विदेश भेजने के नाम पर 38 लाख रूपए की ठगी करने के मामले में आरोपी को करनाल जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लाई पानीपत पुलिस

0
138
Fraud of Rs 38 lakh in the name of sending money abroad

Aaj Samaj (आज समाज),पानीपत : थाना मतलौडा पुलिस गांव अलुपुर निवासी महिला कमलेश पत्नी रघबीर से विदेश भेजने के नाम पर 38 लाख रूपए की ठगी करने के मामले में नामजद गिरोह के आरोपी रविंद्र निवासी शक्तिपुरम करनाल को शुक्रवार को करनाल जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर आई। थाना मतलौडा प्रभारी इंस्पेक्टर विजय ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में आरोपी रविंद्र ने मामले में नामजद साथी आरोपियों के साथ मिलकर ठगी की उक्त वारदात को अंजाम देने बारे स्वीकारा। पुलिस ने आरोपी रविंद्र को माननीय न्यायालय में पेश किया जहा से उसे दो दिन के पुलिस रिमांड पर हासिल किया। रिमांड के दौरान पुलिस आरोपी रविंद्र से मामले में नामजद गिरोह के फरार आरोपियों के ठिकानों का पता लगाने व ठगी गई नकदी बरामद करने का प्रयास करेंगी।

 

पैसों की जिम्मेदारी मोहित ने ली

इंस्पेक्टर विजय ने बताया कि थाना मतलौडा में गांव अलुपुर निवासी महिला कमलेश पत्नी रघबीर ने शिकायत देकर बताया था कि वह अपने बेट सुखजीत सिंह को विदेश भेजना चाहती थी। करनाल जिला के गांव जयसिंहपुरा निवासी मोहित से उनकी जान पहचान थी। फरवरी 2020 में उसने इस बारे मोहित को बताया। मोहित कहने लगा की उसके संपर्क में कुछ एजेंट है वह तुम्हारे लड़के को अमेरीका भेजकर नौकरी भी दिलवा देगा। मोहित ने रविंद्र पुत्र बलवान निवासी शक्तिपुरम करनाल व रविंद्र की पत्नी रेखा से उसको मिलवाया। रविंद्र ने वॉट्सअप कॉल कर विदेश में उसके सामने कई बच्चों से बात की। रविंद्र ने अमेरीका भेजने व वहा नौकरी दिलवाने के 45 लाख रूपए मांगे। उसने विश्वास करते हुए इसके लिए हां कर दी। उसने जमीन बेचकर 38 लाख रूपए व बेटे सुखजीत के दस्तावेज रविंद्र, रेखा व मोहित को दे दिए। पैसों की जिम्मेदारी मोहित ने ली।

 

दुबई में 4 महीने रखने के बाद बहाने बाजी करते रहे

तीनों ने मई 2022 में सुखजीत को दुबई भेज दिया। दुबई में 4 महीने रखने के बाद बहाने बाजी करते रहे और बाद में वापिस घर ले आए। बहाने बाजी करते हुए कहने लगे सुखजीत को दूसरे रास्ते से विदेश भेजेगे। तीन महीने बीत जाने के बाद कोई जवाब नही आया तो उसने तीनों से बात की जो आज कल भेजने की बात कहकर टालने लगे। उसने अपने पैसे वापिस मांगे तो एक महीने में सुखजीत को विदेश नही भिजवा पाए तो वह पैसे वापिस देने की बात कही । उसने एक महीने बाद अपने पैस वापिस मांगे तो आरोपियों ने पैसे देने से मना कर दिया और जान से मारने की धमकी देने लगे। उसे जानकारी मिली है कि आरोपी रविंद्र के खिलाफ इसी प्रकार की धोखाधड़ी का एक मामला जिला करनाल में भी दर्ज है। शिकायत पर थाना मतलौडा में नामजद आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी की विभिन्न धाराओं सहित एमिग्रेशन एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने जांच व आरोपियों की धरपकड़ के प्रयास शुरू कर दिए थे।

 

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE