Homeहरियाणाकरनालभूमि के लिए सीएम आवास पर किसानों का धरना

भूमि के लिए सीएम आवास पर किसानों का धरना

इशिका ठाकुर, करनाल:

मुश्तरका मालकान व जुमला मालकान भूमि मामले को लेकर भारतीय किसान यूनियन चढूनी ग्रुप ने आज करनाल के प्रेमनगर स्थित सीएम आवास पर धरना प्रदर्शन किया। बड़ी संख्या में महिला किसान धरने में शामिल हुई, किसान आज रात सीएम आवास पर ही डेरा डालेंगे।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम

किसानों ने मंत्रियों से मांग की है कि उनकी खाने पीने की व्यवस्था की जाए, सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस ने सीएम आवास के बाहर कड़े इतंजाम किए। हरियाणा के जिले करनाल में मुश्तरका मालकान व जुमला मालकान कानून को लेकर भारतीय किसान यूनियन चढूनी ग्रुप ने करनाल के रामनगर में सीएम आवास का घेराव कर लिया। भारी संख्या में पहुंचे किसानों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। किसान आज रात सीएम आवास पर ही डेरा डालेंगे। किसानों ने मंत्रियों से मांग की है कि उनकी खाने पीने की व्यवस्था की जाए, अन्यथा वे भूख हड़ताल पर ही रहेंगे। बतादे कि करनाल में आज तीन जिलों के सैकड़ों किसानों ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर डेरा डाल दिया है।

किसानों को रोकने के लिए पुलिस के बैरिकेड

वहीं किसानों के धरना-प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त कर किए हुए है। सीएम आवास के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। वहीं पुलिस ने सीएम आवास पास सड़क पर दोनों तरफ बेरिकैटस लगा दिए गए। सुबह 10 बजें कही तीन जिलों के किसान सेक्टर 12 जाट भवन में एकत्रित हुए वहां से करीब 11:20 पर वह सीएम आवास के लिए रवाना हुए। 12 बजे वह सीएम आवास पर पहुंचे जहां पर पुलिस ने बेरिकैटस लगाकर उनका रास्ता रोका जिसके बाद किसानों न सड़क पर ही डेरा डाल दिया। रात भर किसान यहीं पर किसान धरना देगें कल शाम 5 बजें अपने धरने को समाप्त करेगें।

आरोप: सरकार हड़पना चाहती है किसानो की जमीन\

Farmers’ strike at CM’s residence for land

जिला अध्यक्ष अजय सिंह राणा ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में मुश्तरका मालकान और जुमला मालकान जमीन को सरकार हड़पना चाहती है, लेकिन भाकियू ऐसा कतई नहीं होने देगी। पूरे हरियाणा में वीरवार व शुक्रवार को कैबिनेट मिनिस्टरों के आवास पर धरना प्रदर्शन किया जा रहा है। इस प्रदर्शन का खर्च मंत्री को ही उठाना होगा और किसानों के रहने व खाने की व्यवस्था करनी होगी। यदि ऐसा नहीं किया जाता है तो किसान दो दिनों तक भूख हड़ताल पर रहेंगे। धरना प्रदर्शन शांतिपूर्ण तरीके से होगा और उसके बाद शुक्रवार को सरकार का पुतला दहन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि करनाल जिला में किसान सीएम आवास पर धरना प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने मुश्तरका मालकान कानून का जिक्र करते हुए बताया कि जमीन की चकबंदी हुई थी, उस वक्त सरकार ने हर मरब्बे से किसानों के हिस्से की कुछ जमीन अपने पास रख ली थी।

शाम को गुरनाम पहुंचेगें धरने पर

किसान नेता मंजीत चौगावा ने कहा कि यह सरकार मुश्तरका मालकान व जुमला मालकान कानून लगा कर किसानों की जमीन नगर पालिका व पंचायतों को अधिकन करवाना चाहती है। सरकार के इस फैसले के विरोध में आज पूरे प्रदेश में 14 कैबिनेट मंत्रीयों व 15 करनाल के सीएम आवास पर धरना दिया जा रहा है। शाम को 4 बजें किसान नेता गुरनाम सिंह धरना स्थल पर पहुंचकर किसानों को संबोधित करेगें।

ये भी पढ़ें : धर्म आराधना स्वाध्याय एक तप है : मधुबाला

ये भी पढ़ें :  किसानों के लिए खोला एकीकृत बागवानी विकास केंद्र

ये भी पढ़ें : दिव्यांग एवं निर्धन जोड़ों का 38वां नि:शुल्क सामूहिक विवाह समारोह

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular