Homeहरियाणाकरनालबारिश में निगमायुक्त अजय सिंह तोमर ने खुद संभाली कमान

बारिश में निगमायुक्त अजय सिंह तोमर ने खुद संभाली कमान

प्रवीण वालिया, करनाल:

  • शहर में हुए जलभराव और उसकी निकासी को देखने फील्ड में उतरे
  • मुगल कैनाल, ड्रेन नम्बर-1, डिस्पोजल पाँयट तथा 50 एमएलडी सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का किया निरीक्षण

लगातार तेज बारिश से शहर में हुए जल भराव व पानी निकासी की स्थिति का जायजा लेने के लिए नगर निगम आयुक्त अजय सिंह तोमर ने खुद कमान संभाली और शहर का दौरा किया। साथ गए निगम इंजीनियरों को निर्देश दिए कि नागरिकों को किसी तरह की परेशानी नहीं होनी चाहिए, इसके लिए बरसाती पानी की निकासी पर्याप्त रूप से हो। निरीक्षण में उन्होंने मुगल कैनाल स्थित डिस्पोजल पाँयटों को चैक किया, सभी चालू हालत में पाए गए। उन्होंने अभियंताओं को निर्देश दिए कि मेन पम्पिंग मोटरों के अलावा स्टैण्डबाय पर रखी गई मोटरों को भी चलाया जाए, ताकि ज्यादा मात्रा में बरसाती पानी की निकासी हो सके।

बारिश के ताजा हालात पर चर्चा की

इससे पूर्व उन्होंने मुख्य अभियंता और कार्यकारी अभियंताओं के साथ कैम्प कार्यालय में एक मीटिंग कर बारिश के ताजा हालात पर चर्चा की और फीडबैक भी ली। सम्बंधित इंजीनियरों ने बताया कि करीब 154 एमएम की भारी बारिश के बावजूद भी पानी निकासी के हालात सुचारू हैं। इसी प्रकार मुगल कैनाल व अन्य बरसाती नालों से भी पूर्ण क्षमता से निकासी होने की जानकारी दी गई। उन्होंने इंजीनियरों को निर्देश दिए कि मुगल कैनाल के साथ-साथ इनलेट के जरिए भी पानी को बाईपास करके निकाला जाए, ताकि अधिक मात्रा में पानी की निकासी हो सके। सीवेज ट्रीटमेंट प्लांटों के जरिए हो रही निकासी की भी इंजीनियरों से जानकारी ली। उन्होंने उप निगमायुक्त अरूण कुमार को निर्देश दिए कि बरसाती नालों के आगे लगी झालियों की सफाई कर्मियों से पत्तों व झाडिय़ों इत्यादि की साफ-सफाई करवाते रहें, ताकि पानी निकासी में किसी तरह की बाधा न हो। इसके अतिरिक्त बरसाती नालों व रोड गली की भी सफाई करने के निर्देश दिए, ताकि अंदरूनी गलियों में भी जल भराव न हो सके।

इन जगहों का किया निरीक्षण

मुगल कैनाल पुलिया का निरीक्षण किया

निगमायुक्त ने सबसे पहले मुगल कैनाल पर स्थित डिस्पोजल पाँयटों का निरीक्षण किया, जो चालू अवस्था में दिखाई दिए। इसके पश्चात उन्होंने मुगल कैनाल पुलिया का निरीक्षण किया, जिससे बरसाती पानी पूर्ण क्षमता के साथ आगे निकल रहा था। उन्होंने जी.टी. रोड ड्रेन नम्बर-1 के कच्चे भाग का भी निरीक्षण किया, यहां से भी फुल कैपेस्टी के साथ बरसाती पानी की निकासी हो रही थी। उन्होंने मौके पर मौजूद इंजीनियरों को निर्देश दिए कि इस जगह पर एक पोकलेन मशीन खड़ी की जाए, ताकि कोई पानी निकासी में कोई अवरोध उत्पन्न होने पर उसका तुरंत समाधान किया जा सके। उन्होंने सैक्टर 4-5 स्थित ड्रेन नम्बर-1 की पुलिया का भी जायजा लिया। निगमायुक्त ने 50 एमएलडी सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का निरीक्षण किया और बरसाती पानी की अतिरिक्त निकासी के लिए एक गेट को खुलवाया और एक जेनसेट पम्प लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने एसटीपी के उपचारित पानी की क्वालिटी को भी चैक किया।

तीन मोटरें बरसाती पानी निकासी के लिए

इसके पश्चात उपायुक्त अनीश यादव व निगमायुक्त अजय सिंह तोमर ने जीटी रोड स्थित नगर निगम के सबसे बड़े 72 इंची डिस्पोजल का संयुक्त रूप से निरीक्षण किया और डिस्पोजल पर चली रही मोटरों की जानकारी ली। मौके पर मौजूद निगम इंजीनियरों ने बताया कि अलग-अलग अश्वशक्ति की तीन मोटरें बरसाती पानी निकासी के लिए चलाई गई हैं, इसके अलावा 2 अतिरिक्त मोटरों को स्टैण्डबाय पर रखा गया है। निगमायुक्त ने एक्सईएन अक्षय भारद्वाज को स्टैण्डबाय पर रखी दोनो मोटरें चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने यहां मौजूद कर्मियों को निर्देश दिए कि नालों के जरिए आ रहे बरसाती पानी के साथ पत्ते, झाडिय़ां व पॉलीथिन इत्यादि भी आ सकते हैं, इसलिए यहां लगे झालों की सफाई भी लगातार करते रहें। इसके पश्चता उपायुक्त व निगमायुक्त ने अंसल सिटी के अंदर से गुजरती सिंचाई विभाग की ड्रेन का निरीक्षण किया। ड्रेन की पुलिया की चौड़ाई कम पाई जाने पर उपायुक्त ने सिंचाई विभाग के कार्यकारी अभियंता नवतेज सिंह को निर्देश दिए कि असंल सिटी की मैनेजमेंट से बात करके इसे चौड़ा करवाया जाए। इसके पश्चात उन्होंने आवर्धन नहर स्थित सिंचाई विभाग की ड्रेन का निरीक्षण किया। उपायुक्त ने पुलिया के नीचे ड्रेन में फंसे कूड़े-कचरे को देख एक्सईएन को निर्देश दिए कि इसे तुरंत हटाया जाए, ताकि बरसाती पानी निकासी का बहाव तेजी से बना रहे।

निगमायुक्त ने बताया कि लगातार तेज बारिश होने के कारण एक बार जल भराव होना स्वभाविक है, परंतु नगर निगम के पुख्ता इंतजाम होने के कारण उसकी उपयुक्त रूप से निकासी होती रही। उन्होंने बताया कि बरसात रूकने के करीब 2-3 घण्टें बाद शहर के ज्यादातर हिस्से से बरसाती पानी की निकासी हो चुकी थी।

दौरे में मुख्य अभियंता महीपाल सिंह, उप निगमायुक्त अरूण कुमार, कार्यकारी अभियंता अक्षय भारद्वाज, सतीश शर्मा व मोनिका शर्मा, सहायक अभियंता सुनील भल्ला मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें : सभी मिल कर हरियाणा के गुरुद्वारों का विकास करेंगे : दादूवाल

ये भी पढ़ें : आर्य कॉलेज और आई.सी.एस.आई पानीपत चैप्टर के संयुक्त तत्वाधान में “अध्यापक सशक्तिकरण” पर कॉन्फ्रेंस का आयोजन

Connect With Us: Twitter Facebook 
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular