इस बार नहीं छोडेंगे । जानू के पेट और अन्य जगह पर गोलियां मारी । वह वहीं पर गिरकर बेहोश हो गया । वहीं आरोपियों ने वहां से गुजर रहे सिटी सेंटर रोड निवासी रजत कौशल और अनमोल को भी गोली मारी । हमलावर उसे मरा हुआ समझ कर वहां से गोलियां चलाते हुए भाग गए । वहीं सचिन पंडित कहकर गया कि जो इस बार बच गए हैं उन्हें अगली बार जान से मारा जाएगा । बाद में शादी समारोह में आए लोगों ने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया । वहां पर जानू को मृत घोषित कर दिया । गुस्से लोगों ने भगत सिंह चौक जाम लगा दिया था।

Connect With Us : Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular