Homeहरियाणामहेंद्रगढ़अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत निगरानी कमेटी की...

अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत निगरानी कमेटी की बैठक आयोजित

नीरज कौशिक, महेंद्रगढ़:

  • पीड़ितों को आर्थिक सहायता समय पर दी जानी सुनिश्चित करें : एसडीएम

लघु सचिवालय महेंद्रगढ़ में एसडीएम वकील अहमद ने आज अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 के अंतर्गत उपमंडल स्तरीय सतर्कता एवं निगरानी कमेटी की बैठक ली। इसमें इस एक्ट के तहत दर्ज मामलों की समीक्षा की गई।

केसों के मुकदमों की समीक्षा की

उन्होंने अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत सभी केसों के मुकदमों की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि इन केसों के तहत सभी पीड़ितों को आर्थिक सहायता समय पर दी जानी सुनिश्चित की जाए तथा पुलिस विभाग से तालमेल करके इनकी स्थिति का अधिकारी जायजा लेते रहे तथा अधिकारी यह भी सुनिश्चित करें की पीड़ितों को सहायता लेने में किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं हो। उन्होंने कहा कि अगर किसी भी व्यक्ति पर अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार अधिनियम का केस लगता है तो अधिकारी तुरंत उसे संबंधित विभाग को भेजें।

सफाई कर्मियों को सुरक्षा किट प्रदान करें

उन्होंने कहा कि जन स्वास्थ्य विभाग सभी सफाई कर्मचारियों को सेफ्टी किट उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करें और यदि इन सेफ्टी किट के लिए बजट की कमी है तो बजट की मांग करें। उन्होंने कहा कि सेफ्टी किट के साथ-साथ समय-समय पर सभी सफाई कर्मचारियों का मेडिकल चेकअप कैंप लगाएं ताकि उनका स्वास्थ्य ठीक रहे।

इस अवसर पर बीडीपीओ सतनाली नरेंद्र ढूल, जिला कल्याण विभाग से एआरओ धर्मेंद्र कुमार, इंस्पेक्टर मूलचंद, जन स्वास्थ्य विभाग से जेई दीपचंद, राम सिंह लिपिक, नगर पालिका से संजय कुमार लिपिक तथा गैर सरकारी लोगों में अमीलाल पूर्व सरपंच, दयाचंद मालडा, लालचंद पूर्व सरपंच, रोहताश सिंह के अलावा अन्य लोग मौजूद थे।

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular