HomeहरियाणाजींदRoadways Bus Steering Failed: यात्रियों से भरी बस का स्टीयरिंग हुआ फेल,...

Roadways Bus Steering Failed: यात्रियों से भरी बस का स्टीयरिंग हुआ फेल, बाल बाल बचे यात्री

आज समाज डिजिटल, जींद:

Roadways Bus Steering Failed: जींद से पानीपत की तरफ जा रही रोडवेज बस की राजकीय कॉलेज के सामने टायर की रॉड टूट गई। इसके चलते स्टीयरिंग फेल हो गया। गनीमत रही की बस की स्पीड कम थी, जिस कारण बस उसी समय रूक गई और बड़ा हादसा टल गया। बस में काफी संख्या में यात्री सवार थे।

Read Also: Blind Murder Case Solved: नाबालिग बेटी की समझदारी से हत्यारे सलाखों के पीछे

राजकीय कॉलेज के सामने टूटी रॉड Roadways Bus Steering Failed

शनिवार सुबह सफीदों सब डिपो की एक बस सींक से जींद आई और जींद बस अड्डे से करीब सवा आठ बजे पानीपत के लिए निकली। गोहाना रोड पर राजकीय कॉलेज के सामने बस के नीचे टाय रॉड टूट गई, जिससे स्टीयरिंग का कंट्रोल खत्म हो गया। बस की स्पीड कम थी, इसलिए चालक के ब्रेक लगाते ही बस रूक गई। बस में 30 से ज्यादा यात्री सवार थे।

Read Also: Criminal Arrested: मारपीट व छीना झपटी के मामले में फरार इनामी आरोपित गिरफ्तार

हो सकता था बड़ा हादसा Roadways Bus Steering Failed

अगर बस स्पीड में होती और साइड में दूसरा कोई वाहन क्रॉस कर रहा होता तो बड़ा हादसा भी हो सकता था। बस को चेक किया गया तो जो टाय रॉड टूटी थी, वह पहले ही घिस चुकी थी, जिस पर कट का निशान भी पड़ा हुआ था और मोटी लोहे की यह रॉड मात्र 10 सेंटीमीटर ही टूटने से बची थी। चालक का कहना था कि इससे पहले कभी भी ऐसा नहीं हुआ था।

कंडम घोषित बसों की वैलिडिटी 10 साल से बढ़ाकर 15 साल कर दी Roadways Bus Steering Failed

परिवहन विभाग द्वारा रोडवेज की कंडम घोषित हुई बसों की वैलिडिटी 10 साल से बढ़ाकर 15 साल कर दी है। हालांकि परिवहन विभाग ने इन बसों की अच्छी तरह से मेंटेनेंस करने के बाद रूटों पर उतारने के लिए कहा गया है लेकिन बिना मेंटेनेंस के यह बसें यात्रियों के लिए जानलेवा भी बन सकती हैं।

Read Also: सरकार ने दी ढील, आधी क्षमता से चलेंगे सिनेमा, खुलेंगे स्कूल Government New Corona Guidelines In Haryana

की जाएगी मामले की जांच Roadways Bus Steering Failed

जींद डिपो के वर्कशॉप मैनेजर लक्की गुप्ता ने बताया कि बसों की फिटनेस जांच के बाद ही रूटों पर उतारा जाता है। शनिवार को सफीदों सब डिपो की जिस बस की टाय रॉड टूटी थी, इससे पहले कभी भी इस तरह की दिक्कत नहीं आई थी। बस से संबंधित जॉब कार्ड चेक किया गया था, बस बिल्कुल सही थी। अगर टाय रॉड में पहले से ही कट का निशान था तो इस मामले में जांच की जाएगी।

Also Read : RSMSSB APRO Recruitment 2022 एपीआरओ पदों पर भर्ती, 14 फरवरी तक आवेदन
Connect With Us : Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular