Homeहरियाणायमुनानगरनिरंकारी बाबा हरदेव सिंह की स्मृति में समर्पण दिवस, आज विशाल निरंकारी...

निरंकारी बाबा हरदेव सिंह की स्मृति में समर्पण दिवस, आज विशाल निरंकारी संत समागम का होगा आयोजन

प्रभजीत सिंह लक्की, यमुनानगर :

निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी महाराज की स्मृति में 13 मई दिन शुक्रवार को समर्पण दिवस मनाया जाएगा। इस उपलक्ष्य में निरंकारी सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज की दिव्य उपस्थिति में विशाल निरंकारी संत समागम का आयोजन शुक्रवार शाम पांच बजे से रात नौ बजे तक संत निरंकारी आध्यात्मिक स्थल समालखा में किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : समाज सेवक नंदकिशोर कौड़ा व धर्मपत्नी चंद कौड़ा को श्रीराम मंदिर अयोध्या के निर्माण कार्य में 1 करोड़ रूपये की राशि दान करने के लिए बंगवासियों ने किया सम्मानित Shri Ram Mandir Ayodhya

जिले से हजारों की संख्या में जाएगी संगत

समागम में यमुनानगर से हजारों की संख्या में संगत जाएगी। समागम में प्रदेश समेत देश व विदेश से संगत आएगी। इसके अलावा देश व विदेश के विभिन्न हिस्सों में भी समर्पण दिवस पर समागम होंगे। जहां सभी भक्त बड़ी संख्या में एकत्रित होकर बाबा हरदेव सिंह जी को स्मरण करेंगे और उनके द्वारा दिखाए गए मार्ग पर पूर्ण सकारात्मकता एवं समर्पण के साथ चलने के संकल्प को दोहरायेंगे। यह जानकारी यमुनानगर ब्रांच के संयोजक बलदेव सिंह ने दी।

बाबा हरदेव सिंह जी ने 36 वर्षों तक निरंकारी मिशन की बागडोर संभाली

उन्होंने बताया कि युगदृष्टा बाबा हरदेव सिंह जी का दिव्य, सर्वप्रिय स्वभाव के संत थे। उनकी विशाल अलौकिक सोच, मानव कल्याण को समर्पित थी। उन्होंने पूर्ण समर्पण, सहनशीलता एवं विशालता वाले भावों से युक्त होकर ब्रह्मज्ञान रूपी सत्य के संदेश को जन-जन तक पहुंचाया और विश्व बन्धुत्व की परिकल्पना को वास्तविक रूप प्रदान किया। बाबा हरदेव सिंह जी ने 36 वर्षों तक सत्गुरू रूप में निरंकारी मिशन की बागडोर संभाली। उन्होंने आध्यात्मिक जागृति के साथ-साथ समाज कल्याण के लिए भी अनेक कार्यों को रूपरेखा प्रदान की, जिनमें मुख्यतः रक्तदान, ब्लड बैंक का गठन, नेत्र जांच शिविर, वृक्षारोपण अभियान, स्वच्छता अभियान आदि के आयोजन का बहुमूल्य योगदान रहा।

मार्गदर्शक के रूप में मानवता को सत्य का मार्ग दर्शाते रहे

एक आदर्श समाज की स्थापना हेतु महिला सशक्तिकरण एवं युवाओं की ऊर्जा को नया आयाम देने के लिए भी बाबा हरदेव ने कई परियोजनाओं को आशीर्वाद दिया। इसके अतिरिक्त प्राकृतिक आपदाओं के समय में भी उनके निर्देशन में मिशन द्वारा निरंतर सेवाएं निभाई गई। बाबा हरदेव सिंह जी को मानव मात्र की सेवाओं में अपना उत्कृष्ट योगदान देने के लिए देश-विदेश में सम्मानित भी किया गया। उन्हें 27 यूरोपीय देशों की पार्लियामेंट ने विशेष तौर पर सम्मानित किया और मिशन को संयुक्त राष्ट्र (यूएन) का मुख्य सलाहकार भी बनाया गया। साथ ही विश्व में शांति स्थापित करने हेतु अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी सम्मानित किया गया। मानव कल्याण के प्रति समर्पित सतगुरु बाबा हरदेव सिंह जी जीवनपर्यन्त एक आध्यात्मिक मार्गदर्शक के रूप में मानवता को सत्य का मार्ग दर्शाते रहे।

बाबा हरदेव सिंह जी के कुछ प्रेरक संदेश

इस दृष्टिकोण को सकारात्मक स्वरूप देते हुए वर्तमान सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज एक नई ऊर्जा एवं तन्मयता के साथ आगे बढ़ा रहे हैं। वर्तमान समय में जहां हर ओर वैर, ईर्ष्या, द्वेष का वातावरण व्याप्त है, प्रत्येक मानव दूसरे मानव का केवल अहित ही करने में लगा हुआ है। ऐसे समय में बाबा हरदेव सिंह जी के प्रेरक संदेश कि ‘कुछ भी बनो मुबारक है पर पहले तुम इंसान बनो,’ ‘दीवार रहित संसार,’ ‘एक को मानो, एक को जानो, एक हो जाओ’ आदि को जीवन में अपनाने की नितांत आवश्यकता है। तभी सही मायनों में विश्व में अमन और शांति का वातावरण स्थापित हो सकता है।

यह भी पढ़ें : 6 किलो हेरोईन तथा 32 लाख की नकदी बरामद, आरोपी फरार 6 kg Heroin And 32 Lakh Cash Recovered

यह भी पढ़ें : 2024 में अयोध्या में सभी करें रामलला के दर्शन: आलोक कुमार

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular