Homeहरियाणामहेंद्रगढ़नशा मुक्ति एवं पुनर्वास केंद्र में एड्स के बारे में जागरूकता कार्यक्रम...

नशा मुक्ति एवं पुनर्वास केंद्र में एड्स के बारे में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित

नीरज कौशिक, महेंद्रगढ़:
जिला एड्स कंट्रोल सोसायटी की ओर से विश्व एडस दिवस के अवसर पर आज नशा मुक्ति एवं पुनर्वास केंद्र में एड्स के बारे में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर उप सिविल सर्जन टीबी एवं एचआईवी एड्स नोडल अधिकारी डा. हर्ष चौहान ने बताया कि एचआईवी की जांच व परामर्श के लिए जिले में 4 आईसीटीसी सेंटर नागरिक अस्पताल नारनौल, नागरिक अस्पताल महेंद्रगढ़, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अटेली व उप-नागरिक अस्पताल कनीना में बनाया गया है। इसके अलावा 22 अन्य एफआईसीटीसी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर भी गर्भवती महिलाओं की एचआईवी की जांच निशुल्क है। नागरिक अस्पताल, नारनौल में एक लिंक एआरटी प्लस सेन्टर भी है जहां मरीजों को एचआईवी एड्स की दवा निशुल्क उपलब्ध करवाई जाती है। उन्होंने बताया कि सभी टीबी तथा गर्भवती व ऑपरेशन के लिए आने वाले मरीजों की एचआईवी जांच जरूरी है।

टीबी एवं एचआईवी बचाव के बारे में विस्तार से दी गई जानकारी

इस मौके पर जिला टीबी एवं एचआईवी र्कोडिनेटर रविन्द्र यादव व मनोज कुमार डीपीपीएमसी ने केन्द्र में दाखिल मरीजों एवं कर्मचारियों को टीबी एवं एचआईवी बचाव के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिले में सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में टीबी एवं एचआईवी की जांच एव ईलाज निशुल्क है कोई भी जाकर अपनी जांच करवा सकता है। इस मौके पर केन्द्र के परियोजना निदेशक रोहताश सिह रंगा ने बताया कि एचआईवी एडस संक्रमित सूई, संक्रमित रक्त, असुरक्षित यौन सम्बन्ध और एचआईवी मां से उसके बच्चे में होने का खतरा होता है। इस मौके पर केन्द्र में सभी दाखिल मरीजों एवं केन्द्र के सभी अधिकारी व कर्मचारी को नशा न करने की शपथ दिलवाई। इस अवसर पर नशा मुक्ति केन्द्र नारनौल के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद थे।

ये भी पढ़ें : करनाल में हेलीकॉप्टर से दुल्हन लेना पहुंचा दूल्हा

ये भी पढ़ें : युवक का अपहरण कर मारपीट करने के मामले में एक ओर आरोपित गिरफ्तार

ये भी पढ़ें : वाहन चोरी का एक आरोपी गिरफतार, चोरी की 2 मोटर साईकिल बरामद

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular