HomeहरियाणाकैथलTemporary Fire Station: कलायत में अस्थाई फायर स्टेशन का उद्घाटन, सावधानी से...

Temporary Fire Station: कलायत में अस्थाई फायर स्टेशन का उद्घाटन, सावधानी से टल सकती हैं आगलगी की घटनाएं

वर्षो के लंबे इंतजार के बाद जिला कैथल के अंतर्गत आने वाले कलायत में अस्थाई दकमल केंद्र तैयार हो चुका है। इसका उद्घटान आज स्थानीय राज्य मंत्री कमलेश ढांडा करेंगी। यहां बताते चले कि कलायत एरिया में अग्रिकांड व आपातकालीन स्थिति के लिए लोगों को दमकल कैथल पर निर्भर रहना पड़ता था। जिसकी वजह से अग्रिकांड जैसी घटनाओं में दमकल वाहन को अक्सर पहुंचने देरी होने से भारी नुक्सान होता था Temporary Fire Station

गौतम तारीफ, कैथल:

Temporary Fire Station: शहर सहित देश में विशेषकर गर्मी के मौसम में आगलगी की काफी घटनाएं होती है। शुक्रवार यानी 11 मार्च को गन्नौर में रामनगर रोड स्थित जुराब बनाने वाली फैक्ट्री लगी आग इसकी ताजा उद्धाहरण है। आग बुझाने के लिए गन्नौर, सोनीपत, समलाखा, राई व कुंडली से दकमल विभाग की दस गाडियां ने करीब दस घंटों की बड़ी मशक्कत के बाद काबू पाया। सावधानियों व सर्र्तकता में चूक होने से सबसे अधिक आगलगी की घटनाओं का अग्रिशमन विभाग के पास प्रत्यक्ष व परोक्ष रूप से रिकार्ड है। कैथल जिले में वर्ष 2021 में शतक पार आगलगी की घटनाएं हुई जिसमें करोड़ों का नुक्सान हुआ। विभाग का दावा है कि जरूरी सावधानियों व सतर्कता बरतने से आकस्मिक होने वाली आगलगी घटनाओं को काफी हद तक टाला जा सकता है।

Read Also: Haryana Kaushal Rojgar Nigam 2022: युवाओं में कौशल विकास सृजित कर रोजगार उपलब्ध करवाने में केन्द्र होगा वरदान साबित : दुष्यंत चौटाला

जिले में 15 अग्रिशमन वाहन उपलब्ध Temporary Fire Station

जिला फायर स्टेशन ऑफिसर गुरमेल सिंह ने बताया कि आगलगी की घटनाओं पर काबू पाने के लिए जिले में दो बाइकों समेत कुल 15 अग्रिशमन वाहन उपलब्ध है। इनमें दस बड़ी गाड़ी और एक बाइक कैथल फायर स्टेशन के पास है। वहीं, पंूडरी सब स्टेशन के पास दो गाड़ी है। इनके अलावा चीका सब स्टेशन पर एक गाड़ी और एक बाइक है।

Read Also: Crop Damage due to Natural Calamity: कृषि सुधार और किसानों के उत्थान हेतू लिए अहम निर्णय:सरदार संदीप सिंह

आगलगी की घटना होने पर ऐसे करें बचाव Temporary Fire Station

ये बरते सावधानियां Temporary Fire Station

  • झोपड़ी, घर, दुकान व अन्य कार्यालय में प्रवेश व निकास द्वार के अलावा बचाव का भी रास्ता छोडऩा चाहिए।
  • फूस की झोपड़ी पर मिट्टी का लेप करना चाहिए।
  • खाना पकाते समय रसोई घर में पानी भरी दो बाल्टी जरूर रखें।
  • काम खत्म होने के बाद गैस का रेगुलेटर बंद कर देना चाहिए।
  • घर से बाहर जाने पर इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को बंद कर देना चाहिए।
  • खेत के अवशेष को हवा बहने के दौरान कभी नहीं जलाना चाहिए।
  • थ्रेसर मशीन के पास दो ड्रम पानी रखना चाहिए।
  • जलती माचिस की तिल्ली को हमेशा बुझा कर फेंकना चाहिए।
  • दो झोपडिय़ों के बीच कम से कम दो गज की दूरी जरूरी होनी चाहिए।
  • मवेशियों के लिए जीआई अथवा एस्बेस्टस शीट से ही घर बनाना चाहिए।
  • मवेशियों के घर के पास  पानी का पर्याप्त भंडार रखना चाहिए।
  • मवेशियों को हमेशा जूट की रस्सी से ही बांध कर रखना चाहिए।
  • गर्मी के मौमस में बड़े व घने पेड़ों के पास ही मवेशियों को रखना सुरक्षित होगा।
  • खेतों से गुजरने वाले बिजली तार के किसी भी जोड़ को ढीला व खुला नहीं रखना चाहिए।
  • किसी भी उत्सव के दौरान पकी फसल के आसपास आतिशबाजी नहीं करना चाहिए।
  • टेंट अथवा पंडाल में हीटर अथवा अंगीठी का उपयोग नहीं करना चाहिए।
  • आग लगने पर की स्थिति में टेंट से खड़े नही, बल्कि झुक कर या रेंगकर बाहर निकलना चाहिए।
  • नियमित व वर्ष में कम से कम एक बार बिजली वायरिंग की जांच कराना चाहिए।

 

वर्जन

कलायत में रविवार को राज्यमंत्री कमलेश ढांडा अस्थाई दमकल स्टेशन का उद्घाटन करेंगी। यहां पर दो गाड़ी और छह कर्र्मचारी तैनात रहेंगे। राज्यमंत्री कमलेश ढांडा व नगर आयुक्त ने प्रयास से ही कलायत में अस्थाई सब फायर स्टेशन स्थापित हुआ है। जिले में कुल 15 दमकल वाहन उपलब्ध है।

-गुरमेल सिंह, फायर स्टेशन ऑफिसर, कैथल।

 

Read Also: Flying Pilot and Lieutenant: कपिल यादव फ्लाइंग पायलट व इशिका बनी लेफ्टिनेंट

Read Also: Congress Party Meeting: सभी कार्यकर्ताओं की मेहनत से होगा पार्टी के नए युग का उदय : बतरा

Also Read : झटका: हरियाणा रोडवेज के सेवानिवृत्तकर्मियों की मुफ्त बस यात्रा पर ब्रेक, विरोध Brakes On Free Bus Travel

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular