Homeहरियाणामहेंद्रगढ़शहीद करणसिंह के घर सुंदरह पहुंचे डिप्टी सीएम

शहीद करणसिंह के घर सुंदरह पहुंचे डिप्टी सीएम

नीरज कौशिक, महेंद्रगढ़ :
जिला महेंद्रगढ़ के गांव सुंदरह के शहीद जवान करणसिंह के घर रविवार शाम डिप्टी सीएम दुष्यंत सिंह चौटाला पहुंचे और परिवार को सांत्वना दी। इस दौरान ग्रामीणों ने शहीद करणसिंह के नाम से गांव के सरकारी स्कूल का नाम करने और ई-लाइब्रेरी खोलने की मांग की। इस पर डिप्टी सीएम ने ग्रामीणों को दोनों ही मांगों को जल्द पूरा करवाने का आश्वासन दिया।

शहीद के नाम स्कूल व ई-लाइब्रेरी खोलने का दिया आश्वासन

डिप्टी सीएम दुष्यंत सिंह चौटाला ने कहा कि जवान करणसिंह अब हमारे बीच नहीं है। उनकी सकारात्मक सोच को संजोकर रखना है, ताकि युवा पीढ़ी उनका स्मरण कर भविष्य संवार सके। वह युवाओं के लिए प्रेरणा स्त्रोत बने और गांव का नाम रोशन किया। इस दौरान डिप्टी सीएम के समक्ष पूर्व सरपंच देशराज, पूर्व कनीना ब्लाक समिति सदस्य फतेहसिंह, जगदीश व जोनी सहित अन्य ग्रामीणों ने मांग पत्र रखते हुए कहा कि गांव सुंदरह का लाल करणसिंह 23 सितंबर को शहीद हो गया। करणसिंह गांव सुंदरह का पहला शहीद है। इससे पहले भगवान की कृपा से कोई जवान शहीद नहीं हुआ, इससे पूरे क्षेत्र में शोक की लहर है। यह जवान अपने माता-पिता का एक ही लड़का था। इसकी उम्र 24 साल ही थी। साथ ही पूरे गांव का भी होनहार लड़का था। डिप्टी सीएम से मांग है कि गांव के सरकारी स्कूल का नाम शहीद करणसिंह के नाम से रखा जाए और गांव में एक ई-लाइब्रेरी शहीद करणसिंह के नाम से बनवाई जाए।

जिससे गांव की युवा पीढ़ी को प्रेरणा मिले। पूरा गांव इसके लिए जिंदगीभर आभारी रहेगा। ग्रामीणों से संवाद करते हुए डिप्टी सीएम ने शहीद करणसिंह के नाम से गांव के सरकारी स्कूल का नामकरण करने और गांव में ही ई-लाइब्रेरी खोलने का आश्वासन दिया।

इस मौके पर काफी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे

इस मौके पर पार्टी के जिला अध्यक्ष एडवोकेट तेजप्रकाश यादव, जिला प्रवक्ता सिकंदर गहली, रविंद्र गागड़वास, कंवरसिंह नंबरदार उन्हाणी, महेंद्र उन्हाणी, लीलाराम कोका व मंदरूप झिंगावन सहित काफी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें: सेवा पखवाड़ा के अंतर्गत भाजपा ने चलाया स्वच्छता अभियान

ये भी पढ़ें: जीते जी मात–पिता की सेवा करना ही असली श्राद्ध है: आचार्य संजीव

ये भी पढ़ें:  धूमधाम से मनाया गया लाडी साईं जी का जन्मदिवस

ये भी पढ़ें: बुढ़ापा पेंशन में अनिमितताएं, सुधार के लिए करें फोन: नवीन जयहिन्द

 Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular