Homeहरियाणाकरनालकुपोषण मुक्त भारत के सपने को साकार करने के लिए राष्ट्रीय पोषण...

कुपोषण मुक्त भारत के सपने को साकार करने के लिए राष्ट्रीय पोषण माह अभियान को बनाएं जन आंदोलन

इशिका ठाकुर,करनाल :
अतिरिक्त उपायुक्त डा. वैशाली शर्मा ने कहा कि कुपोषण मुक्त भारत के सपने को साकार करने के लिए राष्ट्रीय पोषण माह अभियान को जन आंदोलन बनाएं। इस कार्य में महिला एवं बाल विकास विभाग को स्वास्थ्य, शिक्षा, आयुष, पंचायती राज विभाग, स्थानीय निकाय, जन स्वास्थ्य, कृषि, उद्यान, वन तथा सूचना जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के अधिकारी पूर्ण सहयोग दें और अपने-अपने विभाग से संबंधित गतिविधियों को पूरा करने में सक्रिय भूमिका निभाएं, ताकि कुपोषण को जड़-मूल से समाप्त किया जा सके।

राष्ट्रीय पोषण माह जागरूकता अभियान

National Nutrition Month Campaign
National Nutrition Month Campaign

अतिरिक्त उपायुक्त वीरवार को अपने कार्यालय में राष्ट्रीय पोषण माह अभियान को लेकर महिला एवं बाल विकास विभाग तथा अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक में बोल रही थी। उन्होंने कहा कि भारत सरकार द्वारा आजादी अमृत महोत्सव के तहत 1 सितम्बर से 30 सितम्बर तक राष्ट्रीय पोषण माह जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है, जिसके तहत विभिन्न विभागों के सहयोग से अलग-अलग दिनों में गतिविधियां आयोजित करके स्कूली बच्चों, आंगनवाड़ी केन्द्रों में पंजीकृत गर्भवती महिलाओं व दूध पिलाने वाली माताओं को पौष्टिक आहार के बारे में जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिए कि पोषण माह के लिए ब्रांड एम्बेसडर नियुक्त किए जाएं। इस मासिक अभियान के तहत जिला मुख्यालय व प्रत्येक ब्लॉक मुख्यालय पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएं, जिनमें संबंधित क्षेत्र के जन प्रतिनिधि की भागीदारी सुनिश्चित की जाए। इसके अलावा जागरूकता रैली भी निकाली जाए।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा कुपोषण मुक्त भारत के नारे

उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे इस अभियान में स्कूली बच्चों व गर्भवती महिलाओं के लिए विशेष कैंप आयोजित करके उनमें अनीमिया की जांच की जाए। इसी प्रकार आयुष विभाग द्वारा कैंप आयोजित किए जाएं और उन्हें योग क्रियाओं के लिए भी प्रेरित करें। सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग द्वारा नुक्कड़-नाटकों के अलावा सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचार-प्रसार किया जाए। जिला खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी ग्राम सचिवालय पर कार्यक्रम आयोजित करवाकर आम लोगों को जागरूक करें तथा सभी विभाग अपनी-अपनी गतिविधियों को भारत सरकार के पोर्टल पर अपलोड करना सुनिश्चित करें। महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी राजबाला ने बताया कि रैली के माध्यम से लोगों को पोषण माह के बारे में जागरूक किया जा रहा है। इस पोषण रैली में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा कुपोषण मुक्त भारत के नारे लगाए गए तथा पोषण गीत गाकर कुपोषण के प्रति लोगों को जागरूक किया जा रहा है। आंगनवाडी कार्यकर्ताओं ने गर्भवती महिलाओं व दूध पिलाने वाली माताओं से यह आग्रह किया कि वे अपने स्वास्थ्य व सेहत का पूरा ध्यान रखें और समय पर पौष्टिक आहार लें। राष्ट्रीय पोषण माह के दौरान आंगनवाडी केन्द्रों में कुपोषित व अति कुपोषित बच्चों की पहचान की जा रही है। साथ ही कुपोषित बच्चों व उनकी माताओं को उनकी देखभाल के लिए परामर्श दिया जा रहा है।

30 सितंबर तक चलेगा राष्ट्रीय पोषण माह

उन्होंने बताया कि पौष्टिक व्यंजनों के महत्व की जानकारी भी पोषण माह के दौरान दी जा रही है। इस माह के दौरान खंड स्तर पर आंगनवाडी केन्द्रों में महिला गोष्ठी, साइकिल रैली, पौधारोपण अभियान, सामुदायिक जनजागरण, नुक्कड़ नाटक, समुदाय आधारित गतिविधियां, योगा सत्र, सफाई अभियान, स्वास्थय जाँच, पोषण मटका चाल, पोषण मेला, खेलो और पढ़ो गतिविधियाँ, व्यक्तिगत स्वच्छता, बच्चों के विकास की निगरानी, माँ की रसोई, नवजात शिशुओं की माताओं के लिए जागरूकता शिविर आदि आयोजित किए जा रहे हैं। सितंबर माह में नवजात से लेकर महिलाओं को पोषण के प्रति जागरूक करने के लिए लगातार कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। यह राष्ट्रीय पोषण माह 30 सितंबर तक चलेगा।

एडीसी ने कुपोषण मुक्त भारत बनाने की दिलाई शपथ कि सही पोषण-देश रोशन

एडीसी डा. वैशाली शर्मा ने कुपोषण मुक्त भारत अभियान में भागीदार बनने के लिए शपथ दिलाई। शपथ पत्र में कहा गया कि मैं आज भारत के बच्चों, किशोरों और महिलाओं को कुपोषण मुक्त, स्वास्थ्य और मजबूत करने का वचन देता हूं। राष्ट्रीय पोषण माह के दौरान मैं हर घर तक सही पोषण का संदेश पहुंचाएगा। सही पोषण का अर्थ पौष्टिक आहार, साफ पानी और सही प्रथाएं। मैं पोषण अभियान को एक देशव्यापी आंदोलन बनाउंगा, हर घर, हर विद्यालय, हर गांव, हर शहर में सही पोषण की गूंज उठेगी। इस जन आंदोलन से मेरे भारतीय भाई और बहन और सभी बच्चे स्वस्थ होंगे और क्षमता प्राप्त करेंगे। सही पोषण-देश रोशन।

इस अवसर पर अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे

इस अवसर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी राजबाला, सीडीपीओ मीना रतन, कमलेश, संतोष व नीलम आर्य, पोषण जिला समन्वयक अंजू, पीएमएमवीवाई की जिला समन्वक ज्योति, डीडीपीओ राजबीर खुंडिया, एलडीएम एसके हंदूजा, खंड शिक्षा अधिकारी, आयुष तथा अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें : आईबी कॉलेज की गुड़िया एमएससी गणित की मेरिट में सेकेंड

ये भी पढ़ें : भारत-पाक क्रिकेट मैच पर सट्टा लगाते 3 गिरफ्तार

ये भी पढ़ें : निगम की टीमों ने कई थोक विक्रेताओं व दुकानदारों पर की छापेमारी

ये भी पढ़ें : डेंगू ने अपने पांव पसारना शुरू कर दिया हैं, डेंगू के 7 पॉजिटिव मामले

 Connect With Us: Twitter Facebook

 

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular