Threatening to Put Nude Video on Social Media : न्यूड वीडियो को सोशल मीडिया पर डालने की धमकी देकर ठगी करने वाले गिरोह के और तीन आरोपी गिरफ्तार

0
172
Panipat News/Threatening to Put Nude Video on Social Media
Panipat News/Threatening to Put Nude Video on Social Media
Aaj Samaj (आज समाज),Threatening to Put Nude Video on Social Media,पानीपत : थाना साइबर क्राइम पुलिस ने न्यूड वीडियों को सोशल मीडिया पर डालने की धमकी देकर रिटायर्ड कानूनगो से साढ़े 22 लाख रूपए की ठगी करने वाले गिरोह के और तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया। आरोपियों की पहचान नरेंद्र उर्फ नंदू पुत्र मुनीश निवासी सिंगार, जुबैर पुत्र इकबाल निवासी बई नूह व प्रवीन उर्फ मोनू पुत्र मांगेराम निवासी डाहकिया रेवाड़ी के रूप में हुई।
  • रिटायर्ड कानूनगो से की थी साढ़े 22 लाख रूपए की ठगी

साढ़े 17 हजार रूपए व वारदात में प्रयुक्त एक सिम कार्ड बरामद

एएसपी मयंक मिश्रा ने बताया कि पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत के मार्गदर्शन में कार्रवाई करते हुए जिला की थाना साइबर क्राइम पुलिस टीम ने गत दिनों गिरोह का भंडाफोड करते हुए गिरोह के दो आरोपी मंजीत निवासी ठोठी व भूपेंद्र निवासी बलोदा झूंझनू राजस्थान को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में आरोपियों ने गिरोह के मास्टर माइंड राशिद निवासी सिरसबास नूह व अपने उक्त तीनों साथी आरोपियों के साथ मिलकर उक्त वारदात को अंजाम देने बारे स्वीकारा था। आरोपी मंजीत व भूपेंद्र के कब्जे से साढ़े 17 हजार रूपए व वारदात में प्रयुक्त एक सिम कार्ड बरामद कर रिमांड अवधी पूरी होने पर पुलिस टीम ने दोनों आरोपियों को न्यायालय में पेश कर न्यायिक हिरासत जेल भेजने के बाद गिरोह के अन्य आरोपियों की धरपकड़ के प्रयास शुरू कर दिए थे।

थाना साइबर क्राइम में रिटायर्ड कानूनगो की शिकायत पर मुकदमा दर्ज है

थाना साइबर क्राइम में पीड़ित ने शिकायत देकर बताया था कि वह कानूनगो के पद से रिटायर्ड है। 25 फरवरी को उसके वॉट्सअप नंबर पर एक अज्ञात नंबर से वीडियो कॉल आई। उसने कॉल रिसीव की तो सामने एक लड़की की न्यूड वीडियो चल रही थी। उसने तुरंत कॉल को कट कर दिया था। इसके दो दिन बाद एक अज्ञात नंबर से कॉल आई। कॉल करने वाला युवक अपने आप को सीबीआई का इंस्पेक्टर बताते हुए कहने लगा आपकी हमारे पास एक लड़की के साथ गलत फोटो है। लड़की आपके खिलाफ शिकायत कर रही है। हमने आप का सारा रिकार्ड जांच कर लिया है आप एक शरीफ आदमी हो। आपको यूट्यूब वालों का नंबर दे रहा हू कॉल कर अपनी वीडियों हटवा लो।

फोटो वीडियो हटाने की एवज में एक लाख एक हजार रुपए जमा करवाने को कहा

उसने उक्त मोबाइल नंबर पर कॉल किया तो यू ट्यूब कर्मी बनकर बात कर रहे युवक ने फोटो वीडियो हटाने की एवज में एक लाख एक हजार रुपए जमा करवाने को कहा। उसने भेजे गए अकाउंट नंबर में उक्त राशि ट्रांसफर करवा दी। आरोपी इसके बाद अन्य नंबर से फोन कर कहने लगे की अन्य साइट पर भी वीडियो फोटों अपलोड है हटवाने के लिए उससे और पैसों की डिमांड की। आरोपियों ने इस प्रकार न्यूड वीडियों सोशल मीडिया पर डालने की धमकी देकर 27 फरवरी से 1 मार्च के बीच उससे 22 लाख 54 हजार 48 रूपए अलग अलग खाता नंबर भेजकर डलवा लिए। पीड़ित की शिकायत पर थाना साइबर क्राइम में मुकदमा दर्ज कर पुलिस टीम आरोपियों की पहचान व धरपकड़ के प्रयास शुरू कर दिए थे।

गिरोह के सरगना फरार आरोपी राशिद को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा

एएसपी मयंक मिश्रा ने बताया कि थाना साइबर क्राइम पुलिस टीम ने उक्त वारदात में शामिल और तीन आरोपी नरेंद्र उर्फ नंदू पुत्र मुनीश निवासी सिंगार, जुबैर पुत्र इकबाल निवासी बई नूह व प्रवीन उर्फ मोनू पुत्र मांगेराम निवासी डाहकिया रेवाड़ी को शनिवार को गिरफ्तार किया। तीनों आरोपियों को दो दिन के पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ की तो खुलासा हुआ गिरोह में आरोपी जुबैर की खाते उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी थी। आरोपी जुबैर साथी आरोपी प्रवीन व नरेंद्र से खातों की पूरी किट जिसमें (एटीएम कार्ड, पेटीएम) इत्यादी लेकर साथी आरोपी राशिद को देता था। आरोपी जुबैर इसकी एवज में गिरोह के सरगना राशिद से मोटे पैसे लेता था। आरोपी राशिद न्यूड वीडियो को सोशल मीडिया पर डालने की धमकी देकर उक्त खातों में उगाही की गई रकम डलवाकर निकलवाने के साथ ही अन्य खातों में ट्रांसफर कर लेता था।
एएसपी मयंक मिश्रा ने बताया कि पुलिस टीम ने आरोपियों के दो खातों को फ्रीज भी करवा रखा है। जिसमें 84-84 हजार रुपए है। पुलिस टीम ने तीनों आरोपियों के कब्जे से 16300 रुपए बरामद कर आरोपियों की रिमांड अवधि पूरी होने पर मंगलवार को तीनों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हे न्यायिक हिरासत जेल भेजा गया। गिरोह के सरगना फरार आरोपी राशिद को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
SHARE