Homeहरियाणापानीपतप्रॉपर्टी आईडी व एनडीसी जारी करने में घूस खोरी व धक्केशाही के...

प्रॉपर्टी आईडी व एनडीसी जारी करने में घूस खोरी व धक्केशाही के खिलाफ धरना

आज समाज डिजिटल, पानीपत : 

प्रॉपर्टी आईडी व एनडीसी जारी करने में घूस खोरी व धक्केशाही के खिलाफ पालिका दफ्तर पर धरना 15 सितंबर को।
पड़ाव कालोनी को नगरपालिका ने किया अवैध कालोनी घोषित, प्रॉपर्टी आई डी, एनडीसी लेने के लिए डीटीपी से लेनी होगी एनओसी।

पानीपत/समालखा। प्रॉपर्टी आईडी व एनडीसी जारी करने में भृष्टाचार का आरोप लगाते हुए आरटीआई एक्टिविस्ट पीपी कपूर ने पालिका प्रधान को 15 सितंबर को पालिका दफ्तर पर धरना लगाने का नोटिस दिया है। नोटिस की प्रतियाँ जिला पालिका आयुक्त,एसडीएम,पालिका प्रधान को भी भिजवा कर भृष्टाचार पर रोक लगवाने की मांग की है।

नगरपालिका भृष्टाचार का अड्डा

नोटिस में कपूर ने आरोप लगाया कि नगरपालिका भृष्टाचार का अड्डा बन चुकी है। प्रॉपर्टी आईडी व एनडीसी जारी करने मे घूस खोरी का बड़ा खेल चल रहा है। पालिका कर्मचारी ऑनलाइन आवेदनों को महीनों तक दबा कर बैठे रहते हैं कोई कारवाई नहीं करते। दो दिन में प्रॉपर्टी आईडी बनाने व एनडीसी जारी करने के लिए पांच हज़ार रुपये की सरकारी फीस सहित तत्काल सेवा के तहत प्राप्त आवेदनों को भी मनमाने ऑब्जेक्शन लगा कर रिजेक्ट कर दिया जाता है। दूसरी ओर घूस खोरी के चलते दलाल लोग हाथों हाथ काम करवा कर ले जाते हैं। भाजपा नेता भी अपने चहेतों के काम हाथों हाथ करवा ले जाते हैं। आम पब्लिक धक्के खाती रहती है कोई पारदर्शी सिस्टम नहीं है।

गैर कानूनी तरीके से अवैध कालोनी घोषित की 

कपूर ने बताया कि पब्लिक को धक्के कटवाने व घूस खोरी के बड़े खेल के चलते नगरपालिका कर्मचारियों ने पिछले 40 वर्षो से शहर के बीचों बीच बनी पड़ाव कालोनी को भी गैर कानूनी तरीके से अवैध कालोनी घोषित कर दिया है। जबकि पड़ाव कालोनी में नगरपालिका सभी नक्शे पास करती रही है व प्रॉपर्टी आईडी, एनडीसी जारी करती रही है। लेकिन यहाँ मात्र 588 वर्गगज़ की सम्पति को अवैध कालोनी में बता कर प्रॉपर्टी आईडी बनाने का ऑनलाइन आवेदन भी रद्द कर दिया। अवैध कालोनी पर लागू होने वाले अर्बन एरिया एक्ट 1975 के सेक्शन 7 (1)की उल्लंघना बताते हुए जिला नगर योजनागार से पहले एनओसी लेने का तुगलकी फरमान भी जारी कर दिया।

कपूर ने कहा कि नगरपालिका में इस घूस खोरी को नहीं चलने दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें : कैथल के देबन गांव में संदिज्ध सामान मिलने के कारण मधुबन से बुलाई बम रोधक टीम

ये भी पढ़ें : आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन-आरोग्य के लाभार्थियों के अनुभवों को लेकर तैयार की जा रही डॉक्यूमेंट्री फिल्म

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular