Homeहरियाणारोहतकफर्जी निकली 15 लाख की लूट, आभूषण व्यापारी समेत छह गिरफ्तार

फर्जी निकली 15 लाख की लूट, आभूषण व्यापारी समेत छह गिरफ्तार

संजीव कौशिक, रोहतक:
रोहतक शहर के छोटूराम चौक पर बुधवार की रात हुई 15 लाख की लूट की वारदात फर्जी निकली। सीसीटीवी फुटेज की जांच के बाद पुलिस ने खुलासा किया कि मामला रोडरेज (सड़क पर ड्राइविंग का झगड़ा) का निकला।

झूठी सूचना देकर उलझाया था पुलिस को

पुलिस ने पुलिस को झूठी सूचना देने पर आभूषण व्यापारी नेता बहादुरगढ़ निवासी अनिल वर्मा व उसके साथी नरेंद्र व दूसरे पक्ष के चार युवकों डेयरी मोहल्ला निवासी दीपक, शिव कॉलोनी निवासी मंजीत, इंद्रगढ़ निवासी मोहित व शिव कॉलोनी निवासी जगदीप को गिरफ्तार कर लिया है। एएसपी कृष्ण कुमार ने बताया कि बुधवार रात को सूचना मिली थी कि छोटूराम चौक पर अनिल वर्मा नाम के आभूषण व्यापारी से 15 लाख की लूट हो गई है। पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची, उस समय भीड़ जमा थी। पुलिस की एक पीसीआर भी पहुंची। व्यापारी नेता अनिल वर्मा निवासी बहादुरगढ़ के बयान दर्ज करने का प्रयास किया, लेकिन उसने सुबह तक लिखित शिकायत नहीं दी। जब उससे पूछताछ की गई तो उसने कहा कि उसके साथ कोई लूट नहीं हुई। इसके चलते पुलिस ने उसे साथी सहित गिरफ्तार कर लिया गया। जबकि दूसरे पक्ष के चार युवकों को व्यापारी की गाड़ी को बार-बार टक्कर मारने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

स्कूटी सवारों को धमकाने पर था झगड़ा

एएसपी ने बताया कि जांच में पता चला है कि जब आभूषण व्यापारी अनिल वर्मा छोटूराम चौक पर पहुंचे तो उनकी गाड़ी के आगे से स्कूटी सवार कुछ युवक निकले। अनिल वर्मा ने उनको हड़काना शुरू कर दिया। कार सवार दूसरे युवक स्कूटी सवार युवकों के बचाव में आ गए। दोनों पक्षों में झगड़ा हो गया। एक युवक ने अनिल वर्मा की गाड़ी के बोनट पर मुक्का मार दिया। इसका वर्मा ने विरोध किया तो युवकों ने उसकी गाड़ी को अपनी गाड़ी से टक्कर मार दी। इसके बाद मौके से फरार हो गए।

पुलिस के पहुंचने से पहले जा चुका था एक पक्ष

एएसपी रोहतक कृष्ण कुमार लोहचब ने बताया कि बुधवार को पुलिस के ऊपर आरोप लगे कि घटना के समय पुलिस की एक गाड़ी मौके पर थी। इस पर एएसपी ने बताया कि जब पुलिस की गाड़ी पहुंची तो दूसरा पक्ष जा चुका था। केवल व्यापारी अनिल वर्मा पक्ष ही मौके पर था। छोटूराम चौक पर 15 लाख की लूट की वारदात फर्जी निकली। मामला रोडवेज की मामूली घटना के बाद हुआ झगड़ा था। फर्जी सूचना देने के आरोप में व्यापारी अनिल वर्मा व उसके साथी नरेंद्र को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि दूसरे पक्ष से कार को टक्क्कर मारने व झगड़ा करने के आरोप चार युवकों दीपक, मंजीत, मोहित व जगदीप को गिरफ्तार किया है, जो रोहतक के ही रहने वाले हैं। फर्जी सूचनाएं देने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। क्योंकि इससे पुलिस का समय बर्बाद होता है। साथ ही गश्त प्रभावित होती है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular