PM Modi ने सरदार पटेल की जयंती पर गुजरात में स्टैच्यू आफ यूनिटी पहुंचकर दी उन्हें श्रद्धांजलि

0
45
PM Modi
पीएम मोदी ने सरदार पटेल की जयंती पर स्टैच्यू आफ यूनिटी पहुंचकर दी उन्हें श्रद्धांजलि

Aaj Samaj (आज समाज), PM Modi गांधीनगर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज गुजरात दौरे का दूसरा दिन है और साथ ही आज सरदार पटेल को जयंती भी है। पीएम ने सुबह स्टैच्यू आफ यूनिटी पहुंचकर सबसे पहले सरदार वल्लभभाई पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद वह केवड़िया में राष्ट्रीय एकता दिवस कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे हैं। वहां प्रधानमंत्री 160 करोड़ रुपए की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे। कल मेहसाणा में 5,950 करोड़ रुपए की रेल, सड़क, पेयजल और सिंचाई से जुड़ी कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास किया था।

  • कल मेहसाणा में कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास किया 

स्थिर सरकार से ही देश का आथिक विकास संभव

मेहसाणा जिले में सोमवार को कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, है स्थिर सरकार से ही देश का आथिक विकास संभव है और हम जो वचन देते हैं, उसे पूरा करते हैं। उन्होंने दावा किया कि भारत 2047 तक विकसित राष्ट्र होगा जिसमें भ्रष्टाचार, जातिवाद और सांप्रदायिकता के लिए कोई जगह नहीं होगी। पीएम ने कहा, देशवासी जानते हैं कि जब मैं कोई संकल्प लेता हूं तो उसे पूरा करता हूं। देश का तेजी से आर्थिक विकास भी स्थायी सरकार के कारण ही होता है।

हमारे पास आज विकास की नींव रखने का शानदार मौका

उन्होंने कहा, हम भारतीयों के पास आज विकास की नींव रखने का शानदार मौका है, जिसे अगले हजारों वर्षों तक याद रखा जाएगा। एक विशेष साक्षात्कार में मोदी ने यह भी कहा, 2014 से पहले तीन दशकों तक देश में कई अस्थिर सरकारें बनीं, जो बहुत कुछ नहीं कर पाईं, लेकिन पिछले कुछ वर्षों में जनता ने भारतीय जनता पार्टी को निर्णायक जनादेश दिया, जिससे एक स्थिर सरकार, अनुकूल नीतियां और समग्र दिशा में स्पष्टता आई है।

9 साल में कई सुधार लागू किए

उन्होंने कहा, इसी कारण बीते 9 साल में कई सुधार लागू किए जा सके। यह सरकार की राजनीतिक स्थिरता का स्वाभाविक परिणाम हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, अर्थव्यवस्था, शिक्षा, वित्तीय क्षेत्र, बैंक, डिजिटलीकरण, कल्याण, समावेशन और सामाजिक क्षेत्र से संबंधित इन सुधारों ने एक मजबूत बुनियाद रखी, जिससे देश की आर्थिक वृद्धि हुई। उन्होंने कहा, भारत की विकास गाथा पर दुनिया की नजर है। दुनिया का जीडीपी केंद्रित नजरिया, अब मानव केंद्रित दृष्टिकोण में बदल रहा है, जिसमें भारत उत्प्रेरक की भूमिका निभा रहा है।

परियोजनाएं किसानों को मजबूत करेंगी

पीएम मोदी ने यह भी कहा कि ये परियोजनाएं किसानों को मजबूत करेंगी और जिले में कनेक्टिविटी को बढ़ावा देंगी। उन्होंने यह भी कहा, आज गोविंद गुरुजी की पुण्य तिथि है और 31 अक्टूबर को सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती है, जिन्होंने आजादी की लड़ाई लड़ी और अंग्रेजों को कड़ी टक्कर दी। पीएम ने कहा, हमारी पीढ़ी ने दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा देखी। हमने सरदार पटेल के प्रति अपनी सर्वोच्च श्रद्धा व्यक्त की।

आने वाली पीढ़ियां सरदार पटेल की प्रतिमा को देखेंगी लेकिन झुकेंगी नहीं

आने वाली पीढ़ियां सरदार पटेल की प्रतिमा को देखेंगी लेकिन झुकेंगी नहीं, उनका सिर ऊंचा रहेगा। मोदी ने कहा, उत्तर गुजरात में पानी की समस्या अब अतीत बन गई है। सुजलाम सुफलाम योजना उत्तर गुजरात ने सफल बनाई। सिंचाई की नई टेक्नोलॉजी से किसान समृद्ध हुए हैं। मां नर्मदा का पानी घर-घर पहुंचा है। उत्तर गुजरात के आलू पूरी दुनिया मे प्रसिद्ध हैं। फ्रेंच फ्राई के लिए उत्तर गुजरात के आलू की डिमांड है। बनासकांठा मे मेगा फूड पार्क बनाने का काम चल रहा है। दुनिया से लोग यहां डेयरी का मॉडल देखने आते हैं।

उपनिवेशवाद के चलते पिछड़ा भारत

प्रधानमंत्री ने कहा, इतिहास में लंबे समय तक दुनिया की अग्रणी अर्थव्यवस्था में से एक रहा भारत उपनिवेशवाद के चलते पीछे चला गया था। उन्होंने कहा, अब भारत एक बार फिर आगे बढ़ रहा है। एक दशक से भी कम समय में भारत पांच पायदान की छलांग लगाकर 10वीं से पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। पीएम ने कहा कि मुद्रास्फीति एक प्रमुख मुद्दा है, जिसका दुनिया सामना कर रही है। यह माना गया कि केंद्रीय बैंकों की ओर से नीतिगत रुख का समय पर और स्पष्ट सूचना महत्वपूर्ण है। इससे यह सुनिश्चित हो सकता है कि मुद्रास्फीति से निपटने के लिए प्रत्येक देश की ओर से अपनाई गई नीतियों का अन्य देशों पर नकारात्मक प्रभाव न पड़े।

चंद्रयान-3 व जी-20 की सफलता पर दुनिया में तारीफ

पीएम मोदी ने मेहसाणा की रैली में चंद्रयान-3 और जी-20 की सफलता पर भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि दुनिया का कोई देश अब तक चंद्रमा के जिस इलाके में अपने यान नहीं उतार सका, वहां भारत सफलता के साथ पहुंचा। उन्होंने कहा कि दुनिया के लोगों और नेताओं ने भारत के विकास को देखकर अचरज जताया। प्रधानमंत्री ने कहा, हम निर्धारित तिथि से 9 वर्ष पूर्व ही अपने जलवायु लक्ष्यों को हासिल करने वाले संभवत: पहले जी20 देश हैं।

यह भी पढ़ें :

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE