Delhi’s Jantar Mantar पर धरने पर बैठे पहलवानों के समर्थन में उतरे समाजिक संगठन

0
243
विशाल धरना प्रदर्शन
विशाल धरना प्रदर्शन

Aaj Samaj, (आज समाज),Delhi’s Jantar Mantar, करनाल, 4मई, इशिका ठाकुर:

दिल्ली में जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे पहलवानों के समर्थन में उतरे समाजिक संगठन, किसान संगठन और कांग्रेस पार्टी

दिल्ली के जंतर मंतर पर पिछले काफी समय से पहलवान धरने पर बैठे हैं जो बीजेपी के नेता बृजभूषण पर योन शोषण के आरोप लगा रहे हैं. धरने पर बैठे हुए खिलाड़ी ज्यादातर देश के सबसे अच्छे खिलाड़ी हैं इसलिए मुद्दा भी काफी बड़ा होता जा रहा है. इसी के चलते कुछ दिन पहले ही बृजभूषण पर यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज किया गया है.

जिला उपायुक्त को सौंपा राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन

विशाल धरना प्रदर्शन
विशाल धरना प्रदर्शन

लेकिन फिर भी खिलाड़ी चाहते हैं कि उनको न्याय दिया जाए जिसके चलते वह धरने पर लगातार बने हुए हैं. बीती रात भी वहां पर मौजूद पुलिसकर्मियों की तरफ से उनके साथ बदसलूकी की गई जिसके विरोध में आज करनाल में समाजिक संगठन, किसान संगठन व कांग्रेस पार्टी सड़कों पर उतर आए और प्रदर्शन किया और राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन जिला उपायुक्त को सौंपा ।

देश की बेटियां अपने हकों के लिए जंतर मंतर पर कर रही हैं प्रदर्शन: जगदीप ओलख

भारतीय किसान यूनियन के नेता जगदीप ओलख ने कहा कि हमारे प्रदेश और देश की बेटियां अपने हकों के जंतर मंतर पर प्रदर्शन कर रही हैं और सरकार व सरकार के लोग उनके हकों में बोलने के बजाय मौन व्रत रखे हुए हैं. उन्होंने कहा कि आज हमने सड़कों पर निकल कर बीजेपी सरकार के खिलाफ रोष जाहिर किया है और बृज भूषण का पुतला भी फूंका है. यह एक शुरुआत है अगर समय रहते उन बेटियों को न्याय नहीं मिला तो यह आंदोलन किसान आंदोलन की तरह बड़ा रूप ले लेगा जिसकी जिम्मेदार सरकार होगी .

हमने कहा कि 36 बिरादरी पहलवानों के हाथ में खड़ी है और करनाल से यह एक छोटी सी शुरुआत है हर जिले में इस तरीके के सरकार के विरोध में प्रदर्शन किए जाएंगे और अगर फिर भी सरकार नहीं मानी तो यह है किसान आंदोलन की तरह राष्ट्रीय आंदोलन में बन जाएगा. उन्होंने बोलते हुए कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री उन बेटियों के बारे में कुछ नहीं बोल रहे क्योंकि मुख्यमंत्री की खुद की बेटी नहीं है. तो वह बेटियों का दर्द कैसे जानेंगे.

वहीं कांग्रेस नेता त्रिलोचन सिंह ने बोलते हुए कहा कि जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे हुए ज्यादातर खिलाड़ी हरियाणा के हैं और ज्यादातर बेटियां भी हरियाणा की है लेकिन उसके बावजूद भी हरियाणा के मुख्यमंत्री इस मुद्दे को दिल्ली और केंद्र का मुद्दा बता रहे हैं और कुछ भी बोलने से बच रहे हैं. मुख्यमंत्री को अपने प्रदेश की बेटियों का सम्मान करना चाहिए. और उन को न्याय दिलाने के लिए उनके साथ खड़ा होना चाहिए. लेकिन मंत्री से लेकर प्रधानमंत्री तक सभी आरोपी बृजभूषण को बचाने में लगे हुए हैं.

आने वाले समय में रेल रोकने का काम भी करेंगे

उन्होंने कहा कि 36 बिरादरी उन पहलवानों के साथ खड़ी हुई है और उनको न्याय दिलाने के लिए वह सड़कों को भी जाम करेंगे और आने वाले समय में रेल रोकने का काम भी करेंगे. अगर फिर भी सरकार ने गंभीरता से इस मुद्दे को नहीं लिया तो आगे और भी बड़ा आंदोलन सरकार के खिलाफ किया जा सकता है. जिसके जिम्मेवार सरकार होगी.

यह भी पढ़ें : World Earth Day : हकेवि में विश्व पृथ्वी दिवस के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित

यह भी पढ़ें : Horticulture Awareness Camp : गुढ़ा व मांडोला में बागवानी जागरूकता कैंप आयोजित

यह भी पढ़ें :Raids on Godowns : सीएम फ्लाइंग ने गांव सेहलंग व पाथेड़ा में 2 गोदामों पर की छापेमारी

Connect With  Us: Twitter Facebook

SHARE