Homeहरियाणारोहतकएमडीयू में संस्कृत के विद्यार्थियों के लिए व्याख्यान Lecture For Sanskrit Students...

एमडीयू में संस्कृत के विद्यार्थियों के लिए व्याख्यान Lecture For Sanskrit Students In MDU

संजीव कौशिक, रोहतक:
Lecture For Sanskrit Students In MDU : महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के संस्कृत, पालि और प्राकृत विभाग में आज करियर काउंसिलिंग एवं प्लेसमेंट सेल एवं एलुमनी सेल के तत्वावधान में व्याख्यान किया। यूएसए के प्रतिष्ठित योग शिक्षक और पौरिहित्य कर्म विशेषज्ञ तथा संस्कृत विभाग के एलुमनी डा. अमरजीत शास्त्री ने बतौर विशिष्ट वक्ता यह व्याख्यान दिया।

Read Also :  बोर्ड को आठवीं की परीक्षा के नाम पर स्कूलों को रजिस्ट्रेशन व् शुल्क देने की जरुरत नहीं : डॉ. वरुण जैन Schools Do Not Need To Register And Pay Fees: Dr. Varun Jain

इस दौर में संस्कृत के विद्यार्थियों के लिए रोजगार अपार (Maharishi Dayanand University)

डा. अमरजीत शास्त्री ने अपने प्रभावीशाली संबोधन में कहा कि ई-वैश्वीकरण के इस दौर में संस्कृत के विद्यार्थियों के लिए रोजगार की अपार संभावनाएं हैं। उन्होंने नासा की संस्कृति में बढ़ती हुई रूचि का भी  संकेत देते हुए कहा कि संस्कृत विश्व की प्राचीनतम भाषा है। (Lecture For Sanskrit Students In MDU ) संस्कृतज्ञ को स्वाभिमान एवं गौरव की अनुभूति होनी चाहिए, ऐसा उनका कहना था। उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में वैश्विक स्तर पर संस्कृत एवं योग का महत्व बढ़ता जा रहा है।

विद्यार्थियों को दी बढ़ने की प्रेरणा (Lecture For Sanskrit Students In MDU)

इस कार्यक्रम के दौरान विभाग की ओर से इस सत्र में नेट और जेआरएफ परीक्षा में सफलता प्राप्त करने वाले 14 विद्यार्थियों को भी सम्मानित किया गया। प्रो. सुरेंद्र कुमार ने सभी विद्यार्थियों को आगे बढ़ने की प्रेरणा दी और कहा कि कि जीवन में चाहे कितना भी उतार-चढ़ाव क्यों ना आए, हमें अपने लक्ष्य प्राप्ति की तरफ अग्रसर रहना चाहिए। संस्कृत विभागाध्यक्षा डॉ. सुनीता सैनी ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

कार्यक्रम में शिक्षकों का अहम योगदान (Lecture For Sanskrit Students In MDU)

करियर काउंसिलिंग एवं प्लेसमेंट सेल के विभागीय समन्वयक डॉ. श्री भगवान ने इस कार्यक्रम का संचालन किया। डॉ. सुषमा नारा एवं डॉ. रवि प्रभात ने इस कार्यक्रम के समन्वयन में योगदान दिया। इस कार्यक्रम में विभाग के शिक्षक, विद्यार्थी, शोधार्थी एवं एलुमनी शामिल हुए।

गोद लिए गांव में भी कार्यक्रम (Latest Rohtak News)

वहीं दूसरी ओर महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय ने गोद लिए गांव बालंब एवं भाली आनंदपुर में आज यूनिवर्सिटी आउटरिच द्वारा मृदा परीक्षण एवं जल परीक्षण कार्यक्रम आयोजित किया। यूनिवर्सिटी आउटरीच प्रोग्राम के निदेशक प्रो. रणबीर सिंह गुलिया ने कहा कि किसान देश के विकास में अहम भूमिका निभा रहे हैं, वे जैविक खेती को बढ़ा रहे हैं।

टीम के ये सदस्य रहे मौजूद (Lecture For Sanskrit Students In MDU)

आउटरीच टीम के सदस्य अमित, ग्राम बालंब के रविंदर प्रदीप, मुकेश सेठी, देवेंद्र, अजीत और कपूर सिंह, दलीप सिंह, भूप सिंह, कुलदीप, चांद, गांव भाली के सतपाल, बंसीलाल आदि ग्रामीण मौजूद रहे।

Read Also : ग्राम सचिवालय में आधार का काम आज से Aadhar Work In Village Secretariat

Read Also :  यूक्रेन से लौटे छात्र से घर जाकर मिले एसडीएम, सरकार के प्रयासों को छात्र ने सराहा Mahendragarh’s Deepak Reached Safely

Connect With Us : TwitterFacebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular