Homeहरियाणारोहतकयोग को जीवन में अपनाएं विद्यार्थी : डॉ. खोखर : Students Adopt...

योग को जीवन में अपनाएं विद्यार्थी : डॉ. खोखर : Students Adopt Yoga In Life

Students Adopt Yoga In Life

HEADLINES : 

  • जाट कॉलेज यूथ रेडक्रॉस का ऑनलाईन कैंप का तीसरा दिन  
  • ऑनलाईन कैंप में अपने विचार रखते वाईआरसी के अधिकारी और विद्यार्थीगण

आज समाज डिजिटल,रोहतक : 
Students Adopt Yoga In Life : अखिल भारतीय जाट सूरमा स्मारक महाविद्यालय में यूथ रेडक्रॉस के जिला स्तरीय पांच दिवसीय ऑनलाईन कैंप के तीसरे दिन विद्यार्थियों को विभिन्न महत्वपूर्ण जानकारी दी गई। तीसरे दिन कैंप में सीआर बीएड कॉलेज की प्राचार्या डॉ. सुरेखा खोखर ने योग एवं अच्छे स्वास्थ्य पर प्रकाश डाला। उनका कॉलेज प्राचार्य डॉ. महेश ख्यालिया और यूथ रेडक्रॉस के कॉओर्डिनेटर डॉ. विवेक दांगी ने स्वागत किया।

Also Read : RSMSSB APRO Recruitment 2022 एपीआरओ पदों पर भर्ती, 14 फरवरी तक आवेदन

मुख्य अतिथि डॉ. सुरेखा खोखर practice yoga

Students Adopt Yoga In Life
Students Adopt Yoga In Life

मुख्य अतिथि डॉ. सुरेखा खोखर ने कहा कि योग में मानव के व्यक्तित्व के समग्र विकास को संपन्न करने की क्षमता है। योग की जड़ें भारतीय संस्कृति और परंपराओं में स्थापित हैं। विद्यार्थियों के लिए योग बहुत ही लाभदायक है इससे विद्यार्थियों के मन-मस्तिष्क में स्थिरता आती है और विद्यार्थियों को अपनी पढ़ाई में ध्यान केंद्रित करने में भी पूर्ण रूप से सहायता मिलती है।

उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को व्यक्तित्व व चरित्र निर्माण विषय की बारीकियों से अवगत कराया।
यूथ रेडक्रॉस के कॉओर्डिनेटर डॉ. विवेक दांगी ने बताया कि प्राचीन काल के सभी भारतीय देवी-देवताओं की पूजा जापान के बौद्ध मंदिरों में आज भी की जाती है। (Students Adopt Yoga In Life)

इससे पता चलता है कि भारतीय संस्कृति का प्रभाव विदेशों में कालांतर से ही है। उन्होंने कहा कि भारतीय सभ्यता में पांच हजार साल से भी पुराने शहरीकरण के अवशेष मिले हैं। जिससे यह पता चलता है कि भारत में प्राचीन काल से ही लोग एक अच्छी और सुदृढ़ जीवनशैली के साथ जीवन यापन करते थे।

कैंप में मौजूद डॉ. जसमेर सिंह Adopt Yoga In Life

डॉ. जसमेर सिंह ने कैंप में मौजूद विद्यार्थियों से आह्वान किया कि स्वच्छ व शुद्ध पेयजलदायिनी नहरों नहरों में किसी प्रकार का कोई धार्मिक या आस्था से जुड़ा हुआ या पूजा पाठ की सामग्री नहरों में प्रवाहित न करें। उन्होंने कहा कि नहरी पानी को स्वच्छ व प्रदूषण रहित बनाने के लिए शहर के कई सामाजिक संगठन व युवाओं ने ‘सुनो नहरों की पुकार’ मिशन शुरू किया हुआ है जिसमें पर्यावरण सुरक्षा से जुड़े हुए कई प्रबुद्धजन आगे आ रहे हैं। उनके मिशन के सात सदस्यों को गणतंत्र दिवस के मौके पर सम्मानित भी किया गया है।

इन्होंने लिया हिस्सा students adopt yoga

वहीं सायंकालीन सत्र में मदवि के डिपार्टमेंट ऑफ कंप्यूटर साइंस एंड एप्लीकेशंस के डॉ संदीप दलाल साइबर क्राइम और सिक्योरिटी पर अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर यूथ रेडक्रॉस के कॉओर्डिनेटर डॉ. विवेक दांगी, डॉ. जसमेर सिंह, डॉ. संजीत, डॉ. प्रियंका, डॉ. कांता, डॉ. निशांत, डॉ. मनीषा दहिया, डॉ. मोनिका, डॉ. लक्ष्मी, डॉ. समीर सहित सभी विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया।

Students Adopt Yoga In Life

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular