Homeहरियाणाकुरुक्षेत्रसरकार गेहूं का एक-एक दाना खरीदने के लिए प्रतिबद्ध : डॉ. चौहान:...

सरकार गेहूं का एक-एक दाना खरीदने के लिए प्रतिबद्ध : डॉ. चौहान: Government Committed To Purchase Wheat

करनाल, इशिका ठाकुर: 

Government Committed To Purchase Wheat: हरियाणा की 410 अनाज मंडिया गेहूं की खरीद के लिए हर प्रकार से तैयार हैं। मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री के अलावा सरकार के मंत्रीगण, विधायक और अन्य पदाधिकारी खरीद प्रक्रिया के दौरान व्यवस्था को सुचारू रखने के लिए निगरानी करेंगे। हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष डॉ. वीरेंद्र सिंह चौहान ने यह टिप्पणी यहां अनाज मंडी परिसर में खरीद की तैयारियों की समीक्षा के बाद पत्रकारों से बातचीत में की।

Read Also: बैंकेट हॉल, होटलों इत्यादि में शादी व अन्य कार्यक्रमों के दौरान फायरिंग करने पर पूर्णत: प्रतिबंध :Ban On Firing During Marriage And Other Events

मंडी प्रशासक व गौरव कुमार के साथ लिया प्रबंधों का जायजा (Government Committed To Purchase Wheat)

Government Committed To Purchase Wheat
Government Committed To Purchase Wheat

उन्होंने करनाल के उपमंडल अधिकारी एवं मार्केट कमेटी के प्रशासक गौरव कुमार के साथ मिसिंग मार्केट कमेटी के कार्यालय में विभिन्न विभागीय अधिकारियों से भी संवाद किया। इस अवसर पर डॉ. वीरेंद्र सिंह चौहान और एसडीएम गौरव कुमार ने उपस्थित सरकारी कर्मचारियों व अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह खरीद प्रक्रिया को सुगम और व्यवस्थित बनाए रखने के लिए हर संभव उपाय करें। डॉ. वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि हरियाणा सरकार गेहूं का एक-एक दाना खरीदने के लिए प्रतिबद्ध है। सरकार द्वारा घोषित नीति के अनुरूप किसानों के खाते में उनकी फसल के दाम उठान के 72 घंटे के भीतर हस्तांतरित करने की भी ठोस व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि पिछले खरीद सीजन में आई दिक्कतों के अनुभव के आधार पर भुगतान की प्रक्रिया में आने वाली अधिकतर दिक्कतों को पहले ही दुरुस्त कर लिया गया है।

535 से अधिक किसानों ने अपनी फसल मंडी में लाने की तिथि निर्धारित की (Government Committed To Purchase Wheat)

Government Committed To Purchase Wheat
Government Committed To Purchase Wheat

उन्होंने खरीद एजेंसियों के अधिकारियों से कहा कि अगले तीन-चार दिन के भीतर जैसे ही अनाज की आवक तेजी पकड़ती है, किसी भी सूरत में मंडी में बारदाना आवश्यकता से कम नहीं रहना चाहिए। ई-खरीद पोर्टल को लेकर कुछ तकनीकी दिक्कतों का हवाला दिए जाने पर डॉ. वीरेंद्र सिंह चौहान व कृषक कल्याण के अतिरिक्त मुख्य सचिव हरदीप सिंह ने खाद्य आपूर्ति विभाग में संयुक्त निदेशक डा. मेघना से दूरभाष पर बात की। अतिरिक्त मुख्य सचिव के हवाले से डॉ. वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि किसानों के लिए शेड्यूलिंग को अनिवार्य नहीं किया गया है। डॉ. मेघना ने डॉ. चौहान को बताया कि खरीद के पहले दिन राज्य के 535 से अधिक किसानों ने ऑनलाईन शैड्यूलिंग की सुविधा के अंतर्गत अपनी फसल मंडी में लाने की तिथि निर्धारित की।

इस अवसर पर एसडीएम गौरव कुमार व अन्य अधिकारी रहे मौजूद (Government Committed To Purchase Wheat)

उपमंडल अधिकारी गौरव कुमार ने अधिकारियों को पूरी मुस्तैदी के साथ सरकार के सभी दिशा-निर्देशों का अनुपालन करने के लिए कहा। उन्होंने मंडी में सफाई व्यवस्था, पेयजल के इंतजाम और बिजली आदि की मूलभूत सुविधाओं में किसी तरह की कोई खामी न आने देने के लिए उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। इस अवसर पर एसडीएम गौरव कुमार के अलावा निसिंग मार्केट कमेटी के एससीईओ बलवान सिंह, खाद्य आपूर्ति विभाग के इंस्पेक्टर साजन मान, हैफेड के प्रबंधक दर्शन सिंह, मंडी प्रधान सत्यनारायण, नरेंद्र लंबरदार और बेदी ट्रांसपोर्टर भी मौजूद रहे।

Read Also: टीबी उन्मूलन में अहम भूमिका निभा रही रेडक्रास सोसायटी : Red Cross volunteers

Read Also: पवन दीवान ने पंजाब लार्ज इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट बोर्ड के चेयरमैन पद से दिया इस्तीफा: Senior Congress Leader Pawan Diwan Resigned

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular