HomeहरियाणाकरनालSubhash Chandra Bose Jayanti : नेता जी सुभाष चन्द्र बोस की जयंती...

Subhash Chandra Bose Jayanti : नेता जी सुभाष चन्द्र बोस की जयंती पर हरियाणा बोलेगा जय हिन्द बोस : आजाद सिंह

प्रवीण वालिया,करनाल:
Subhash Chandra Bose Jayanti : आजादी के अमृत महोत्सव में अब हरियाणा के चारों और हरियाणा बोलेगा जय हिन्द बोस, जय हिन्द बोस। नेता जी सुभाष चन्द्र बोस की जयंती के उपलक्ष्य में भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रदेश भर के 7500 अलग-अलग स्थानों पर करीब 6 लाख से अधिक लोग एक साथ नेता जी सुभाष चन्द्र बोस के चरणों में पुष्प अर्पित करने के साथ एक स्वर में जय हिन्द बोस, जय हिन्द बोस बोलेंगे।
इसके लिए राज्य भर में करीब 16 हजार से अधिक पार्टी कार्यकर्ता अपनी जिम्मेदारी के साथ काम करे रहे है। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष की साकारात्मक सोच और कठिन परिश्रम के प्रयास को राज्य भर में सराहा जा रहा है। इस सन्दर्भ में हरियाणा राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य आजाद सिंह ने कहा कि देश में केवल मात्र भारतीय जनता पार्टी ही एक ऐसा संगठन है जो भारत को आजादी दिलाने वाले शहीदों, क्रांतिकारियों और योद्धाओं का मान-सम्मान करता है। (Subhash Chandra Bose Jayanti)

भारतीय जनता पार्टी सुसंस्कार के बल पर देश को निरन्तर आगे बढ़ाने के लिए प्रयासरत है। आजाद सिंह ने बताया कि 78 वर्ष के बाद पहली बार भारतीय जनता पार्टी हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ के नेतृत्व में 129 लोगों का दल अंडेमान की सेलुलर जेल और वाइपर द्वीप का दौरा करने पहुंचा है। उनके साथ-साथ करनाल जिला के जिलाध्यक्ष योगेंद्र राणा समेत काफी कार्यकर्ता प्रदेशाध्यक्ष के साथ-साथ अंडेमान में तिरंगा फहराकर वापिस करनाल लौटे। जो न केवल हरियाणा बल्कि पूरे भारत वर्ष के लिए गौरव की बात है। इसका श्रेय प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल को जाता है। (Subhash Chandra Bose Jayanti)

23 जनवरी को प्रदेश भर में एक साथ 7500 स्थानों पर कम से कम 75 व्यक्ति पहुंचकर नेता जी सुभाष चन्द्र बोस और अपने-अपने क्षेत्र के वीर शहीदों को पुष्प अर्पित करेंगे और उनके आश्रितों का सम्मान करेंगे। सेल्युलर जेल को काला पानी माना जाता था। वहां से स्वाधीनता सेनानियों के वापिस लौटने की उम्मीद बहुत कम रहती थी। उस धरती पर भारतीय जनता पार्टी ने तिरंगा फहराकर स्वाधीनता सेनानियों को सम्मान दिया है।

मोदी का बड़ा विचार, 26 दिसंबर को होगा वीर बाल दिवस (Subhash Chandra Bose Jayanti)
हरियाणा राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य आजाद सिंह ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गुरु गोबिंद सिंह के प्रकाश उत्सव पर 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस मनाने की जो घोषणा की है, वह सराहनीय है। मोदी के इस उच्च विचार को देश के लोग बहुत ही महत्वपूर्ण ढंग से गंभीरता के साथ ले रहे है। उन्होंने कहा कि यह घोषणा बहुत ही महत्वपूर्ण है। जिसका देशभर में स्वागत किया जा रहा है।
मोदी ने घोषणा के दौरान कहा कि गुरु गोबिंद सिंह जी के छोटे पुत्र जोरावर सिंह व फतेह सिंह को 26 दिसंबर 1705 को जिंदा दीवार में चुनवा दिया गया था। इस शहादत को देश भुला नहीं सकता। भारतीय जनता पार्टी आज इस शहादत के सन्दर्भ में युवा पीढ़ी ओर आने वाली पीढ़ी को यह बताना चाह रही है कि देश को बचाने के लिए जिन लोगों ने कुर्बानी दी है उनके बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता। भारतीय जनता पार्टी की पाठशाला में संस्कार से एक कदम आगे बढ़कर सुसंस्कार देने का प्रचलन है।
Subhash Chandra Bose Jayanti
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments