HomeहरियाणाकरनालSwachh Survekshan 2022 डाक्टर,खिलाड़ी, संगीतकार और गायक अब शहर में जगाएंगे स्वच्छता...

Swachh Survekshan 2022 डाक्टर,खिलाड़ी, संगीतकार और गायक अब शहर में जगाएंगे स्वच्छता की अलख

प्रवीण वालिया, करनाल:
Swachh Survekshan 2022 : स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 की तैयारियों को लेकर चालू मास दिसम्बर में नगर निगम की ओर से कई तरह की गतिविधियां जारी रहेंगी। इसे लेकर केन्द्रीय मंत्रालय की ओर से दिए गए कम्पोनेंट्स पर काम किया जा रहा है। निगम आयुक्त डॉ. मनोज कुमार ने मंगलवार को बताया कि इसके नागरिक सहभागिता कम्पोनेंट में, 10 लाख से नीचे जनसंख्या वाले शहरों के लिए वोकल फॉर लोकल के लिए तीन ब्रांड एम्बेसडर बनाए जाने हैं। करनाल से 8 ब्रांड एम्बेसडर बनाए गए हैं, जो स्थानीय अलग-अलग पृष्ठभूमि से हैं।
इनमें शूटर मेें गोल्ड मेडलिस्ट अनीश कुमार, तीरंदाजी खिलाड़ी रिद्घी पहोर, डॉ. धु्रव गुप्ता, डॉ. बी.एस. विर्क, कृष्ण अरोड़ा, म्यूजिक टीचर कोमल शर्मा, लोक गायक मनवीर सिंह तथा गुरू नानक खालसा कॉलेज के प्रोफेसर डॉ. बीर सिंह शामिल हैं। उन्होंने वोकल फॉर लोकल से अभिप्राय यह है कि स्थानीय उत्पाद या स्थानीय व्यक्तियों से ही किसी मिशन या कार्यक्रम के प्रचार से नागरिकों को जोड़ा जाए। (Swachh Survekshan 2022)

3 आर (रिड्यूज़, रियूज़ व रिसाईकल) के सिद्घांतों को देंगे बढ़ावा (Swachh Survekshan 2022)

निगमायुक्त ने बताया कि ब्रांड एम्बेसडर के मुख्यत: अर्बन लोकल बॉडी के अधिकारियों के साथ मीटिंग कर एक्शन प्लान तैयार करेंगे। विभिन्न वार्डों में कम से कम दो मीटिंग नागरिकों के साथ होंगी, जिनमें उनके स्वच्छता को लेकर व्यवहार में बदलाव पर फोकस रहेगा। इसके अतिरिक्त घर से ही कूड़े को अलग-अलग एकत्र करना, होम कम्पोस्टिंग, गूगल टॉयलेट लोकेटर स्वच्छता एप, सामुदायिक व जन शौचालयों की फीडबैक तथा 3 आर (रिड्यूज़, रियूज़ व रिसाईकल) तथा के सिद्घांतों को बढ़ावा देकर उदहारण पेश करेंगे।
 उन्होंने बताया कि सिटिजन एंगेजमेंट का ही एक अन्य भाग स्वच्छ टेक्नोलॉजी चैलेंज है। इस बार स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत नगर निगम करनाल जन भागीदारी को ओर अधिक बढ़ाने के लिए स्वच्छ टेक्नोलॉजी चैलेंज का आयोजन कर रहा है। इसके अंतर्गत यदि कोई नागरिक या एन.जी.ओ., कचरा प्रबंधन विशेषकर प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट में जन भागीदारी से सम्बंधित टेक्नोलॉजी या मोबाईल एप को चालू मास के अंत तक नगर निगम कार्यालय में प्रस्तुत करता है
और वह नगर निगम करनाल द्वारा गठित समिति के द्वारा स्वच्छ भारत मिशन को सशक्त करने में कारगर पाया जाता है, तो ऐसे नागरिक या एन.जी.ओ. को प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर चुने जाने के लिए सम्मानित किया जाएगा। इसके परिणाम आगामी 15 जनवरी को घोषित किए जाएंगे। (Swachh Survekshan 2022)

घर से ही गीले व सूखे कचरे को अलग करके दे (Swachh Survekshan 2022)

नगर निगम आयुक्त डॉ. मनोज कुमार ने शहर के सभी नागरिकों से अपील कर कहा है कि स्वच्छ सर्वेक्षण एक सरकारी कार्यक्रम नहीं है, बल्कि केन्द्र सरकार की ओर से हर साल शहरों को स्वच्छ व सुंदर बनाने के प्रयासों से भरा एक कदम है। जन भागीदारी का एक पहलू यह है कि नागरिक अपने शहर से जुड़े अर्थात कोई भी ऐसा कार्य न करे, जिससे शहर की स्वच्छता व सफाई बाधित हो जाए, बल्कि हर गृहणी घर से ही गीले व सूखे कचरे को अलग-अलग करके दे, कचरे को सड़क पर न फैंका जाए और प्लास्टिक वेस्ट तथा पॉलीथियान के प्रयोग से तोबा कर लेना अच्छा रहेगा। (Swachh Survekshan 2022)
Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments