Homeमनोरंजनअकबर-बीरबल की कहानी : सारा जग बेईमान Whole World Dishonest

अकबर-बीरबल की कहानी : सारा जग बेईमान Whole World Dishonest

आज समाज डिजिटल, अम्बाला :
Whole World Dishonest : एक दिन बादशाह अकबर और बीरबल प्रजा के बारे में बात कर रहे थे। बादशाह ने कहा कि बीरबल तुम्हें पता है हमारी प्रजा बहुत ईमानदार है। बीरबल ने जवाब दिया कि बादशाह सलामत, किसी भी राज्य में लोग पूरी तरह से ईमानदार नहीं होते हैं। सारा जग ही बेईमान है।

Whole World Dishonest

बीरबल तुम कैसी बात कर रहे हो

बादशाह को बीरबल की बात पसंद नहीं आई। उन्होंने पूछा कि बीरबल तुम कैसी बात कर रहे हो? बीरबल ने उत्तर दिया कि मैं सत्य कह रहा हूं। आप विश्वास चाहो तो मैं अपनी बात अभी साबित कर सकता हूं। इतना आत्मविश्वास देखकर बादशाह बोले कि ठीक है! तुम अपनी बात को सच साबित करके दिखाओ। बादशाह अकबर से इजाजत मिलते ही बीरबल प्रजा की बेईमानी बाहर लाने के लिए तरकीब सोचने लगे।

Read Also : अकबर-बीरबल: लहरें गिनना Counting Waves

बादशाह एक बड़ा भोज करना चाह रहे हैं

यह सोचते ही उन्होंने पूरे राज्य में यह एलान कर दिया कि बादशाह एक बड़ा भोज करना चाह रहे हैं। उसके लिए वो चाहते हैं कि पूरी जनता अपना योगदान दे। बस आप लोगों को ज्यादा कुछ नहीं एक लोटा दूध पतीले में डालना होगा। इतना ही प्रजा की तरफ से काफी है।

Whole World Dishonest

Whole World Dishonest : इस बात का एलान करवाने के बाद जगह-जगह पर एक-दो बड़े-बड़े पतीले रखवा दिए गए। इतना बड़ा पतीला और राज्य की जनसंख्या को ध्यान में रखते हुए उसमें लोगों ने शुद्ध दूध डालने के बजाय पानी मिला हुआ दूध डाला। किसी-किसी ने तो सिर्फ पानी ही डाल दिया। हर किसी के मन में यही होता था कि सामने वाले ने तो दूध ही डाला होगा। अगर मैं पानी या पानी मिला हुआ दूध डाल दूंगा तो क्या ही हो जाएगा।

Read Also : अकबर बीरबल : पहले मुर्गी आई या अंडा First Chicken Or Egg

पतीले में देखा तो दूध नहीं सिर्फ सफेद पानी ही दिखा

बीरबल अपने साथ बादशाह अकबर और कुछ रसोइयों को उन जगहों पर ले गए जहां पतीले रखे गए थे। बादशाह ने जिस भी पतीले में देखा तो दूध नहीं सिर्फ सफेद पानी ही दिखा। रसोइयों ने कहा कि महाराज ये दूध नहीं है। ये सारा पानी ही है। इसमें मुश्किल से आधे से एक लोटा दूध होगा जिसकी वजह से इसका रंग हल्का सफेद है। वरना ये पानी से ज्यादा कुछ नहीं। इन सारी चीजों को देखकर बादशाह अकबर हैरान हो गए। बीरबल की बात सच निकली। उन्होंने बीरबल को कहा कि तुम ठीक ही कहते थे। मुझे हकीकत समझ आ गई है। इतना कहते हुए बादशाह कि बीरबल और रसोइये वापस महल आ गए।

Read Also : अकबर-बीरबल : स्वर्ग की यात्रा Journey To Heaven

शिक्षा : किसी पर भी अंधा भरोसा नहीं करना चाहिए।

Read Also: तेनाली रमन: बीज का घड़ा Seed Pitcher

Read Also : गर्मियों में हेल्दी और फिट रहने के टिप्स Healthy And Fit In Summer

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular