Homeहरियाणायमुनानगरकिराया जमा न कराने पर निगम ने की 14 दुकानें सील, प्रॉपर्टी...

किराया जमा न कराने पर निगम ने की 14 दुकानें सील, प्रॉपर्टी टैक्स धारकों की संपत्ति सील करने की तैयारी

प्रभजीत सिंह लक्की, यमुनानगर :

  • 28.74 लाख रुपये बकाया था दुकानदारों पर किराया, निगम ने तीन नोटिस देने के बाद की सीलिंग कार्रवाई
  • बकाया किरायेदारों के बाद अब प्रॉपर्टी टैक्स धारकों की संपत्ति होगी सील

बकाया किराया जमा न कराने वालों पर शनिवार को नगर निगम की गाज गिरी। शनिवार अलसुबह ही निगम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए बकाया किराया न देने पर 14 दुकानें सील कर दी। इनमें नौ दुकानें जगाधरी वर्कशॉप रोड, दो सिटी सेंटर मार्केट, एक बस स्टैंड व एक मीट मार्केट में सील की गई। इन दुकानों पर नगर निगम का लगभग 28.74 लाख रुपये बकाया था। सील की गई दुकानों के किरायेदारों को निगम द्वारा कई बार नोटिस देकर चेतावनी दी गई थी। लेकिन उन्होंने बकाया किराया जमा नहीं कराया। जिसके बाद निगम द्वारा सीलिंग की कार्रवाई की गई। दुकान सील होने की कार्रवाई से दुकानदारों में हड़कंप मच गया। कार्रवाई के बाद पांच दुकानदारों ने अपना किराया जमा करवाकर दुकान की सील खुलवा ली। बकाया किरायेदारों के बाद बकाया प्रॉपर्टी टैक्स धारकों की प्रॉपर्टी को निगम ने सील करने की तैयारी कर ली है।

हरियाणा नगर निगम अधिनियम 1994 की धारा 408ए (2) के तहत किराया जमा न कराने पर बीती सात अक्टूबर को 22 दुकानदारों को अंतिम नोटिस जारी किया था। लेकिन इसके बाद भी इन दुकानदारों ने किराया जमा नहीं कराया। इन दुकानों की सील करने के लिए नगर निगम आयुक्त आयुष सिन्हा के निर्देशों पर क्षेत्रीय कराधान अधिकारी अजय वालिया के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। टीम में सहायक देशराज, मनोज, रजत, नितिन त्यागी, असलम व होमगार्ड के जवानों को शामिल किया गया। शनिवार अलसुबह करीब पौने छह बजे यह टीम सबसे पहले जगाधरी वर्कशॉप रोड पर पहुंची। यहां दुकान नंबर तीन, चार, दो बी, तीन बी, चार बी, 42, 51, 52, 53 व 84 को सील किया। सील करने के बाद दुकानों पर नोटिस चस्पाया गया। जिसे फाड़ने पर कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी गई। इसके बाद निगम की टीम ने बस स्टैंड पर दुकान नंबर 11 और मीट मार्केट में दुकान नंबर 26 को सील किया। इसी तरह सिटी सेंटर रोड पर दुकान नंबर 14 व 16 को सील कर दिया गया। उप निगम आयुक्त अशोक कुमार व क्षेत्रीय कराधान अधिकारी अजय वालिया ने बताया कि इन बकायेदारों पर निगम द्वारा मार्च, जुलाई व अक्टूबर माह में नोटिस जारी किए थे। लेकिन इन्होंने किराया जमा नहीं कराया। जिसके बाद सीलिंग की कार्रवाई की गई।

ये दुकानें की गई सील

दुकान – मार्केट – किराया

  • 03 वर्कशॉप रोड – 50199
  • 04 वर्कशॉप रोड – 72089
  • 2 बी वर्कशॉप रोड – 85058
  • 3 बी वर्कशॉप रोड – 51837
  • 4 बी वर्कशॉप रोड – 51460
  • 42 वर्कशॉप रोड 110057
  • 51 वर्कशॉप रोड – 639038
  • 52 वर्कशॉप रोड – 534335
  • 53 वर्कशॉप रोड – 515826
  • 84 वर्कशॉप रोड – 176820
  • 14 सिटी सेंटर रोड – 103500
  • 16 सिटी सेंटर रोड – 182816
  • 11 बस स्टैंड – 219170
  • 26 मीट मार्केट – 81700

दुकानदारों में मचा हड़कंप, पांच ने जमा कराया किराया

सीलिंग कार्रवाई के बाद दुकानदारों में हड़कंप मच गया। दुकानों की सील खुलवाने के लिए कई दुकानदार निगम कार्यालय पहुंचे। यहां जगाधरी वर्कशॉप रोड की दुकान नंबर दो बी, तीन बी, चार बी, 42 व 84 के दुकानदारों ने अपना बकाया किराया जमा कराया। जिसके बाद निगम द्वारा दुकानों की सील को खोल दिया। उप निगम आयुक्त अशोक कुमार ने बताया कि दुकानदार अपनी दुकान को किराया जमा करवाकर दुकान की सील खुलवा सकते है।

किरायेदारों के बाद अब बकाया प्रॉपर्टी टैक्स धारकों की होगी संपत्ति सील

नगर निगम द्वारा शनिवार को 22 बकाया किरायेदारों में 14 दुकानों को सील किया गया। यदि बची हुई दुकानों के बकाया किरायेदारों ने जल्द किराया जमा नहीं कराया तो उन्हें भी जल्द ही सील किया जाएगा। बकाया किरायेदारों के बाद नगर निगम बकाया प्रॉपर्टी टैक्स धारकों की संपत्ति को सील करेगा। निगम की इसकी भी पूरी तैयारी कर ली है। मेयर मदन चौहान, अतिरिक्त निगमायुक्त धीरज कुमार व उप निगमायुक्त अशोक कुमार ने प्रॉपर्टी टैक्स धारकों से अपील की है कि 31 दिसंबर तक प्रॉपर्टी टैक्स पर ब्याज माफी की स्कीम चल रही है। इस योजना का लाभ उठाकर प्रॉपर्टी टैक्स धारक अपना बकाया प्रॉपर्टी टैक्स जमा करवाए और संपत्ति सील होने से बचाएं।

ये भी पढ़े: अंबेडकर जी ने रूढ़िवादिता का विरोध किया एवं समानता पर बल दिया : डा. एसके चहल

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular