Homeहरियाणापानीपतरोडवेज चालक की थार गाड़ी चढ़ाकर हत्या के विरोध में सांझा मोर्चा...

रोडवेज चालक की थार गाड़ी चढ़ाकर हत्या के विरोध में सांझा मोर्चा ने हत्यारों की गिरफ्तारी को लेकर चक्‍का जाम किया

आज समाज डिजिटल, पानीपत:

रोडवेज चालक की थार गाड़ी चढ़ाकर हत्या के विरोध में सांझा मोर्चा ने हत्यारों की गिरफ्तारी को लेकर चक्‍का जाम की घोषणा कर दी। सांझा मोर्चा के आह्वान के बाद पानीपत रोडवेज डिपो ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। पानीपत डिपो की लगभग 150 बसों को चलने नहीं दिया गया।

घायलों को 10-10 लाख रुपये की सहायता

सांझ मोर्चा के जिला प्रधान शेर सिंह ने बताया कि सोनीपत में थार कार द्वारा ड्राइवर की हत्या के मामले में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। उन्होंने मांग की कि जल्द से जल्द हत्यारों की गिरफ्तारी हो। शेर सिंह ने कहा कि सरकार के द्वारा अभी भी कोई संज्ञान नहीं लिया गया है। इसलिए आज एक दिन का चक्का जाम किया है।प्रधान ने कहा कि सांझा मोर्चा की बैठक चल रही है बैठक का अंतिम निर्णय होगा आगे उस रणनीति पर काम किया जाएगा।रोडवेज चालक के प्रधान नरेंद्र ने बताया कि हमारी मांगे कि मृतक के परिवार को 30 लाख मुआवजा व परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाए। उन्होंने कहा कि घायलों को 10-10 लाख रुपये की सहायता की राशि दी जाए।

हरियाणा में वीरवार को रोडवेज का चक्का जाम है। इसका निर्णय सांझा मोर्चा की बैठक में लिया गया। सांझा मोर्चा ने मांग की कि दिल्ली डिपो के चालक की हत्या मामले में उचित कार्रवाई की जाए और मृतक चालक को न्याय दिलाया जाए।हड़ताल में मुख्य रुप से सांझा मोर्चा के जिला प्रधान चरण सिंह, सुलतान मलिक, बलराम नौल्था, रिंकू राजा, नरेंद्र घणगस, कृष्ण नांदल, राम निवास ग्रोवर, विकास छौक्कर, राज्य नेता अनिल कुंडू, प्रदीप शर्मा, विजय ढोचक, राजपाल गहल्याण आदि मौजूद है।

यह है पूरा मामला

गांव सलीमसर माजरा के रहने वाले बस चालक जगवीर सिंह दिल्ली डिपो में तैनात थे। 6 सितंबर की सुबह चालक प्रमोद कुमार रोडवेज की बस सोनीपत से दिल्ली के लिए चली थी। इसमें अन्य यात्रियों के साथ जगवीर भी सवार थे।

उनको दिल्ली से अपनी बस को लेकर चंडीगढ़ के लिए जाना था। जैसे ही रोडवेज की बस बहालगढ़ से दिल्ली हाईवे पर चली तो पीछे से थार जीप में सवार युवकों ने हॉर्न बजाना शुरू कर दिया। जीप के खुले सनरूफ से युवतियों ने गालियां देना शुरू कर दिया।इस पर चालक ने बस को धीमी करके उनको साइड दे दी। थार में दो युवक और दो युवती सवार थे। वह देरी से साइड मिलने का आरोप लगाकर भुगतने की धमकी देने लगे। उसके बाद वह रोडवेज बस के आगे-पीछे होकर चलते रहे और बार-बार गालियां देते रहे।रोडवेज कर्मचारियों के अनुसार कुंडली में पहुंचकर सुबह करीब साढ़े पांच बजे थार जीप में सवार युवकों ने हाथ देकर बस को रुकवा लिया। चालक ने कुछ आगे जाकर बस को रोक लिया। जीप सवार युवकों को समझाने के लिए दिल्ली के लिए सफर कर रहे चालक जगवीर सिंह, दिल्ली जा रही बस के चालक प्रमोद कुमार व कंडक्टर फतहसिंह सहित चार-पांच लोग नीचे उतर आए।

तभी युवकों ने कर्मचारियों के ऊपर थार जीप चढ़ा दी और रौंदते हुए फरार हो गए। हादसे में बस चालक जगवीर सिंह की मौके पर ही मौत हो गई जबकि कंडक्टर फतेहसिंह गंभीर रूप से घायल हो गए।

ये भी पढ़ें : हैंड वॉश डे का हुआ आयोजन

ये भी पढ़ें : जल जीवन मिशन की सहायक गतिविधियों के लिए समीक्षात्मक बैठक आयोजित

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular