Silver screen stars in loksabha election 2019: रणक्षेत्र में उतरेंगे सिल्वर स्क्रीन के सितारे 

0
389
अंबाला। लोकसभा चुनाव के इतिहास में कई मौके ऐसे आए हैं जब ग्लैमर की दुनिया के सितारे जमीं पर उतरे हैं। कभी वो दूसरे नेताओं के लिए वोट मांगते नजर आते हैं कभी खुद के लिए ही वोट मांगते हैं। साल 2019 का चुनाव भी कुछ ऐसा ही होने जा रहा है। विभिन्न दलों ने टिकटों की घोषणा शुरू कर दी है। इस बीच फिल्मी सितारों के चुनाव में उतरने का दौर भी शुरू हो गया है।  कयास लगाए जा रहे हैं किस सितारे को कौन सी पार्टी कौन सी सीट से चुनाव लड़वा सकती है। आज समाज ने कुछ ऐसे ही सितारों को खोजा, जिनके बारे में कयासों का दौर चल रहा है। आइए एक नजर डालते हैं ग्लैमर वर्ल्ड के इन सितारों और उनकी चुनावी चकाचौंध पर जो पहली बार चुनावी मैदान में नजर आ सकते हैं।
अक्षय कुमार (दिल्ली के मैदान से)
इस वक्त सबसे अधिक चर्चा अक्षय कुमार को लेकर है। ग्लैमर वर्ल्ड के साथ-साथ राजनीतिक लॉबी भी इस बात पर चर्चा कर ही है। जो खबरें निकल कर सामने आ रही हैं उसमें कहा जा रहा है कि अक्षय कुमार को भारतीय जनता पार्टी दिल्ली के चांदनी चौक सीट से चुनाव लड़वा सकती है। हालांकि अक्षय कुमार ने अपनी राजनीतिक इंट्री पर कुछ भी बोलने से इनकार किया है। लेकिन उनकी चुप्पी बहुत कुछ बयां कर रही है। अक्षय कुमार के ससुर राजेश खन्ना का राजनीति से गहरा नाता रहा है। कांग्रेस ने उन्हें पहली बार लोकसभा का टिकट दिया था और वे 1992 में संसद पहुंचे थे। बाद में उन्होंने राजनीति को अलविदा कह दिया था।
अनुपम खेर (पंजाब के मैदान से)
अनुपम खेर एक सुलझे हुए अभिनेता तो हैं ही राजनीति में भी उनकी अच्छी पकड़ है। कई राजनेताओं के साथ उनके अच्छे रिश्ते रहे हैं। अनुपम की पत्नी किरण खेर चंडीगढ़ से बीजेपी की सांसद हैं। इस बार भी उनकी टिकट पक्की मानी जा रही है। पर खबर यह भी है कि भारतीय जनता पार्टी अनुपम खेर को भी टिकट दे सकती है। हालांकि अनुपम खेर ने कई मौकों पर कहा है कि वे फिल्मी दुनिया में ही कंफर्ट महसूस करते हैं। फिर भी इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि इस बार के लोकसभा चुनाव में अनुपम खेर की इंट्री हो जाए।
प्रकाश राज (साउथ के मैदान से)
वॉलीवुड फिल्मों के दमदार खलनायक प्रकाश राज भी इस बार राजनीतिक मैदान में कदम रख सकते हैं। अभी कौन सी पार्टी उन्हें टिकट देगी यह तय नहीं है, लेकिन प्रकाश राज ने स्वयं भी यह घोषणा कर रखी है कि वे 2019 का चुनाव निश्चित तौर पर लड़ेंगे। एक जनवरी को प्रकाश राज ने कहा कि वह फिलहाल किसी पार्टी में शामिल नहीं हो रहे हैं, लेकिन वे निर्दलिय चुनाव लड़ेंगे यह तय है। साउथ में प्रकाश की अच्छी फैन फॉलोइंग है। वहीं हिंदी सिनेमा के दमदार विलेन के रूप में भी उन्होंने अपनी अलग पहचान कायम की है।
संजय दत्त (यूपी के मैदान से)
इस वक्त सबसे अधिक चर्चा संजय दत्त को लेकर है। संजय दत्त की पारिवारिक पृष्ठभूमि राजनीति रही है। उनके पिता सुनील दत्त कांग्रेस नेता रहे हैं, जबकि उनकी बहन प्रिया दत्त ने भी राजनीति में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। संजय दत्त का पूरा जीवन विवादों में रहा है। पर हर बार उन्होंने मजबूती के साथ खुद को स्थापित किया है। साल 2009 में भी संजय दत्त ने राजनीति में कदम रखा था, लेकिन विवादों में घिरे होने के कारण उनका राजनीतिक सूर्य शुरू होते ही अस्त हो गया था। इस बार कयास लगाए जा रहे हैं कि समाजवादी पार्टी उन्हें अपना उम्मीदवार बना सकती है और उत्तरप्रदेश के गाजियाबाद से उन्हें टिकट दे सकती है।
अक्षय खन्ना (पंजाब के मैदान से)
अक्षय खन्ना वैसे तो फिल्मी दुनिया में ही रमे हैं, लेकिन उनकी पृष्ठभूमि भी राजनीति से अछुति नहीं है। अक्षय के पिता विनोद खन्ना पंजाब के गुरदासपुर से बीजेपी सांसद रहे हैं। पर उनकी मौत के बाद उनकी राजनीतिक विरासत अक्षय ने नहीं संभाली। इस बार के चुनाव में अक्षय खन्ना अपने पिता की राजनीतिक विरासत को संभाल सकते हैं। बीजेपी भी गुरदासपुर सीट से किसी दमदार चेहरे को उतारना चाहती है। ऐसे में अक्षय खन्ना यहां खादी पहने मैदान में नजर आ जाएं तो कोई आश्चर्य नहीं होन चाहिए।
कमल हासन (साउथ के मैदान से)
प्रसिद्ध अभिनेता भी 2019 के चुनाव में पहली बार राजनीति के मैदान में होंंगे। राजनीति में उनकी दिलचस्पी काफी पहले से रही है, लेकिन कभी उन्होंने राजनीति की मुख्यधारा में खुद को शामिल नहीं किया। इस बार उन्होंने अपना राजनीतिक कॅरियर शुरू करने का एलान कर रखा है। कमल हासन ने अपनी राजनीति पार्टी भी गठित कर ली है। उनकी पार्टी का नाम ‘मक्कल नीधि मय्यम’ है। चुनाव लड़ने का ऐलान उन्होंने खुद किया है।
शर्मिला टैगोर (हरियाणा के मैदान से)
प्रसिद्ध अभिनेत्री शर्मिला टैगोर भी राजनीतिक परिवेश में रह चुकी हैं। उनके पति मंसूर अली खां पटौदी की पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी से काफी नजदिकियां थीं। कांग्रेस के टिकट से ही पटौदी ने भोपाल से लोकसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। भोपाल उनका ननिहाल था, जबकि पैतृक गांव पटौदी में है, जो हरियाणा में पड़ता है। इस बार के चुनाव में शर्मिला टैगोर को कांग्रेस पटौदी से अपना उम्मीदवार बनाना चाह रही है। शर्मिला की तरफ से फिलहाल इस खबर का खंडन नहीं किया गया है।
करीना खान कपूर (मध्यप्रदेश के मैदान से)
एक तरफ जहां शर्मिला टैगोर के राजनीति के मैदान में कदम रखने की चर्चा चल रही है, वहीं दूसरी तरफ उनकी बहू प्रसिद्ध अभिनेत्री करीना खान कपूर के भी इस मैदान में उतरने की चर्चा है। कहा जा रहा है कि करीना कांग्रेस की टिकट से भोपाल में अपनी राजनीतिक पारी शुरू कर सकती हैं। करिना के ससूर मंसूर अली खां पटौदी ने साल 1991 में यही से अपनी राजनीतिक बैटिंग शुरू की थी।
 
सनी देओल  (उत्तर प्रदेश के मैदान से)
अभिनेता सनी देओल के पिता और मां दोनों ही राजनीति में रहे हैं। धर्मेंद्र राजस्थान के बीकानेर से सांसद रहे चुके हैं, जबकि हेमा मालिनी इस वक्त सांसद हैं। दोनों की पृष्ठभूमि बीजेपी की रही है। ऐसे में सनी दोओल के चुनाव लड़ने की बात सामने आई है। उत्तरप्रदेश के बागपत से उनके चुनाव लड़ने की संभावना जताई जा रही है।
इन दो बड़े सितारों पर भी दांव
माना जा रहा है कि इस चुनाव में माधुरी दीक्षित भी अपना पॉलिटकल कॅरियर शुरू कर सकती हैं। बीजेपी उन्हें पुणे लोकसभा सीट से अपना प्रत्याशी बना सकती है।
इसी तरह इंदौर से सलमान खान के राजनीति में उतरने की चर्चा खूब जोर पकड़ रही है। कांग्रेस के प्रदेश सचिव राकेश यादव के बयान के बाद इस चर्चा ने जोर पकड़ी है।
SHARE